24 सितंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी (FSSAI) के EatRightIndia for Sustainable Living अभियान के तहत आज दिल्ली में प्रयास NGO में बच्चों के बीच पहुंच कर उन्हें single use plastics के खिलाफ जागरूक किया । कार्यक्रम में उन्होंने F&B सेक्टर को प्लास्टिक मुक्त करने पर जोर दिया। EatRightIndia for Sustainable Living अभियान के दौरान उन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन गुड डीड्स की चर्चा करते हुए कहा कि कुछ छोटे-बड़े कदम उठाकर इस दिशा में अहम योगदान दिया जा सकता है। हमें पर्यावरण संरक्षण के लिए ग्रीन गुड डीड्स अभियान को अपने जीवन में अपनाने के लिए अपनी आदतों में थोड़ा बहुत परिवर्तन करना होगा। ग्रीन गुड डीड्स को अपने जीवन में अपनाने के लिए ग्रीन गुड बिहेवियर बनाइए साथ ही लोगों को यह भी याद दिलाइए कि ये उनकी समाज और देश के प्रति जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि मैंने भी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के सामने एक शपथ ली थी कि मैं अपने जीवन से सिंगल यूज प्लास्टिक को हमेशा के लिए खत्म कर रहा हूं।



24 September 2019: Union Minister of Health and Family Welfare, Science and Technology and Earth Sciences, Dr. Harsh Vardhan reached out to meet children in Prayas NGO today in Delhi, under the EatRightIndia for Sustainable Living campaign launched by Food Safety and Standards Authority (FSSAI). The drive was to make people aware of hazards using single-use plastics. In the program, he emphasised upon making the F&B sector plastic-free. During the EatRightIndia for Sustainable Living campaign, he referred to the Green Good Deeds for environmental protection, saying that some small steps can be made to contribute significantly in this direction. We have to change our habits a little to adopt the Green Good Deeds campaign for environmental protection. Make green good behavior to adopt green good deeds in your life and also remind people that it is their responsibility towards society and country. He said that I too had taken an oath in front of the Prime Minister Shri Narendra Modi ji that I am eradicating single-use plastic from my life forever.



डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि हमने अपने मोबाइल एप में 700 कार्यों की जानकारी दी है जिन्हें अपनाकर पर्यावरण संरक्षण में अपना योगदान दिया जा सकता है। उन्होंने कहा कि हम जो प्लास्टिक का इस्तेमाल करते हैं और उसके बाद उसे फेंक देते हैं जो हमारे वातावरण को दूषित करने का काम करता है और वर्षों हमारे सिस्टम में पड़ा रहता है। उन्होंने कहा कि आज के कार्यक्रम का सबसे बड़ा संदेश बच्चों ने दिया है । 25 साल के मेरे सार्वजनिक जीवन का अनुभव है कि जो काम सरकारें नहीं कर सकती हैं वो काम बच्चे कर सकते हैं। पोलियों अभियान में भी बच्चों ने बड़ी भूमिका निभाई थी।

Dr. Harsh Vardhan said that we have given information about 700 works in our mobile app, which can be contributed to the conservation of the environment. He said that the plastic that we use and then throw away, contaminates our environment and remains in our system for years. He said that the biggest message of today's program is given by the children. My public life experience of 25 years is that the work that governments cannot do, children can do. Children also played a big role in the Polio campaign.

विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय कूड़े कचरे को वैल्थ में परिवर्तित करने के लिए काम कर रहा है। हमने चार साल की रिसर्च के बाद देहरादून में एक प्लांट को विकसित किया जिसमें 1000 किलो प्लास्टिक को हम 800 लीटर डीजल में परिवर्तित कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने दिल्ली के उपराज्यपाल से मिलकर इसी तरह के प्लांट दिल्ली के तीन नगर निगमों में लगाने पर चर्चा की है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण का आंदोलन एक सात्विक आंदोलन है जिसकी रक्षा करके अपने बच्चों का साफ पर्यावरण देना हमारी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी बहुत गहरी सोच के साथ काम करते हैं और वो 2022 तक भारत के लोगों को न्यू इंडिया बनाकर देना चाहते हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने 2017 में ही इस बात को कह दिया था कि हमें संकल्प लेना है कि 2022 तक नया भारत बनाकर देंगे।

The Ministry of Science and Technology is working out to convert waste into wealth. We developed a plant in Dehradun after four years of research in which we are converting 1000 kg of plastic into 800 liters of diesel. He said that we have discussed with the Lieutenant Governor of Delhi to set up a similar plant in three municipal corporations of Delhi. He said that this movement for the environment is a saatvik movement, it is our responsibility to protect it for the sake of giving a clean environment to our children. He said that Prime Minister Narendra Modi works with deep thinking and he wants to make a New India for the people of India by 2022. In 2017, Prime Minister Modi had said that we have to take a pledge that we will build a new India by 2022.

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि आज हमने ईट राईट इंडिया मूवमेंट शुरू किया है। यह मूवमेंट क्या खाना, कितना खाना चाहिए के साथ खाने से जुड़े अन्य सभी पहलुओं की जानकारी देता है। मैं कहना चाहता हूं कि कम खाओगे तो लंबा जिओगे ये हमारे ऋषि- मुनि भी कहा करते थे। स्वयंसेवी संस्था प्रयास की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि प्रयास काफी अच्छा काम कर रहा है वो उन बच्चों को यहां पर सारी सुविधाएं दे रहा है जिनका दुनिया में कोई नहीं है। साथ ही बच्चों को अलग-अलग तरह के प्रशिक्षण देकर तैयार किया जा रहा है ताकि वो अपने जीवन में आगे बढ़ सकें। उन्होंने कहा कि सरकार को छोड़कर जो समाज की बेहतरी के लिए काम करते हैं, मैं उसे काफी महत्वपूर्ण मानता हूं। सरकार सब कुछ कर सकती है लेकिन एक संस्था या व्यक्ति जब समाज में काम करते हैं तो वो समाज के अन्य लोगों को अच्छा करने की प्रेरणा देते हैं जो आगे चलकर एक समाजिक आंदोलन बन जाता है। यह काम कोई सरकार नहीं कर सकती है।

Dr. Harsh Vardhan said that today we have started the Eat Right India Movement. This movement gives information about all other aspects related to eating along with what to eat, how much should be eaten. I want to say that if you eat less then you will live longer, our sages also used to say this. Referring to the NGO Prayas, he said that the effort is doing very well. The NGO is providing with all the facilities here for the children who have no one as a family member in the world. Along with this, different types of training are being given to the children so that they can move forward in their life. He said that people other than the government, who work for the betterment of society, I consider them very important for society. The government can do everything but when an institution or an individual works in society, they inspire other people in society too, to do good, which later becomes a social movement. No government can do this work.