12 जुलाई, 2019: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, केन्द्रीय रक्षामंत्री राजनाथ सिंह, आवासन और शहरी विकास, नागरिक उड्डयन व वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री हरदीप पुरी, वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर के अलावा कई मंत्रियों और सांसदों के साथ स्वच्छता अभियान में शामिल हुए । राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी की 150वीं जयन्ती वर्ष के अवसर पर संसद परिसर में स्थापित महात्मा गाँधी की प्रतिमा के समक्ष आयोजित इस अभियान में शामिल सभी मंत्रियों और सांसदों ने स्वच्छता का संकल्प लेते हुए देश के सभी नागरिकों को अपनी सहभागिता दिखाने की अपील की।



कार्यक्रम से पहले पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि पांच वर्ष पहले 2 अक्टूबर, 2014 को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने इस अभियान की शुरूआत की थी और आज यह कार्यक्रम एक जन आंदोलन बन गया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने स्वच्छ भारत मिशन की शुरूआत करते हुए कहा था कि “एक स्वच्छ भारत के द्वारा ही देश 2019 में महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उन्हें अपनी सर्वोत्तम श्रद्धांजलि दे सकता है ।

डॉ हर्ष वर्धन ने इस दौरान कहा कि स्वच्छ भारत अभियान को जनता का अपार समर्थन मिला है और बड़ी संख्या में नागरिकों ने साफ-सुथरा भारत बनाने का प्रण किया है। स्वच्छ भारत अभियान के आरंभ के बाद गलियों की सफाई के लिए लोगों ने खुद झाड़ू उठा लिया और अब कूड़े करकट की सफाई, स्वच्छता पर ध्यान केन्द्रित करना और अपने चारों ओर स्वास्थ्यवर्धक वातावरण बनाना जनता की प्रवृत्ति बन गई है। जनता स्वच्छता के संदेश को फैलाने में मदद दे रही है और इस काम में बढ़-चढ़ कर शामिल हो रहे हैं । स्वच्छ भारत अभियान का नतीजा ये रहा कि आज ग्रामीण क्षेत्रों में 9.59 करोड़ शौचालयों का निर्माण हो चुका है जबकि शहरी क्षेत्रों में 57.63 लाख शौचालयों का निर्माण हुआ। इस दौरान 30 राज्य व केंद्र शासित प्रदेशों के 618 जिलों समेत 5.61 लाख गांव खुले में शौच से मुक्त हो चुके हैं।