31 अक्टूबर 2019 - 2 अक्टूबर को पोलियो अभियान के 25 साल पूरे होने पर केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने पल्स पोलियो अभियान सिल्वर जुबली समारोह मनाया, चूंकि आज का दिन राष्ट्रीय एकता का प्रतीक है और लौह पुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल जी की जयंती का अवसर है। समारोह में केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने अपने उन पुराने साथियों को याद किया जिन्होंने देश को पोलियो मुक्त करने में उनका साथ दिया था।



पल्स पोलियो अभियान के सिल्वर जुबली समारोह को मनाते हुए डॉ हर्ष वर्धन ने पोलियो उन्मूलन में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के योगदान की चर्चा करते हुए बताया कि कर्णावती में संघ की बैठक में बिहार व यूपी में पोलियो की खतरनाक स्थिति पर उन्होंने विस्तार से अपनी बातें रखी थीं, जिसके बाद संघ कार्यकर्ता पोलियो उन्मूलन अभियान में जुट गए थे।

कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं समेत रोटरी, यूनिसेफ और WHO के अमूल्य योगदान की भी चर्चा की। केंद्रीय मंत्री ने कई ऐसे लोगों के योगदान को भी स्मरण किया और धन्यवाद दिया जिन्होंने पोलियो उन्मूलन अभियान में उनका तन-मन से भरपूर साथ दिया था।

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज अपने पिता को याद करते हुए भावुक हो गए, उन्होंने बताया कि मेरे पोलियो फ्री इंडिया मुहिम में उन्होंने बहुत साथ दिया था। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि मैं आज अपने पिता जी को बहुत मिस करता हूँ क्योंकि आप पोलियो फ्री इंडिया को नहीं देख पाए। आपको हमने 1999 में खो दिया।

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने सवाल उठाया कि देश के 90 प्रतिशत बच्‍चों का मुफ्त टीकाकरण किया जा रहा है, यह 100 प्रतिशत क्यों नहीं हो रहा ? और उन्होंने कहा हमें यह संकल्प लेना होगा कि एक भी बच्‍चा टीकाकरण से ना छूटे। इस दिशा में इंद्रधनुष अभियान के साथ हम आगे बढ़ रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन अपने पोलियो उन्मूलन के शुरुवाती दिनों को याद करते हुए बताते हैं कि जब उन्होंने 4 लोगों के साथ मिलकर पोलियो फ्री मुहिम की शुरूआत की तो कई लोगों ने उनका उपहास उड़ाया। लोगों को विश्वास नहीं था कि डॉ हर्ष वर्धन ऐसा कर पायेंगे। लेकिन उन्होंने दृढ़ निश्चय के साथ यह कार्य किया और पोलियो मुक्त भारत का सपना साकार करने में सफल रहे।

अभियान के दौरान प्लेग की बीमारी फैली तो कुछ लोगों ने कहा कि डॉ हर्ष वर्धन को पोलियो अभियान को कुछ दिनों के लिए स्थगित कर देना चाहिए लेकिन उन्होंने इंकार कर दिया। इसके बाद डॉ हर्ष वर्धन ने स्कूली बच्चों को मुहिम में शामिल किया, जिसके सकारात्मक परिणाम आए।

कार्यक्रम के दौरान केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने भारत रत्न स्वर्गीय श्री अटल बिहारी जी को याद करते हुए कहा कि मैं अपने प्रेरणास्रोत, पूर्व PM श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के योगदान को भला कैसे भुला सकता हूँ। केंद्रीय मंत्री ने बताया कि वाजपेयी जी हमेशा दिल से पोलियो उन्मूलन के प्रति प्रतिबद्ध थे। डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पोलियो उन्मूलन के सफर में उनका आशीर्वाद हमेशा मेरे साथ रहा।