Dr Harsh Vardhan hands over Sant Ishwar Award to individuals for exemplary works for society


‘संत ईश्वर सम्मान 2018’ समारोह में निस्वार्थ सेवाभावी और असाधारण प्रतिभाओं को डॉ हर्ष वर्धन ने किया पुरस्कृत


नई दिल्ली के एन.डी.एम.सी. कन्वेंशन सेंटर, संसद मार्ग में ‘संत ईश्वर फाउन्डेशन’ और ‘राष्ट्रीय सेवा भारती’ द्वारा संयुक्त रूप से ‘संत ईश्वर सम्मान 2018’ समारोह का आयोजन किया गया जिसमें केन्द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए|



रविवार (25 नवम्बर) नई दिल्ली के एन.डी.एम.सी. कन्वेंशन सेंटर, संसद मार्ग में ‘संत ईश्वर फाउन्डेशन’ और ‘राष्ट्रीय सेवा भारती’ द्वारा संयुक्त रूप से ‘संत ईश्वर सम्मान 2018’ समारोह का आयोजन किया गया जिसमें केन्द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान, पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन मुख्य अतिथि के तौर पर शामिल हुए|

New Delhi, 25 November 2018: Union Minister for Science and Technology, Earth Sciences, Forest, Environment and Climate Change, Dr Harsh Vardhan today attended as chief guest at Sant Iswhar Award 2018 function which was organized jointly by Sant Ishwar Foundation and Rashtriya Sewa Bharati.

इस सम्मान समारोह में अपने उत्कृष्ट समाज सेवा कार्यों के लिए व्यक्तियों और सामाजिक संस्थाओं को केन्द्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन के हाथों पुरस्कार दिया गया।

On this occasion, the Union Minister handed over awards to individuals and social organizations for their contributions in the society.

पुरस्कार के रूप में प्रति वर्ष चार व्यक्तियों और स्वयंसेवी संस्थाओं को ‘संत ईश्वर विशिष्ट सेवा सम्मान’ (प्रत्येक को 5 लाख रू की राशि) और अन्य बारह व्यक्तियों या संस्थाओं को ‘संत ईश्वर सेवा सम्मान’ (प्रत्येक को 1 लाख रू की राशि) कुल राशि 32 लाख रू दिये जाते हैं।

This prestigiuous award is given every year to noted individuals and NGOs working for the development of society. Under Sant Ishawar Award, while four individuals and NGOs are offered Rs 5 lakh each, rest 12 individuals and social organizations are given Rs 1 lakh each.

केन्द्रीय मंत्री ने इस पुरस्कार समारोह को असाधारण कार्यक्रम की श्रेणी में बताते हुए कहा कि सारे देश के दूरदराज के क्षेत्रों से असाधारण प्रतिभाओं को खोज कर यहां सम्मानित किया जा रहा है। उन्होंने अपने संस्मरण सुनाते हुए बताया कि कैसे स्व विष्णु कुमार ने कानपुर से दिल्ली आकर सेवा भारती की नींव रखी । उन्होंने बताया कि जब दिल्ली में कांग्रेस की सरकार थी उस समय, दिल्ली प्रशासन के द्वारा उत्कृष्ट कार्यों के लिए, उत्कृष्ट सेवाएं देने के लिए और निस्वार्थ भाव का परिचय देने के लिए सेवा भारती को दिल्ली के फिक्की ऑडिटोरियम में सम्मानित किया गया था।

While placing Sant Ishwar Award among extraordinary awards of the world, the Union Minister said unsung heroes, talented indivuals whose contributions to the society are rarely recognized, are awarded here. On this occasion, Dr Harsh Vardhan reminded people about existence of Sewa Bharti. He said late Vishnu Kumar came from Kanpur and founded Sewa Bharti. He said Sewa Bharti was honoured for its self-less service to society by the previous Congress government in Delhi’s FICCI auditorium.

डॉ हर्ष वर्धन ने अपने जीवन के कई प्रेरणास्पद संस्मरण सुनाए और कहा कि वे स्वामी विवेकानंद जी से बहुत प्रभावित रहे हैं और उनके कहे दो वाक्य,‘जीवन में सिर्फ वही लोग जीते हैं जो दूसरों के लिए जीते हैं, बाकी तो जीते हुए भी मृतक के समान हैं’, उन्हें जीवन में सदैव प्रेरणा देते रहे हैं ।

Union Minister Dr Harsh Vardhan said he has been highly inspired by Swami Vivekanand Ji and his famous quoute: Only those people who live for others are alive, rest is like dead—continues to invigorate my life.

कार्यक्रम के अंत में उन्होंने सभी सम्मान प्राप्त लोगों को बधाई दी और कपिल जी और वृन्दा खन्ना जी के निष्काम भाव की सराहना की। | इस कार्यक्रम में डॉ हर्ष वर्धन के अलावा केन्द्रीय राज्यमंत्री, डॉ जितेंद सिंह जी भी विशिष्ट अतिथि के तौर पर शामिल थे।

At the function, the Union Minister congratulated all awardees, including Kapil Ji and Vrinda Khanna Ji for their self-less works. Union Minister Dr Jitendra Singh was also present on this occasion.