04 सितंबर 2019 : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य व परिवार कल्याण, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज नई दिल्‍ली में दक्षिण पूर्व एशिया के लिए विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की क्षेत्रीय समिति की 72वीं बैठक (RC72) के तीसरे दिन की शुरूआत भूटान के प्रतिनिधिमंडल द्वारा आयोजित एरोबिक सत्र के साथ की । इस अवसर पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि हमें हमेशा अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने की जरूरत है और यह कोई प्रतीकात्मक गतिविधि नहीं है । हमें इसे अपने रोज के दैनिक जीवन में आत्मसात करना होगा और इसे दूसरों के बीच बढ़ावा देना होगा।



इस दौरान डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि RC72 का चौथा दिन नई दिल्ली के लोधी गार्डन में हरे-भरे वातावरण और ताजी हवा के बीच एक सक्रिय सैर के साथ शुरू हुआ। बतख तालाब में हमारा 5 मिनट का अभ्यास आज मेरे लिए एक सुखद अनुभव था।

शरीर को फिट रखने के लिए अन्य व्यायामों की तरह ही एरोबिक व्यायाम या एरोबिक एक्सरसाइज भी एक तरह का व्यायाम है। एरोबिक एक्सरसाइज कई तरह के एक्सरसाइजों का समूह है । लेकिन आमतौर पर वजन घटाने और शरीर को फिट रखने के लिए ज्यादातर लोग एरोबिक व्यायाम का सहारा लेते हैं। एरोबिक एक्सरसाइज का अभ्यास हमारे दैनिक जीवन से बहुत अधिक जुड़ा होता है। जैसे यदि हम नृत्य या तैराकी करते हैं या फिर सुबह शाम तेजी से टहलते हैं और तेजी से सीढ़ियां उतरते चढ़ते हैं तो इसका अर्थ यह है कि हम एरोबिक एक्सरसाइज कर रहे हैं । प्रतिदिन एरोबिक एक्सरसाइज का अभ्यास करने से अस्थमा के अटैक की गंभीरता और गति दोनों कम हो जाती है। यह एक ऐसी एक्सरसाइज है जिसे करने से फेफड़ों में पर्याप्त हवा पहुंचती है और विषाक्त पदार्थ बाहर निकलते हैं।