17 जुलाई, 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज डेंगू, चिकनगुनिया और मलेरिया जैसी मच्छर जनित बीमारियों के प्रति लोगों को जागरूक करने और इनसे बचाव के तरीके बताने के लिए दिल्ली में तीन दिवसीय जागरूकता अभियान का शुभारंभ किया । इस अभियान में दिल्ली के जनप्रतिनिधियों के साथ ही स्थानीय निकायों और दिल्ली सरकार के अधिकारी भी शामिल हुए । इस दौरान उन्होंने वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण का भी संदेश दिया ।



कार्यक्रम की शुरुआत डीडीए एसएफएस फ्लैट्स , हौज़ खास से की गई, जहां केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि इस अभियान का लक्ष्य राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली में मच्‍छरों के प्रजनन की रोकथाम के लिए जनता को भागीदार बनाना है। उन्होंने कहा कि बीमारियों पर लगाम लगाने के लिए केंद्र, राज्य सरकार और स्थानीय निकायों के साथ मिलकर काम करेगा। इस काम के लिए 286 टीमें बनाई गईं हैं। हर टीम में 20 से 25 सदस्य हैं। डॉ हर्ष वर्धन आज हौज़ खास, गौतम नगर और गुलमोहर पार्क क्षेत्र में जागरूकता अभियान में शामिल हुए। यह अभियान 17 से 19 जुलाई तक चलेगा।

डॉ हर्ष वर्धन ने लोगों से अपील की, कि वे डेंगू, मलेरिया व चिकनगुनिया फैलाने वाले मच्छरों की ब्रीडिंग न होने दें। उन्होंने कहा कि अगर हम अपने घरों व आसपास की सफाई की जिम्मेदारी स्वेच्छा से लें, तो यह अभियान एक जन आंदोलन के रुप में परिवर्तित हो जाएगा जिससे इन बीमारियों को फैलने से प्रभावी तरीके से रोका जा सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने स्वयं कुछ क्षेत्रों में जाकर इस बात की जांच की, कि वहां एडीज मच्छर के लार्वा तो नहीं पनप रहे हैं । इस क्रम में डॉ हर्ष वर्धन स्वयं एक मकान की छत पर भी जा पहुंचे और उन्होंने पानी की टंकी की जांच की । इसके बाद डॉ. हर्ष वर्धन ने एसडीएमसी स्कूल, नीतिबाग पहुंच कर बच्चों को मच्छर जनित इन बीमारियां के प्रति जागरुक किया और कहा कि मच्छर जनित बीमारियों की रोकथाम की दिशा में बच्चे एक अहम भूमिका निभा सकते हैं । उन्होंने बच्चों से आह्वान किया कि वे अपने घरों मे अपने माता-पिता और अन्य लोगों को इस बात के लिए जागरुक करें कि वे अपने घरों में या उसके आसपास साफ-सफाई रखें और मच्छरों को न पनपने दें । इस मौके पर उन्होंने स्कूली बच्चों द्वारा लगाई गई एक प्रदर्शनी का भी अवलोकन कर उनका उत्साहवर्धन किया ।