29 अगस्त, 2019: प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार महिलाओं के स्वास्थ्य व सुरक्षा को लेकर बेहद गंभीर है। महिलाओं के स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उन्होंने देशभर में उज्ज्वला योजना लागू कर करीब 8 करोड़ महिलाओं को गैस कनेक्शन देने का काम किया जबकि इस दौरान 10 करोड़ से ज्यादा शौचालयों का निर्माण किया। उक्त विचार केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण, विज्ञान व प्रौद्योगिकी एवं पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज दिल्ली में The Federation of Obstetric & Gynaecological Societies of India ( FOGSI) द्वारा आयोजित 'Aarogya Mahila Women's Health and Empowerment Summit’ के उद्घाटन के अवसर पर व्यक्त किए। इस मौके पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे भी उपस्थित थे।



उद्धाटन के बाद डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि मेडिकल क्षेत्र में बेशक कई Professional Bodies हैं लेकिन मुझे यह कहने में कोई संकोच नहीं है कि FOGSIHQ के सदस्यों में देश व समाज के लिए काम करने का अनूठा जज्बा है जो कि प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, महिलाओं व बच्चियों के बेहतर स्वास्थ्य व सुरक्षा के लिए लगातार काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि सरकार देश में डॉक्टरों और मरीजों के अंतर को कम करने की दिशा में तेजी से काम कर रही है । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार अब तक 157 मेडिकल कॉलेज खोलने की मंजूरी दे चुकी है, जिससे देश में 15,700 MBBS की सीटें तैयार होंगी। उन्होंने कहा कि शिशुओं के जीवन सुरक्षा के लिए देश में 12 टीके मुफ्त में मौजूद हैं लेकिन जानकारी नहीं होने के कारण अभी भी 20-25 फीसदी माताएं अपने बच्चों में ये महत्वपूर्ण टीके नहीं दिलवा पाती हैं और इस दिशा में Gynecologist अहम भूमिका निभा सकती हैं।