नई दिल्ली, 09-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कोविड19 को लेकर आज इंडिया टुडे टी वी चैनल को एक इंटरव्यू दिया।



एम्स के निदेशक डॉ गुलेरिया के हाल के बयान पर पूछे गए प्रश्न के उत्तर में डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि भारत में कोविड19 के करीब 55 हजार मरीज हैं, रिकवरी दर 30% और 3% मृत्यु दर है। जबकि 17 हजार मरीज ठीक होकर अपने- अपने घर जा चुके हैं। विश्व में औसत मृत्यु दर 7% है।

उन्होंने कहा कि इस प्रकोप के बाद से, हमने पिछले 3.5 महीनों में कोई विशेष वृद्धि नहीं देखी है। एक मजबूत एकीकृत रोग निगरानी प्रणाली के साथ, हमने प्रभावी रूप से पोलियो, चेचक, ईबोला और नीपा से लड़ाई लड़ी है। डॉ हर्ष वर्धन ने विश्वास करते हुए कहा कि कोविड19 पर भी हमारी निर्णायक जीत होगी।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि हमें प्रभावित और गैर प्रभावित जिलों तथा हॉटस्पॉट और गैर-हॉटस्पॉट के बारे में पूरी स्पष्टता के साथ पता है कि बीमारी कहां पर है। हमने देश को रेड, ओरेंज और ग्रीन जोन में विभाजित किया है। हमें विश्वास है कि कोविड पर हमारा पूरा नियंत्रण है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जब तक नया वैक्सीन विकसित नहीं हो जाता, तब तक सोशल डिस्टेंसिंग + लॉकडाउन शक्तिशाली सामाजिक वैक्सीन है, जिसका लोग लगातार पालन कर रहे हैं।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि उन्हें यह साझा करने में खुशी हो रही है कि भारत की रणनीति और महामारी से लड़ने के फैसले प्रधानमंत्री जी के सिद्धांत "जान और जहान दोनों का पालन करेंगे "।

उन्होंने अपने जीवन का उद्देश्य लोगों की सेवा करना और आजीविका की रक्षा करते हुए सक्रिय और संवेदनशील बने रहना बताया।

उन्होंने कहा कि कोरोना कोई पहला वायरस का हमला नहीं है जिसे दुनिया ने देखा है। इससे पहले स्मॉलपॉक्स और पोलियोमाइलाइटिस का पूरी तरह से उन्मूलन कर दिया गया। कोविड 19, अपनी प्रारंभिक अवस्था में होने के कारण इसके व्यवहार के बारे में कोई भविष्यवाणी करने के लिए अभी समय की आवश्यकता है।