नई दिल्ली, 10 मार्च 2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज कोरोना वायरस COVID2019 के हालात को लेकर स्वास्थ्य मंत्रालय में दिल्ली, हरियाणा, केरल, राजस्थान, तेलंगाना, यूपी, तमिलनाडु, पंजाब, कर्नाटक, महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्रियों और लद्दाख तथा जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपालों से वीडियो कॉल के माध्यम से बातचीत की।



इसके अलावा उन्होंने COVID2019 से उत्पन्न स्थिति व बचाव को लेकर की गई तैयारियों की समीक्षा भी की। डॉ हर्ष वर्धन ने राज्यों से संपर्क किया ताकि मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति के बारे में पूछताछ की जा सके और यह पता लगाया जा सके कि केंद्र सरकार से किसी मदद की आवश्यकता है या नहीं। उन्होंने सभी को भरोसा दिलाया कि केंद्र सरकार इस स्थिति से निपटने के लिए हर संभव मदद को तैयार है।

डॉ हर्ष वर्धन ने राज्यों के स्वास्थ्य मंत्रियों से ‘कांटेक्ट ट्रेसिंग’ और Community Surveillance यानि सामुदायिक निगरानी में किसी भी प्रकार की ढिलाई न बरतने का निर्देश दिया और कहा कि किसी भी राज्य को यदि स्क्रीनिंग या चिकित्सा के लिए किसी भी चीज की आवश्यकता हो तो, वे बेहिचक स्वास्थ्य मंत्रालय से कहें उस राज्य को वह सामग्री पर्याप्त मात्रा में तत्काल उपलब्ध करा दी जाएगी।

डॉ हर्ष वर्धन ने राज्यों के प्रतिनिधियों को आश्वस्त किया कि केंद्र के पास कोरोना से निपटने के लिये प्रचुर मात्रा में दवाईयां, मास्क और सभी प्रकार की चिकित्सा सामग्री उपलब्ध है। उनसे कहा कि वे कोरोनोवायरस रोगियों की जाँच पूरी मुस्तैदी के साथ करें।

डॉ हर्ष वर्धन ने वीडियो कॉल के माध्यम से मेदांता और सफदरजंग अस्पताल में डॉक्टरों और मरीजों से बात की और उनके स्वास्थ्य के बारे में पूछताछ की और यह भी पता लगाया कि क्या मरीज इलाज से संतुष्ट हैं।