04 अगस्त 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी व पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन की पहल के बाद डॉक्टरों ने National Medical Commission Bill ,2019 के खिलाफ अपनी हड़ताल वापस ले ली है । आज सुबह Resident Doctors Association, AIIMS व सफदरजंग के डॉक्टरों के प्रतिनिधिमंडल ने डॉ हर्ष वर्धन से मुलाकात की थी । इस मुलाकात के दौरान केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने बिल को लेकर हड़ताली डॉक्टरों में उपजी गलतफहमियों को दूर किया । केंद्रीय मंत्री से मुलाकात के बाद डॉक्टरों ने एक आम बैठक में हड़ताल खत्म करने का फैसला लिया गया । अब सोमवार से डॉक्टर अपनी ड्यूटी पर लौट आएंगे ।



डॉक्टरों द्वारा हड़ताल खत्म कर काम पर लौटने के फैसले का स्वागत करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि हड़ताल खत्म करने के लिए मैं सभी डॉक्टर साथियों को दिल की गहराइयों से धन्यवाद देता हूं। आपने देशहित मे हड़ताल वापस लेने का फैसला लिया जिसके लिए आप सभी बधाई के पात्र हैं।



उन्होंने कहा कि इस मौके पर मैं देशवासियों को एक बार फिर से आश्वस् त करता हूं कि National Medical Commission Bill, 2019 एक क्रांतिकारी कदम है और यह चिकित्सा शिक्षा के इतिहास में मील का पत्थर साबित होगा। इस बिल के कानून बनने से जहां चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक बदलाव आएंगे वहीं चिकित्सा शिक्षा विश्वस्तरीय और पारदर्शी होगी। साथ ही बिल के कानून बनने से UG और PG सीटों में बढ़ोतरी होगी और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा।

बिल में निजी मेडिकल कॉलेजों और डीम्ड यूनिवर्सिटीज की 50 प्रतिशत सीटों को रेगुलेट करने का अधिकार केंद्र सरकार के पास होगा जबकि अन्य 50 प्रतिशत सीटों की फीस को कैपिंग के साथ रेगुलेट करने का अधिकार राज्य सरकार को होगा। यह बिल चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में व्यापक सुधार होगा और इंस्पेक्टर राज खत्म होगा।