25 जनवरी,2020: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन आज दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू स्टेडियम में आयोजित साइबर योद्धाओं की 'जीत की गूंज' वॉलंटियर मीट में केंद्रीय गृह मंत्री श्री अमित शाह जी के साथ सम्मिलित हुए। इसमें दिल्ली के सभी सांसद और दिल्ली भाजपा अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी जी के अलावा भाजपा के साइबर सेल के प्रमुख श्री अमित मालवीय जी और आईटी सेल दिल्ली इकाई के प्रमुख श्री पुनीत अग्रवाल जी भी उपस्थित थे। गृह मंत्री श्री अमित शाह जी ने वालंटियर मीट कार्यक्रम की शुरुआत दीप प्रज्जवलित करके करी। उन्होंने वालंटियर मीट में हज़ारों की संख्या में आए वालंटियर्स से आग्रह किया कि मुट्ठी भींचकर दिल्ली को सुरक्षित करने के संकल्प के साथ इतनी बुलन्द आवाज में 'भारत माता की जय' बोलिए कि शाहीन बाग के आकाओं तक इसकी गूंज पहुंचे।



केंद्रीय गृह मंत्री श्री शाह जी ने भाजपा कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया। उन्होंने कहा दिल्ली के लिए समर्पित भाव से काम करने का आपका ये जज्बा देखकर मुझे यकीन है कि दिल्ली में भाजपा की सरकार बनने जा रही है। जब आप भाजपा का समर्थन करते हैं तो आप देश को सुरक्षित करने के मोदी जी के वायदे का समर्थन करते हैं,5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था तक पहुंचने के मोदी जी के लक्ष्य का समर्थन करते हैं,हर घर में बिजली-पानी-गैस पहुंचाने का समर्थन करते हैं।

श्रीअमित शाह ने कहा कि भ्रांति फैलाने वाले सुन लें कि केजरीवाल के लिए कुछ मीडिया, एनजीओ और जेएनयू वाले ऐसा वातावरण बना रहे हैं जैसे उन्हें कोई हरा नहीं सकता। वे 2015 में भ्रांति फैलाकर एक बार चुनाव जीत गए। उसके बाद वाराणसी से लेकर 2019 के लोकसभा चुनाव तक बुरी तरह हारे। श्री शाह ने कहा कि केजरीवाल ने वायदा किया था कि घरों में आर RO से बढ़िया पानी पाइप लाइन से देंगे। पाइप लाइन तो दूर की बात पानी ऐसा दिया जो देश में सबसे गंदा था। आम आदमी पार्टी को इसका जवाब देना चाहिए।

श्री अमित शाह जी ने कहा कि दिल्ली की जनता जागरूक है विकास चाहती है लेकिन केजरीवाल सरकार की जिद के कारण ही आज दिल्ली के लाखों गरीब लोग 5 लाख रूपये तक की सुविधा वाली केंद्र सरकार की आयुष्मान योजना का लाभ लेने से वंचित हैं ,लेकिन मेरा वायदा है कि दिल्ली की जनता आने वाली 8 फरवरी को कमल निशान पर मुहर लगाएगी, भाजपा की सरकार बनेगी और आयुष्मान योजना दिल्ली में भी लागू होकर रहेगी।