15 जुलाई, 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज कारगिल विजय की 20वीं वर्षगांठ पर देश के वीर सपूतों को नमन् करते हुए नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर रेल राज्यमंत्री सुरेश अंगड़ी के साथ विनाइल आवृत रेल को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस अवसर पर नई दिल्ली की सांसद मीनाक्षी लेखी भी उपस्थित थीं। देशभर में इस तरह की दस रेलगाडियां चलाई जा रही हैं। इन रेलगाड़ियों में कारगिल युद्व के दौरान भारतीय शूरवीरों के शौर्य साहस व कुशल युद्ध रणनीति की अमर गाथा को तस्वीरों के माध्यम से दर्शाया गया है। शहीदों को श्रद्धांजलि देने और सेना के पराक्रम को याद करने के लिए प्रत्येक वर्ष 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है।



विनाइल आवृत रेल के शुभारंभ पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि प्रतिकूल परिस्थितियों में भारतीय सेना के वीर जवानों ने दुश्मनों को खदेड़कर कारगिल की चोटियों पर तिरंगा फहराया था। इस दौरान भारत माता की रक्षा करते हुए देश के लिए सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीदों को मैं श्रद्धांजलि देता हूं। कारगिल के युद्व को जब हम याद करते हैं तो देश के सैनिको के सामने हमारा सिर गर्व से ऊंचा हो जाता है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जब हमारा पड़ोसी देश नापाक हरकतों से बाज नहीं आता और भारत के खिलाफ आतंकवादी घटनाओं को अंजाम देता रहता है, हम अगर शांति और खुशी से रह रहे हैं तो इसके पीछे देश के जांबाज सैनिक हैं जो दिन रात सीमा पर तैनात रहकर देश की रक्षा करते हैं।

केन्द्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि विजय दिवस के इस मौके पर रेलवे के इस अभियान के लिए मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं। रेलवे के इस अभियान के कारण देश की युवा पीढ़ी को देश के सैनिकों के उन जज्बे से रूबरू कराया जाएगा जो देश के इतिहास में दर्ज है। उन्होंने कहा कि रेल भारत की लाइफलाइन है और पिछले पांच वर्षों में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में रेलमंत्री और रेलवे के अधिकारियों ने नए- नए विचारों पर काम करते हुए रेल सुधार में जो असाधारण काम किया है वो प्रशंसनीय है।