2 फरवरी,2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण,विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन आज पूर्वी दिल्ली के कृष्ण नगर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार डॉ अनिल गोयल की चुनाव सभा में पहुंचे । कृष्ण नगर के लाला लाजपत राय चौक पर आयोजित जनसभा में शाहदरा क्षेत्र के जिला पदाधिकारी और बड़ी संख्या में कार्यकर्ता और स्थानीय जनता मौजूद थी। जैसा कि आप सभी जानते हैं डॉ हर्ष वर्धन के राजनीतिक जीवन का श्रीगणेश इसी विधानसभा क्षेत्र से हुआ था और तब से लेकर 2014 तक उन्होंने दिल्ली विधानसभा में इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया लेकिन 2014 में पार्टी का आदेश हुआ कि उन्हें चांदनी चौक से लोकसभा का चुनाव लड़ना है इसलिए उन्हें ये सीट छोड़ कर जाना पड़ा । हालाँकि चांदनी चौक की जनता भी उन्हें दो बार चुनकर संसद भेज चुकी है।



डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि सबसे पहला चुनाव मैंने सिर्फ कार्यकर्ताओं की मेहनत और लगन से ही जीत लिया क्यूंकि पार्टी ने प्रचार के लिए उन्हें दिल्ली में ही किसी और इलाके का दायित्व सौंप दिया था । उन्होंने उस जीत के लिए कार्यकर्ताओं और इस क्षेत्र की जनता का आभार व्यक्त किया और इस बार इस सीट से भाजपा प्रत्याशी डॉ अनिल गोयल को अपना अमूल्य़ वोट देने की अपील की।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि दिल्ली की जनता ने अन्ना जी के आंदोलन से निकले एक ऐसे व्यक्ति पर विश्वास कर लिया जिसने सत्ता का स्वाद चखते ही अपना रंग बदलना शुरू कर दिया। वर्ष 2015 में सरकार बनने से पहले आम आदमी पार्टी की सरकार ने 70 वायदे किये थे लेकिन उनमें से शायद ही कोई पूरा हुआ हो और अब तो इन लोगों ने अपनी वेबसाइट से भी उन वायदों की सूची हटा दी है कि कोई उसे देख न ले ।

मंत्री जी ने कहा कि ये लोग जिनको सबसे भ्रस्ट बताते थे बाद में इन्होंने उसी कांग्रेस के साथ मिलकर सरकार बनाई। कांग्रेस के नेताओं के खिलाफ इनके पास ट्रक भर के सबूत हुआ करते थे लेकिन पिछले लोकसभा चुनाव में उन्हीं लोगों के साथ मिलकर गठबन्धन करने के लिए उनके सामने गिड़गिड़ाए । हालात ये हो गए कि 2015 में जिस जनता ने 70 में से 67 सीटों पर जिस आम आदमी पार्टी को सर आँखों पर बिठाया था उसकी हरकतों और कारगुजारियों को देखते हुए उसी जनता ने 2019 के लोकसभा चुनाव में केजरीवाल के सभी उम्मीदवारों की जमानतें तक जब्त करा दीं । इससे पहले 2017 में दिल्ली की जनता उन्हें नगर निगम में भी सबक सिखा चुकी है ।

अब वस्तु स्थिति आपके सामने है कि केजरीवाल सरकार की चाल, चरित्र और चेहरा सभी बदरंग हैं, ये लोग झूठे हैं और लोगों को फ्री का लालच देकर उन्हें दिग्भ्रमित कर रहे हैं। दिल्ली की जनता के जमीर की परीक्षा ली जा रही है लेकिन मैं भली भांति जनता हूँ और दिल्लीवासियों की भावनाओं को बेहतर समझ सकता हूँ कि वे कसौटी पर खरे उतरेगें और स्वविवेक के आधार पर निर्णय लेकर इस बार विधानसभा में भी भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनायेंगे क्यूंकि ये चुनाव देशहित और राष्ट्रविरोध के बीच है।