नई दिल्ली,17 फरवरी, 2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण,विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज स्वास्थ्य मंत्रालय में कोरोना वायरस जैसी गंभीर बीमारी से जूझ रहे चीन के वुहान शहर से 645 भारतीयों और मालदीव के 7 लोगों को सकुशल स्वदेश लेकर आयी टीम को सम्मानित किया। प्रधानमंत्री जी की ओर से प्रशस्ति पत्र पाने वाली इस टीम के सदस्य हैं सर्व श्री डॉ पी गुप्ता, डॉ आनंद विशाल, डॉ वाई सी पोरवाल, डॉ संजीत पनेसर, डॉ सुजाता आर्या व डॉ रुपाली मलिक के अलावा मेडिकल टीम में शामिल चार नर्सिंग ऑफिसर भी थे, इनमें श्री मनु जोसेफ, श्री रजनीश कुमार, श्री शरथ प्रेम व श्री ए जोस शामिल हैं। डॉ हर्ष वर्धन ने पूरे देश की ओर से इन सभी को बधाई दी।



इस अवसर पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि ये बहुत प्रसन्नता की बात है कि वुहान से आये सभी लोगों में कोरोना वायरस के जांच में नेगेटिव परिणाम आया है और आज से छावला और मानेसर में आई टी बी पी सेंटरों से उन्हें छुट्टी मिलना शुरू हो गई है।

उन्होंने बताया कि भारत सरकार ने विश्व स्वास्थ्य संगठन के चेतावनी जारी करने से पहले ही 17 जनवरी 2020 को कोरोना वायरस को लेकर एहतियाती कदम उठाने शुरू कर दिए थे और आज उसी का परिणाम है कि 130 करोड़ की आबादी में से सिर्फ 3 मामले ही सामने आये और इनमे से भी 2 लोगों का टेस्ट अब नेगेटिव आ गया है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि अब तक कुल 2,996 उड़ानों के 3,21,375 यात्रियों और 125 जहाजों के 6,387 यात्रयों की थर्मल स्क्रीनिंग की जा चुकी है, इसके अलावा 18,672 ऐसे यात्री हैं जिन पर पैनी नजर रखी जा रही है।

उन्होंने बताया कि 15 लैब्स में अब तक कुल 2571 सैम्पल्स की जाँच की जा चुकी है,जिसमें से सिर्फ केरल में ही 3 मामले पाए गए थे अब इनमें से 2 में नेगेटिव आने के बाद उन लोगों को छुट्टी दे दी गई है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि मंत्रालय से जारी हेल्पलाइन नंबर पर 4400 कॉल्स आयी थीं इनमे से 390 कॉल्स विदेश से भी थीं और 30 मेल मिली हैं। भारत ने कोरोना वायरस को लेकर मुस्तैदी से काम किया जिसके फलस्वरूप यहां केवल 3 मामले ही आ पाए। उन्होंने बताया कि जापान में भी डायमंड क्रूज पर यात्रियों को Quarantine में रखा गया है और उनका रिपोर्ट नेगेटिव आते ही उन्हें भी छुट्टी मिल जाएगी।