05 सितंबर, 2019 : केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य व परिवार कल्याण, विज्ञान व प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज दिल्ली में Eat Right India का नया Logo, Online Eat Right Quiz, Eat Right Online Course व Eat Right India Store लॉन्च किया । इस अवसर पर विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन की क्षेत्रीय निदेशक, पूनम खेत्रपाल सिंह जी व FSSAI के CEO श्री पवन अग्रवाल जी भी उपस्थित थे ।



इस अवसर पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि मधुमेह, उच्‍च रक्‍तचाप और दिल के रोगों जैसे गैर-संचारी रोगों, विटामिनों और खनिजों की व्‍यापक क‍मी और अनियंत्रित खाद्यजनित बीमारियों के निवारण और बेहतर स्‍वास्‍थ्‍य के लिए देश को आज एक ‘जन आंदोलन’ की जरूरत है । ईट राइट इंडिया अभियान में मीडिया के साथ हमारी पार्टनरशिप है । मीडिया की भूमिका, महत्व, क्षमता और प्रतिबद्धता को इसमें लगाना है। उन्होंने कहा कि मीडिया को मुझसे ज्यादा और कौन जान सकता है क्योंकि जब हमने दिल्ली में पल्स पोलियो अभियान शुरू किया था तो देश के साथ साथ बाहर भी उसकी सफलता को चरम तक पहुंचाने में मीडिया ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। मैंने मीडिया से ईट इंडिया अभियान को भी अपना महत्वपूर्ण समर्थन देने की अपील की । हमारी कोशिश होगी की आने वाले समय में भी हम देश के लोगों से इस संबंध में बात करें और समाज को इसके साथ जोड़ते चले जाएं।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि ईट राइट इंडिया के अंतर्गत अपनाया गया पावन दृष्‍टिकोण उन खाद्य आदतों से संबंधित है जिससे उत्तम स्‍वास्‍थ्‍य को बढ़ावा मिलता है। उन्‍होंने कहा कि जब मैं देश का पर्यावरण मंत्री था तो हमने ग्रीन गुड डीड्स का अभियान शुरू किया था जिसको संयुक्त राष्ट्र और ब्रिक्स देशों में भी पहचान मिली और आज हम ईट राइट इंडिया को यहां पर औपचारिक तौर पर लांच कर रहे है । यह महीना हमारे लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि इसमें प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी योजना आयुष्मान भारत का भी एक साल पूरा होने जा रहा है। हम देश में 1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर खोलने जा रहे हैं जहां Non-Communicable Diseases के इलाज की संपूर्ण व्यवस्था होगी। उन्होंने कहा कि Eat safe, Eat Healthy और Eat Sustainable के लिए हमने समग्र दृष्टिकोण अपनाया है। जहां एक तरफ FSSAI लोगों के अनुकूल और लोगों को स्वस्थ्य और सुरक्षित भोजन उपलब्ध कराने की दिशा में भी काम कर रहा है वहीं दूसरी तरफ आन लाइन प्रशिक्षण देकर लोगों को सही और उचित खाने के संबंध में जागरूक किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि 'अल्प भुक्तम, बहु भुक्तम' अर्थात जो थोड़ा खाता है, वह लंबे समय तक खाता है अर्थात् लंबी आयु पाता है। Eat Right India अभियान के तहत मेरा मानना है कि हमें न सिर्फ अपने खाने में नमक-चीनी कम करना चाहिए बल्कि अपना भोजन भी थोड़ा कम कर देना चाहिए।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पिछले पांच सालों में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में देश जिस दिशा में जा रहा है अगर आप उसका विश्लेषण करेंगे तो कई ऐसे अभियान हैं जो भारत को हेल्थ फार आल की दिशा में ले जाने का काम कर रहे हैं। देश में कुपोषण को वैज्ञानिक तरीके से स्वास्थ्य कर्मियों की मदद और अन्य व्यवस्थाओं का इस्तेमाल करके फोकस किया जा रहा है। प्रधानमंत्री ने कुछ दिन पहले फिट इंडिया कैंपेन लांच किया है जो हमारे स्वास्थ्य को ठीक रखने के लिए महत्वपूर्ण कड़ी है। पांच साल पहले शुरू किया गया स्वच्छ भारत अभियान के तहत देखते ही देखते देश का सेनीटेशन कवरेज 30-40 प्रतिशत से सीधे 90 से 100 प्रतिशत के बीच पहुंच गया। देश में 10 करोड़ से ज्यादा टॉयलेट बन गए ।