नई दिल्ली, 20-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज गुट निरपेक्ष देशों के कॉन्टैक्ट ग्रुप के सदस्य देशों के स्वास्थ्य मंत्रियों के ऑनलाइन शिखर सम्मेलन को संबोधित किया । बैठक की अध्यक्षता अजरबैजान गणराज्य के स्वास्थ्य मंत्री श्री ओगते शिरालिएव ने की।



डॉ हर्ष वर्धन ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से हुई बैठक में अपना संबोधन कोविड19 काल के दौरान सम्मेलन के आयोजन के लिए अज़रबैजान गणराज्य के अध्यक्ष, स्वास्थ्य मंत्री को बधाई देकर शुरू किया।

उन्होंने कहा कि यह निस्संदेह पृथ्वी के इतिहास में एक अभूतपूर्व समय है। COVID-19 से तीन लाख से अधिक लोगों को असमय जान गंवानी पड़ी है, चार मिलियन से अधिक संक्रमित है और इस महामारी ने कई अरब लोगों की आजीविका छीन ली है। डॉ हर्ष वर्धन ने दुनिया भर के उन परिवारों के प्रति अपनी हार्दिक संवेदना व्यक्त करी जिन्होंने इस घातक बीमारी से अपने निकट और प्रियजनों को खो दिया है।

उन्होंने कहा कि कोविड19 ने एहसास दिलाया है कि हम पहले से कहीं अधिक एक-दूसरे से जुड़े हुए और एक-दूसरे पर निर्भर हैं। डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि इसने हमें यह एहसास कराया है कि जलवायु परिवर्तन और सार्वजनिक स्वास्थ्य आपात स्थिति जैसी मानव निर्मित चुनौतियों से केवल एक साथ मिलकर सामना किया जा सकता है, विभाजित होकर नहीं। इसके लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता है।

भारत दृढ़ राजनीतिक इच्छाशक्ति के साथ COVID से लड़ाई लड़ रहा है। हमारे प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी इस संकट से निपटने में दृढ़ संकल्प के साथ सभी को साथ लेकर जुटे हुए हैं। भारत ने वायरस का प्रसार रोकने के लिए हर संभव कदम उठाए हैं। इसके साथ-साथ यह भी सुनिश्चित किया कि COVID पर ध्यान केंद्रित करने का मतलब अन्य बीमारियों के रोगियों की उपेक्षा नहीं होना चाहिए।

हम कोविड19 संकट का जवाब देने के लिए NAM सदस्य देशों के बीच एकजुटता के लिए ईमानदारी से प्रतिबद्ध हैं। 4 मई को NAM संपर्क समूह के वीडियो सम्मेलन के दौरान, प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने न केवल NAM देशों के साथ, बल्कि पूरे विश्व के साथ हमारे देश की एकजुटता व्यक्त की, जैसा कि हम 'वसुधैव कुटुम्बकम' के सिद्धांत में विश्वास करते हैं - जिसका अर्थ है कि संपूर्ण दुनिया हमारा परिवार है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत रचनात्मक विचार-विमर्श, सहयोग और एकजुटता और बंधुत्व की भावना में सहयोग के लिए तत्पर है जो गुट निरपेक्ष देशों की विशेषता है।