12 सितंबर 2019: भारतीय जनता पार्टी ने आज से कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के खिलाफ पोल खोल अभियान शुरू कर दिया है । इस कड़ी में आज केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी, सांसद हंसराज हंस, रमेश विधूड़ी, विजय गोयल, गौतम गंभीर और प्रवेश वर्मा के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस कर अनधिकृत कॉलोनियों के मुद्दे पर दोनों पार्टियों के धोखे का पर्दाफाश किया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी ने अनधिकृत कॉलोनियों में रहने वाले गरीब लोगों के साथ विश्वासघात किया है। इन दोनों पार्टीयों ने चुनाव से पहले कॉलोनियों को नियमित करने के वायदे का सिर्फ लॉलीपॉप दिल्ली की जनता को दिखाया लेकिन वादा कभी पूरा नहीं किया।



12 September 2019: The Bharatiya Janata Party has started an Exposing campaign against the Congress and the Aam Aadmi Party from today. In the series, Union Health and Family Welfare, Science & Technology and Earth Sciences Minister Dr. Harsh Vardhan held a press conference with Delhi BJP President Manoj Tiwari, MP Hansraj Hans, Ramesh Vidhudi, Vijay Goel, Gautam Gambhir and Pravesh Verma and exposed the deception of both the parties on the issue of the unauthorized colonies.. In the press conference, he said that the Congress and the Aam Aadmi Party have betrayed the poor people living in unauthorized colonies. Both these parties only showed the Lollipop to the people of Delhi with the promise of regularizing the colonies before the elections but never fulfilled the promise.



उन्होंने कहा कि 2014 में केन्द्र में हमारी सरकार आने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट ने उन दिशा निर्देशों में संशोधन को मंजूरी दी थी, जिससे जून 1, 2014 तक बनी दिल्ली की सभी अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करने की बात कही गई थी । इसके तहत कॉलोनियों को नियमित करने की कटऑफ तारीख बढ़ाकर एक जून 2014 तक की गई थी । मीडिया के सामने अरविंद केजरीवाल की पोल खोलते हुए उन्होंने कहा कि दिल्ली में अनधिकृत कॉलोनियों की सीमाओं का रेखांकन, भूमि का टाइटल देने के लिए समिति का गठन और नियमित करने का शुल्क तय करने जैसे बिन्दुओं पर पांच साल बीत जाने के बाद भी केजरीवाल सरकार ने एक भी कदम नहीं उठाया है।

He said that after our government came to power at the Center in 2014, the Cabinet under the chairmanship of Prime Minister Narendra Modi had approved the amendment of those guidelines, so that all the unauthorized colonies of Delhi, which were formed till June 1, 2014, would be regularized. Under this, the cutoff date for regularization of colonies was extended till June 1, 2014. Exposing the Arvind Kejriwal government in front of the media, he said that even after five years on the points like delineation of boundaries of unauthorized colonies in Delhi, formation of a committee to give land title and fixing regularization fee, Kejriwal government Haven't taken a single step.

डॉ हर्ष वर्धन कहा कि केंद्र सरकार के बार-बार अनुरोध के बावजूद केजरीवाल सरकार ने अनधिकृत कॉलोनियों की सीमाओं को अंतिम रूप नहीं दिया। दिल्ली सरकार सीमाओं के रेखांकन के लिए बार-बार सीमा अवधि बढ़ाने का अनुरोध करती रही। इस दौरान केंद्र सरकार ने दो पत्र भेजकर दिल्ली सरकार से कुछ सूचना देने का भी अनुरोध किया, लेकिन जवाब नहीं मिला । प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने कहा कि केजरीवाल सरकार अनधिकृत कॉलोनियों के मुद्दे पर दिल्ली की भोली-भाली जनता को गुमराह कर रही है। केंद्र के फैसलों को लपकने और उसका श्रेय खुद लेने की राजनीति में अरविंद केजरीवाल का कोई जवाब नहीं हैं ।

Dr. Harsh Vardhan said that the Kejriwal government did not finalize the boundaries of unauthorized colonies despite repeated requests from the central government. The Government of Delhi has been repeatedly requested to extend the period for drawing the boundaries. During this, the Central Government sent two letters and requested the Delhi Government to give some information, but the reply was not received. In the press conference, he said that the Kejriwal government is misleading the innocent people of Delhi on the issue of unauthorized colonies. Arvind Kejriwal is stupendous in the politics of encashing the decisions of the Center and taking the credit for them himself.

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल का पूरी तरह पर्दाफाश हो गया है क्योंकि उनके प्रशासन के सिद्धांत ढकोसलों और व्यापक भ्रष्टाचार पर आधारित हैं। पिछले पांच वर्षों में आम आदमी पार्टी की सरकार की निष्क्रियता के कारण लाखों लोगों को अनधिकृत कॉलोनियों में पानी, बिजली और साफ सफाई जैसी सुविधाओं के बिना नरकीय स्थिति में मजबूरन जीवन व्यतीत करना पड़ा है। आप सरकार की निष्क्रियता को उजागर करते हुए उन्होंने कहा कि 2015 के आम आदमी पार्टी के चुनाव घोषणापत्र में कहा गया था कि हम चरणबद्ध और नियोजित तरीके से अनधिकृत कॉलोनियों में पानी और सीवर लाइन, बिजली, स्कूल, और अस्पताल की सुविधाएं प्रदान करेंगे। आम आदमी पार्टी सरकार ने कहा था कि सरकार बनने के बाद एक वर्ष के भीतर अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित किया जाएगा और लोगों को मालिकाना हक देने की बात कही गई थी लेकिन पांच साल बीत जाने के बाद भी केजरीवाल सरकार ने अपने एक भी वादे पर काम नहीं किया।

Dr. Harsh Vardhan said that Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal has been completely exposed because his principles of administration are based on fraud and widespread corruption. In the last five years, due to the inaction of the government of the Aam Aadmi Party, millions of people have been forced to live in the malevolent condition in unauthorized colonies without basic amenities like water, electricity, and cleanliness. Highlighting the inaction of the AAP government, he said that the Aam Aadmi Party election manifesto of 2015 said that we will provide water and sewer lines, electricity, schools, and hospital facilities in unauthorized colonies in a phased and planned manner. The Aam Aadmi Party government had said that unauthorized colonies would be regularized within one year of the formation of their government and that people would be given the ownership right, but even after five years, the Kejriwal government did not act on a single promise.

मीडिया से बात करते हुए डॉ हर्ष वर्धन कहा कि ये सिर्फ अनधिकृत कॉलोनियों का मुद्दा नहीं है । भारतीय जनता पार्टी द्वारा रोज किसी न किसी विषय पर केजरीवाल सरकार की पोल खोली जाएगी । लोकसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को दिल्ली की जनता सबक सिखा चुकी है और अब विधानसभा चुनावों से पहले भी दिल्ली की जनता इनकी तिकड़मबाजी समझ रही है । दिल्ली की जनता असत्य, भ्रष्टाचार और धोखे की नींव पर टिकी केजरीवाल सरकार को सबक सिखाएगी ।

Talking to the media, Dr. Harsh Vardhan said that it is not just the issue of unauthorized colonies. The Bharatiya Janata Party will expose the Kejriwal government on the daily basis. The people of Delhi have taught the Aam Aadmi Party a lesson in the Lok Sabha elections recently, and now even before the assembly elections, the people of Delhi are well aware of their manipulation. The people of Delhi will teach a lesson to the Kejriwal government based on the foundation of untruth, corruption and deception.