17 नवंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज अखिल भारतीय ‪अग्रवाल सम्मेलन द्वारा उनके संसदीय क्षेत्र चांदनी चौक के मॉडल टाउन में आयोजित नि:शुल्क नेत्र परीक्षण, बधिर रोगियों की जांच व श्रवण यंत्र वितरण शिविर का उद्घाटन किया। शिविर में मोतियाबिंद के निःशुल्क ऑपरेशन के लिए नेत्र रोगियों का रजिस्ट्रेशन भी किया गया। इस शिविर में भारी मात्रा में स्थानीय लोगों ने अपने आँखों व कानों की जाँच करवाई। शिविर में आये हुए लोगों को डॉ हर्ष वर्धन ने उनकी जरुरत के मुताबिक चश्मे और कान की मशीनें प्रदान की।



इस अवसर पर अपने संबोधन में डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पहली बार सांसद बनने के बाद मैंने इस प्रकार के कई कैंप अपने इलाके और उन बस्तियों में लगाने की श्रृंखला शुरू की थी। लोग जानकारी या इलाज के आभाव में बहुत सारी सुविधाओं से वंचित रह जाते हैं जो उनको आसानी से मिल सकती हैं और उनकी तकलीफें दूर हो सकती हैं। मेरे संसदीय क्षेत्र में यह 43वां कैंप है, जहाँ लोगों को चश्मे व सुनने की मशीन वितरित की गयी।

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि दिल्ली का स्वास्थ्य मंत्री रहते हुए उन्होंने 'मोतियाबिंद मुक्त दिल्ली' कार्यक्रम शुरू किया था। इस दौरान एक साथ ऐसे 600 स्थानों पर कैंप लगाए गए और उनमें बहुत बड़ी संख्या में लोगों की आँखों की जाँच और मोतियाबिंद के ऑपरेशन किये गए थे। इसी दौरान उन्होंने 'श्रवण शक्ति अभियान' भी चलाया था जिसमें कई कैंप लगाकर बड़ी संख्या में लोगों के कानों की जाँच कर उन्हें सुनने की मशीनें निःशुल्क वितरित की गयी थी। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में स्थानीय लोगों के अलावा भाजपा कार्यकर्ता और प्रदेश के नेता मौजूद थे।

शिविर में 546 लोगों की ओपीडी जांच की गई जबकि 458 मरीजों को दवा दी गई। इस दौरान 312 लोगों को चश्मे और 28 लोगों को कान की मशीनें वितरित की गई। इस दौरान 8 मरीजों का चयन आपरेशन के लिए किया गया।