नई दिल्ली, 15-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कोविड19 के खिलाफ जारी जंग के बीच न्यूज24 टी वी चैनल पर दिए इंटरव्यू में कहा कि कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत की स्थिति बेहतर होती जा रही है।



डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि कुछ विशेषज्ञों का मानना था कि भारत में संक्रमित मरीजों की संख्या 15 मई के आसपास लाखों में पहुंच जाएगी लेकिन हमें अपनी रणनीति पर पूरा भरोसा था और सदैव रहेगा। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने चैनल के माध्यम से एक बार फिर देश को विश्वास दिलाया कि हमारे देश में अमेरिका और इटली जैसी स्थिति कभी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि भारत मजबूती से कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहा है और परिणाम पूरे देश के सामने है। इस वायरस को कंट्रोल करने में हम सफल रहे हैं।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि आज हमारे 14 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में पिछले 24 घंटे से कोई कोरोना का कोई मामला नहीं आया। 4 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में आज तक कोई कोरोना का कोई मामला नहीं आया। 7-14 दिनों के बीच 32 जिलों में कोरोना का कोई मामला नहीं आया। 14-21 दिनों के बीच 9जिलों में कोरोना का कोई मामला नहीं आया। 21-28 दिनों के बीच 14 जिलों में कोरोना का कोई मामला नहीं आया। 28 दिनों से भी ज्यादा समय से 41 जिलों से कोई संक्रमित मरीज नहीं आया।

14 दिनों में डबलिंग रेट 11.1 था। 7 दिनों का 12.5 और पिछले 3 दिनों में ये रेट 13.9 रहा। भारत में इन मरीजों के ठीक होने की दर 33.6 प्रतिशत है। देश में अभी तक 20 लाख टेस्ट हो चुके हैं। अभी कुछ बड़े शहरों में ही कोरोना की ज्यादा समस्या है। जिस पर रणनीति के अनुसार कार्रवाई हो रही है।

केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र गुजरात व दिल्ली में कम्युनिटी ट्रांसमिशन के प्रश्न पर मैंने कहा कि ज्यादा केस मतलब कम्युनिटी ट्रांसमिशन नहीं है। इसकी परिभाषा बिलकुल अलग है। डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि न सिर्फ हम बल्कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भी भारत में कोरोना के स्टेज थ्री में न होने की पुष्टि करी है।

नई डिस्चार्ज नीति को लेकर पूंछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने बताया कि इसके तहत कोविड19 के गंभीर मरीज़ों को ही अस्पताल से डिस्चार्ज करने से पहले RT-PCR टेस्ट से गुजरना होगा। हल्के बीमारी में मरीज़ को 10 दिनों में छुट्टी मिल सकती है और उनका टेस्ट करना जरूरी नहीं होगा।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि छोटी-छोटी बातों को ही अपने जीवन में अपनाकर कोविड19 से बचा जा सकता है। इनमें किसी भी काम को करने से पहले और बाद में अपने हाथ साबुन से धोना,श्वसन स्वच्छता रखना, हाथों को बार-बार मुंह से न लगाना, घर में भी सोशल डिस्टेसिंग करते हुए मास्क लगाए रखना, घर के बुजुर्गो ,बच्चों, गर्भवती स्त्रियों और किसी गंभीर बीमारी से ग्रसित मरीजों का विशेष ध्यान रखना शामिल है।