Union Minister Dr Harsh Vardhan inaugurates exhibition on science & technology


केन्द्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने विज्ञान और प्रौद्योगिकी प्रदर्शनी का किया उदघाटन



Union Minister of Science and Technology, Earth Sciences, Environment, Forest and Climate Change Dr Harsh Vardhan on Thursday inaugurated the Pride of India Science Exhibition held on the sidelines of the 106th Indian Science Congress here.



January 3, Jalandhar: Union Minister of Science and Technology, Earth Sciences, Environment, Forest and Climate Change Dr Harsh Vardhan on Thursday inaugurated the Pride of India Science Exhibition held on the sidelines of the 106th Indian Science Congress here.

जालंधर (3 जनवरी) पंजाब के जालंधर स्थित लवली प्रोफेशनल यूनिवर्सिटी में आयोजित 106वें भारतीय विज्ञान कांग्रेस में केन्द्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान एवं वन, पर्यावरण और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने बतौर विशिष्ट अतिथि भाग लिया और इस अवसर पर आयोजित ‘प्राइड ऑफ़ इंडिया विज्ञान प्रदर्शनी’ का मशाल जला कर उदघाटन किया|

CSIR, DST, Ministry of Earth Sciences, ICAR and others had put in display their scientific and technological works at the exhibition where DRDO had showcased its latest development in the field of defence. Various academic institutions, including universities from the US, the UK had participated in the exhibition, where several state governments were also in the race to showcase progress they had made in the field of science and technology.

इस प्रदर्शनी में केन्द्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय के अंतर्गत कार्यरत सीएसआईआर, डीएसटी, पृथ्वी विज्ञान, आईसीएआर के अलावा रक्षा मंत्रालय के अधीन कार्यरत प्रतिष्ठित संस्थान डीआरडीओ (DRDO) व कई अन्य देशों के प्रतिष्ठित संस्थानों के पवेलियन लगे हुए थे| इस प्रदर्शनी में यूएस और यूके और कई अन्य देशों की शैक्षणिक संस्थानों ने भी भाग लिया| इसके अतिरिक्त विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में हो रही प्रगति दर्शाने के लिए राज्य सरकारों के द्वारा लगाए गए स्टालों का भी डॉ हर्ष वर्धन ने अवलोकन किया|

In the course of his visit to the exhibition, the Union Minister also interacted with several organizers of the event and suggested them to ensure that more students should come and see the display of new scientific works as they can contribute well to the country by developing their orientation towards science and technology.

Seen as very important science congress of the world, as many as 30,000 delegates, which included Nobel Laureates, eminent scientists, academicians from several countries, participated in the five-day event in this town of Punjab.

केन्द्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने प्रदर्शनी में लगभग हर स्टाल पर गए और बारीकी से वहां प्रदर्शित उत्पादों को देखा और उनके बारे में जाना| वे प्रदर्शनी के आयोजको से मिले और उनसे इस विज्ञान प्रदर्शनी में अधिक से अधिक विद्यार्थियों की उपस्थिति को सुनिश्चित करने का प्रयास करने के लिए कहा| साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदर्शनी में आ रहे विद्यार्थियों को नए वैज्ञानिक शोधों, कार्यों के विषय में जानकारी दी जाए ताकि उनकी विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में रूचि विकसित हो और वे भारत को सक्षम बनाने में अपना योगदान दे सकें 5 दिन तक चलने वाले इस विज्ञान कांग्रेस में विश्व के कई देशों से लगभग 30,000 डेलिगेट्स शामिल हुए हैं जिनमें नोबल पुरस्कार प्राप्त,प्रतिष्ठित वैज्ञानिक, शिक्षाविद् प्रमुख हैं।