Open gym, high mast pole lights set up in Chandini Chowk parliamentary constituency


20 मिनट पैदल चलने से बीमारियां रहेंगी दूर : डॉ हर्ष वर्धन




Union Minister for Science and Technology, Earth Sciences, Environment, Forest and Climate Change Dr Harsh Vardhan today inaugurated several open gyms and semi high mast pole lights in his Chandini Chowk parliamentary constituency.



नई दिल्ली ( 29 दिसम्बर) : केंद्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और पर्यावरण, वन औरजलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने शनिवार29 दिसम्बर को अपने संसदीय क्षेत्र चांदनी चौकके कई इलाकों में सेमी हाइ मास्ट पोल लाइट और ओपन जिम का उद्धाटन किया।

New Delhi, 29 December 2018: Union Minister for Science and Technology, Earth Sciences, Environment, Forest and Climate Change Dr Harsh Vardhan today inaugurated several open gyms and semi high mast pole lights in his Chandini Chowk parliamentary constituency.

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने सबसे पहले गुलाबीबाग के डीडीए कॉम्प्लेक्स में ओपन जिम औरसेमी हाइ मास्ट पोल लाइट का उद्धाटन किया।उन्होंने कहा कि ओपन जिम मेरे मन का विषय है।दिल्ली के अंदर ओपन जिम की शुरूआत उन्होंनेकी और इसके बाद डीडीए ने इसे अलग अलगइलाकों में स्थापित किया है। वे अब तक अपनेचांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में 150 से ज्यादा ओपन जिम लगवा चुके हैं।

The Union Minister who is credited for coming out with open gym concept in the national capital first of all launched open gym and semi high mast pole light in Gulabi Bag area’s DDA complex. In Chandini Chowk parliamentary constituency, as many as 150 open gyms have been set up under the direction of Dr Harsh Vardhan.

उन्होंने कहा कि डॉक्टर होने के नाते मैं समझता हूंकि असली वेल्थ हेल्थ है। बीमारी लगती है तोलॉकर में रखी वेल्थ से भी ठीक नहीं होती है।महंगे होने के कारण आज सभी लोगों के लिएजिम जाना संभव नहीं है। ओपन जिम में लोगअपनी सुविधा के अनुसार लाभ ले सकते हैं।उन्होंने कहा कि आज विश्वभर में लगभग 45 फीसदी बीमारियों की जड़ में शारीरिक निष्क्रियताहै। 20 मिनट वॉक कर बीमारियों को दूर रखा जासकता है।

Speaking on the occasion, the Union Minister said as a doctor he feels health is wealth. He said since everyone can’t afford money for expensive gyms, he utilised fund from MPLAD to set up open gyms for the benefit of common people. He cited WHO report to say that 45 per cent diseases in human beings occur due to sedate life style that they lead. By walking for just 20 minutes, one can keep ailments at bay, he said.

उन्होंने कहा कि विभिन्न इलाकों में हाइ मास्ट पोललाइट लगाने का मकसद Dark Spot को खत्मकरना है और इससे कानून व्यवस्था को बनाएरखने में मदद मिलती है।

Talking about objective of installing high mast pole lights in several areas of the national capital, he said the such efforts help in maintaining law and order well.

इस मौके पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि ग्लोबलवार्मिग और जलवायु परिवर्तन को लेकर भारतकी भूमिका को लेकर आज विश्वभर में सहारा जारहा है। ग्रीन हाउस गैस उत्सर्जन के लक्ष्य कोभारत समय से पहले पूरा कर लेगा। 2022 तक175 गीगावाट क्लीन एनर्जी उत्पादन को लेकरभारत प्रतिबद्ध है और इस दिशा में तेजी से कामहो रहे हैं। प्रधानमंत्री ने वन वर्ल्ड, वन सन, वनग्रिड’ का नारा दिया है।

On this occasion, he raised growing international concern about climate change and global warming. He said India is praised world over for its move to fight climate change. According to him, the country would be able to control greenhouse gas emissions much before the set target. He said India is committed to generate 175 GW clean energy by 2022.

इस मौके पर उन्होंने लोगों से दैनिक जीवन में ग्रीनगुड डीड्स अपनाने और इसे आगे बढ़ाने कीअपील की । उन्होंने कहा कि 700 ऐसे ग्रीन गुडडीड्स है जो बगैर किसी मेहनत और खर्च केकिए जा सकते हैं। पर्यावरण को स्वच्छ बनाने केलिए उन्होंने ग्रीन गुड डीड्स, ग्रीन सोशलरेस्पॉसिबिलटी, ग्रीन गुड प्रैक्टिस और ग्रीन गुडविहैवियर के चार मंत्र दिए।

He also appealed to people to adopt green good deeds in their day, today life. He said there are 700 such green good deeds which can be practised without any labour and spending any money. To make environment clean and green, he asked to follow four mantras—Green Good Deeds, Green Social Responsibility, Green Good Practices and Green Good Behaviour