नई दिल्ली, 18-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कोविड19 संकट के बीच आज World Health Assembly (WHA ) की 73 वीं बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्मिलित हुए। यह बैठक पहली बार वर्चुअल हुई है।



डॉ हर्ष वर्धन ने संबोधन की शुरूआत करते हुए Covid 19 की वजह से पूरे विश्व में असामयिक रुप से अपनी जान गंवा देने वाले लोगों के प्रति संवेदना व्यक्त करी। उन्होंने इस घातक बीमारी के खिलाफ अग्रिम पंक्ति में लड़ रहे लोगों के प्रति विशेष आभार प्रकट किया।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत में माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में Covid 19 से लड़ाई हर फ्रंट पर लड़ी जा रही है। प्रधानमंत्री जी द्वारा वायरस को रोकने के लिए कोई कोर कसर नहीं छोड़ी जा रही है। डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि वे उन सभी डॉक्टर्स,नर्स ,वैज्ञानिक, sanitization स्टाफ जैसे कोरोनावारियर्स का सम्मान करते हैं जो Super Humans के रुप में काम करने वाले रियल हीरो हैं।

भारत Covid 19 की लड़ाई में समूचे विश्व और अपनी जनता के समक्ष सर्वश्रेष्ठ साबित हुआ है। Covid 19 से लड़ाई में भारत ने सभी आवश्यक कदम दूरदर्शिता से उठाए हैं, चाहे कोरोना के मरीजों की निगरानी हो या विदेशों में फंसे नागरिकों की निकासी हो, हमने स्वस्थ नेटवर्क को मजबूत करते हुए इस लड़ाई में जनता को भी भागीदार बनाया है।

कोरोना वायरस की लड़ाई में अब मानव जाति को एक साथ आना होगा। डॉ हर्ष वर्धन ने विश्व की सभी सरकारों और उद्योग जगत से आग्रह किया कि सभी लोग दीर्घकालिक लाभ को प्राथमिकता दें और साथ ही सभी का लाभ सुनिश्चित करें।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत द्विपक्षीय और क्षेत्रीय साझेदारी को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। हमारे प्रधानमंत्री जी के सक्षम नेतृत्व में भारत ने एकजुटता की अभिव्यक्ति के रूप में 123 देशों को आवश्यक दवाओं की आपूर्ति की है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पूरी दुनिया से इस महामारी को खत्म करने का रास्ता टीका ही है। इसके लिए वैश्विक सहयोग सर्वोपरि है। विश्व की सरकारें,उद्योग जगत और सभी का हित चाहने वाले मिलकर जोखिम ,अनुसंधान, विनिर्माण और वितरण में अपने-अपने संसाधनों का पूरा इस्तेमाल करें। जिसका सभी को समान लाभ मिलना चाहिए।