08 सितंबर 2019 : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य व परिवार कल्याण, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज राजधानी में 3 रामलीला कमेटियों लव-कुश रामलीला कमेटी, नवश्री धार्मिक लीला कमेटी और श्री धार्मिक रामलीला कमेटी का भूमि पूजन कर रामलीला आयोजन की तैयारियों का शुभारंभ किया । दिल्ली समेत देश भर में रामलीला की तैयारियां जोरों पर हैं । दिल्ली में आयोजित होने वाली रामलीलाओं का अपना एक विशिष्ट स्थान और इतिहास रहा है । हर साल यहां विभिन्न रामलीला कमेटियां अलग-अलग रामलीलाओं का मंचन कराती आ रही हैं और जनता व आयोजक इनमें बढ़-चढ़कर हिस्सा लेते हैं ।



इस अवसर पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि राम लीला से जुड़ाव हमारी संस्कृति का हिस्सा रहा है। उत्तम चरित्र, सुंदर आचरण व सत्य के मार्ग पर चलकर विजय पाने का नाम ही राम है । वर्षों से श्री राम के जीवन का चित्रण कर रामलीला कमेटियां समाज को हमारी भव्य संस्कृति व धार्मिक मान्यताओं का परिचय दे रहीं हैं । हिंदू धर्मग्रंथों में भूमि को समस्त जगत की जननी व पालक का दर्जा दिया गया है। किसी भी शुभ कार्य से पहले भूमि पूजन कर कार्य के सफल होने की कामना की जाती है। डॉ हर्ष वर्धन के साथ भाजपा के वरिष्ठ नेता श्री मुरली मनोहर जोशी जी श्री धार्मिक रामलीला कमेटी के भूमि पूजन समारोह में शामिल हुए।

दिल्ली की श्री धार्मिक रामलीला कमेटी 1923 से लगातार कार्यरत है । इस रामलीला की खासियत पारंपरिक कलाकारों द्वारा मंचन है । पुरानी दिल्ली की सबसे पुरानी इस रामलीला में महामहिम राष्ट्रपति जी और माननीय प्रधानमंत्री जी के पधारने की परंपरा रही है । वहीं लव-कुश रामलीला कमेटी दिल्ली की सबसे पुरानी रामलीला मंचन करवाने वाली संस्था है । इसे दिल्ली के लोगों की सबसे पसंदीदा संस्था होने का भी गौरव हासिल है । इसके पदाधिकारियों का चुनाव समाज के सबसे प्रतिष्ठित लोगों के बीच चुनाव के माध्यम से होता है । ये समिति दिल्ली के लाल किले पर हर वर्ष भव्य रामलीला का आयोजन करवाती है । 62 वर्ष पुरानी नवश्री धार्मिल लीला कमेटी लाल किला मैदान पर रामलीला का आयोजन करती है। संस्था इस बार बड़े पैमाने पर रामलीला के मंचन को दर्शकों तक पहुंचाने के लिए सूचना प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करेगी ।