नई दिल्ली,5 मार्च 2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने # COVID19 रोग के प्रकोप और भारत सरकार द्वारा उठाए गए कदमों के बारे में आज राज्य सभा में मैंने एक वक्तव्य दिया। उन्होंने कहा कि 4 मार्च तक की अद्यतन जानकारी के अनुसार चीन के बाहर 78 देशों से कुल 12,857 मामलों की पुष्टि हुई है और कुल 220 मौतें हुई हैं। डॉ हर्ष वर्धन ने सदन को बताया कि भारत में कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या 29 हो गई है । इनमें 16 इटली के नागरिक हैं, जो बतौर टूरिस्ट भारत आए हैं। एक मरीज इटली के इन सैलानियों का ड्राइवर है, जो भारत का है। इसके अलावा एक मरीज दिल्ली का है, जिसके संपर्क में आने से आगरा में रहने वाले उसके 6 रिश्तेदार भी कोरोना से ग्रस्त हो गए। एक मरीज गुरुग्राम का है, जबकि एक मरीज तेलंगाना का है। इससे पहले केरल में 3 मामले पॉजिटिव आए थे, वे लोग अब ठीक होकर अपने-अपने घर जा चुके हैं।



डॉ हर्ष वर्धन ने सदस्यों को बताया कि माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी नियमित रूप से तैयारियों की निगरानी कर रहे हैं। इस पर उनकी अध्यक्षता में बने मंत्री समूह की अब तक चार बैठकें हो चुकी है। विभिन्न मंत्रालय भी कोरोना से बचाव के लिए मिलकर काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि वैश्विक स्तर पर बढ़ते प्रकोप से सरकार के सभी क्षेत्रों द्वारा ठोस प्रयास करने का आह्वान किया गया है।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि कल देश में आने वाले सभी अंतर्राष्ट्रीय यात्रियों के लिए यूनिवर्सल स्क्रीनिंग के निर्देश जारी कर दिए गए हैं। आठ केंद्रीय टीमों ने सीमा पार से गतिविधियों, ग्राम सभाओं के संचालन और समुदाय के लिए जोखिम की समीक्षा करने के लिए उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पश्चिम बंगाल, सिक्किम और बिहार राज्यों में सीमावर्ती गांवों का दौरा किया है।

डॉ हर्ष वर्धन ने सदस्यों को बताया कि 26 फरवरी 2020 को भारतीय वायु सेना ने वुहान से कुल 112 लोगों को निकाला जिसमें 76 भारतीयों सहित म्यांमार, बांग्लादेश, मालदीव, चीन, दक्षिण अफ्रीका, अमरीका और मेडागास्कर के नागरिक भी शामिल थे। इसके अलावा एअर इंडिया की उड़ान से जापान के योकोहोमा में डायमंड प्रिंसेज क्रूज पर फंसे 124 लोगों को भारत लाया गया है। इन सभी लोगों को दिल्ली के छावला और मानेसर केंद्रों पर Quarantine के लिए रखा गया है।

उन्होंने सदन को बताया कि COVID19 प्रभावित देशों से यात्रा इतिहास रखने वाले और ऐसे व्यक्तियों के संपर्क में रहने वाले लोगों और बुखार, खांसी या सांस फूलने के मामलों के लिए देश भर में नियमित निगरानी शुरू की गई है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत सरकार, कोरोना वायरस के वैश्विक हालात के परिप्रेक्ष्य में विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुख्यालय, क्षेत्रीय कार्यालय और भारत में नई दिल्ली स्थित कार्यालय के निरंतर संपर्क में है।

उन्होंने बताया कि बीमारियों के बढ़ते वैश्विक प्रसार के साथ, हम नई चुनौतियों का सामना कर रहे हैं। इसलिए पॉजिटिव मामलों की संपर्क ट्रेसिंग करना आवश्यक है, इसके लिए विभिन्न स्थानों पर उन संपर्कों का पता लगाकर उन लोगों के स्वास्थ्य की निगरानी की जा रही है।

डॉ हर्ष वर्धन ने सदन को भरोसा दिलाया कि तेहरान में फंसे भारतीयों को निकालने के लिए भारत सरकार ईरान के संपर्क में है। मैंने बताया कि #COVID19 प्रभावित देशों की यात्रा करने वाले लोगों की पूरे देश में नियमित निगरानी शुरू की गई है।

डॉ हर्ष वर्धन ने सदस्यों को बताया कि Integrated Disease Surveillance के माध्यम से 4 मार्च तक, कुल 28,529 व्यक्तियों को सामुदायिक निगरानी में लाया गया है। उन्होंने बताया कि पड़ोसी देशों से जुड़े राज्यों में निगरानी रखी जा रही है व लोगों को #COVID19 के प्रति जागरूक किया जा रहा है। उत्तर प्रदेश, बिहार, बंगाल, उत्तराखंड और सिक्किम के सीमावर्ती क्षेत्रों में इसके लिए ग्राम सभाओं की मदद ली जा रही है। इन स्थानों पर अब तक 11,20,529 लोगों की जांच हो चुकी है।