29 सितंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज दिल्ली के मॉडल टाउन-2 स्थित प्रतिष्ठित नैनी झील के पुनरोद्धार और सौंदर्यीकरण के कार्य का उद्घाटन किया। सौंदर्यीकरण के बाद यह झील दिल्ली के पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ पर्यावरण सुधार में भी अहम भूमिका निभाएगी । इस दौरान स्वच्छता अभियान में बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने के लिए लोगों का धन्यवाद करते हुए डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि विज्ञान की नई तकनीक से इस झील के पानी को शुद्ध किया जा रहा है । नैनी झील का पुनरोद्धार और सौंदर्यीकरण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के Swachh Bharat Abhiyaan से प्रेरित है । उन्होंने कहा कि हमने बापू की 150वीं जयंती के मौके पर इस झील के पुनरोद्धार व सौंदर्यीकरण की योजना बनाई जो आगे चलकर स्वच्छता के प्रति लोगों को प्रेरित करेगी।



उन्होंने कहा कि पर्यावरण, स्वच्छता और जनजागरण की दृष्टि से जिस प्रकार का जन आंदोलन हमारे प्रधानमंत्री जी विकसित करना चाहते हैं, उसे समाज के लोगों और संस्थाओं का भरपूर सहयोग मिल रहा है । उनके स्वच्छ भारत अभियान का गुणगान दुनिया कर रही है। प्लास्टिक और स्वच्छता का आपस में बहुत घनिष्ट नाता है। अगर देश को स्वच्छ रखना है तो सबसे पहले हमें इस देश को प्लास्टिक मुक्त करना होगा । प्लास्टिक पर्यावरण और समाज के लिए बेहद खतरनाक है जो 800 साल तक नष्ट तक नहीं होता है। यह सदियों तक प्रकृति, मानव जाति और पशुओं को नुकसान पहुंचाता है।

नैनी झील के पुनरोद्धार और सौंदर्यीकरण के कार्य का उद्घाटन करने के बाद डॉ हर्ष वर्धन, प्रधानमंत्री के मन की बात सुनने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे। इस दौरान लोगों के बीच अपनी बात रखते हुए उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में सरकार द्वारा ई सिगरेट पर प्रतिबंध लगाना एक ऐतिहासिक फैसला है। इससे देश फिट इंडिया और स्वच्छ भारत अभियान के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कई कदम आगे बढ़ेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री जी प्लास्टिक बैन पर प्लॉगिंग की बात करते हुए है । अर्थात जब हम जॉगिंग और साफ -सफाई एक साथ करते हैं तो उसे प्लॉगिंग का नाम दिया गया है । इससे जहां एक तरफ हम फिट रहेंगे वहीं दूसरी तरफ हमारे आस पास की साफ सफाई भी हो जाएगी। फैला हुआ प्लास्टिक एकत्र होने से पर्यावरण को होने वाने नुकसान से भी बचाया जा सकता है।