नई दिल्ली, 12-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कोविड19 से निपटने की तैयारियों को लेकर राज्यों के साथ चल रही बैठकों के क्रम में आज वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए उत्तराखंड,हिमाचल प्रदेश तथा केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर व लद्दाख के साथ बैठक करी। इसमें उत्तराखंड के मुख्यमंत्री श्री त्रिवेंद्र सिंह रावत जी, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री जयराम ठाकुर जी, जम्मू कश्मीर के उप-राज्यपाल श्री गिरीश चंद्र मुर्मू जी एवं लद्दाख के उप-राज्यपाल श्री आर के माथुर जी के अलावा वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोविड19 स्थिति पर चर्चा करी। इसके अलावा रेडजोन के सभी डीएम के साथ भी बातचीत करी। उत्तराखंड के 13 में से 7 ज़िले इस समय कोविड19 से प्रभावित हैं। हिमाचल के 12 ज़िलों में से 4 में एक भी केस नहीं है और यहां active case सिर्फ़ 18 हैं।



डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि ये गर्व का विषय है कि हम अब तक 76.42 लाख N95 मास्क सारे देश में भेज चुके हैं और इसी तरह से 40.18 लाख PPE किट्स भी राज्यों को भेजी जा चुकी हैं। देश में अब 880 डेडीकेटिड हॉस्पीटल हैं जिनमें 1,77,438 बेड्स की सुविधा उपलब्ध है।

उन्होंने बताया कि भारत का रिकवरी रेट हर दिन बेहतर हो रहा है। आज ये 31.70 प्रतिशत है। कोविड-19 के खिलाफ लड़ाई में हमारे यहां मृत्यु दर दुनिया में सबसे कम है। आज मृत्यु दर लगभग 3.2 प्रतिशत है, कई राज्यों में यह इससे भी कम है। वैश्विक मृत्यु दर लगभग 7 से 7.5 प्रतिशत है। हमारे यहां कोरोना के मरीजों की डबलिंग दर पिछले 3 दिनों में 12.2 है।

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने बताया कि कोविड-19 के अब तक 70756 मामले सामने आ चुके हैं और दुर्भाग्यपूर्ण 2293 लोगों की मौत हुई है। देश में इलाज के बाद 22455 लोग कोरोना वायरस से ठीक हो चुके हैं। आज वेंटिलेटर पर मात्र 0.41प्रतिशत और आईसीयू में 2.57प्रतिशत हैं जबकि कोरोना से पीड़ित केवल 1.82 प्रतिशत लोगों को ही ऑक्सीजन की जरूरत है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि टेस्टिंग क्षमता अब एक लाख सेंपल्स प्रतिदिन की हो गई है। मैंने कहा कि पूर्व में हमने यह लक्ष्य 31 मई तक के लिए निर्धारित किया था, लेकिन हमने समय से पूर्व ही अपनी क्षमता बढ़ा ली है।