7 दिसंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज जोधपुर स्थित Desert Medicine Research Centre के एक कार्यक्रम में शामिल हुए, जोधपुर स्थित Desert Medicine Research Centre अब National Institute for Implementation Research on Non-Communicable Diseases के नाम से जाना जाएगा। आज एक समारोह में उन्होंने रिमोट का बटन दबाकर नाम परिवर्तन की औपचारिकता पूरी की। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि हमारी सरकार का फोकस देश में खुलने वाले 1.5 लाख हेल्थ एंड वेलनेंस सेंटर्स हैं। साथ ही समाज में फैलने वाली बीमारियों का पता लगाकर उनका उचित इलाज करना व लोगों को जागरूक करना हमारा लक्ष्य है। विज्ञान के क्षेत्र में काम करने वाला , वैज्ञानिक एवं औद्योगिक अनुसंधान परिषद (CSIR) का एक प्रतिष्ठित संस्थान है जिसका जन्म आजादी से पहले हुआ है और वह आज सरकारी फंड पर चलने वाले दुनिया के 1200 से ज्यादा संस्थानों की सूची में टॉप 15 में शामिल है।



केंद्रीय मंत्री ने कहा कि ICMR ने भारत सरकार को ई-सिगरेट को बैन करने की अनुसंशा की जिसके बाद इसके नुकसान को देखते हुए सरकार ने अध्यादेश लाकर इसपर रोक लगाई। ई-सिगरेट बनाने वाली कंपनियों को भारत में बड़ा बाजार नजर आ रहा है इसलिए वे मार्केटिंग के लुभावने तौर-तरीकों का इस्तेमाल कर रहीं हैं। मैंने बताया कि ई-सिगरेट में प्रयोग होने वाला निकोटिन शरीर के लिए बेहद खतरनाक है। कुछ समय पहले तक इसका इस्तेमाल कीटनाशक के रूप में होता था, लेकिन यह इतना विषाक्त है कि अब कीटनाशक के रुप में भी इसके प्रयोग पर रोक लगा दी गई है।