नई दिल्ली,4 मार्च 2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज स्वास्थ्य मंत्रालय में कोरोना वायरस #COVID19 से बचाव और उससे उत्पन्न होने वाली किसी भी संभावित चुनौती से निपटने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय में एक उच्च स्तरीय बैठक करी। बैठक में कई वरिष्ठ अधिकारियों समेत दिल्ली सरकार के स्वास्थ्य मंत्री श्री सत्येंद्र जैन जी ने भी हिस्सा लिया।



डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि अब भारत आने वाले सभी विदेशी नागरिकों की जांच की जाएगी। पहले सिर्फ़ 12 देशों के लोगों की जांच की जा रही थी। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की जांच के लिए ईरान में एक लैब शुरू की जा रही है। इसके लिए एक वैज्ञानिक को भेजा जा चुका है और तीन अन्य को भेजने की तैयारी है। इससे ईरान में फंसे भारतीयों को वहीं टेस्ट करके लाने से हमारा काम आसान हो जाएगा।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि सबसे पहले केरल के 3 मामले पॉजिटिव आये थे जो ठीक होकर अपने-अपने घरों को चले गए हैं। इसके अलावा इटली से 21 फरवरी को एक ग्रुप भारत भ्रमण के लिया आया हुआ था। उस ग्रुप के 16 लोगों और उनके एक भारतीय ड्राइवर को भी कोरोना पॉजिटिव आया है ।

इसके बाद दिल्ली के के एक व्यक्ति और आगरा में उसके 6 संबंधियों के अलावा एक तेलंगाना के व्यक्ति को कोरोना पॉजिटिव आया है।

उन्होंने बताया कि कल तक 21 हवाई अड्डों पर 5 लाख 89 हजार से ज्यादा, छोटे और बड़े बंदरगाहों पर करीब 15 हजार, नेपाल के साथ लगे 5 राज्यों की सीमाओं पर करीब 10 लाख लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। इसके अतिरिक्त लगभग 27 हज़ार लोग सामुदायिक निगरानी में चल रहे है यानि उन पर पैनी नजर रखी जा रही है।

नोवल कोरोना वायरस ‘COVID19’ से सुरक्षा के उपायों पर डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि अपनी व्यक्तिगत सुरक्षा पर ध्यान दें।

साबुन से लगातार हाथ धोते रहें। छींकने और खांसने के दौरान अपना मुंह ढकें। हाथों को साबुन और बहते पानी से धोएं। जब आपके हाथ स्पष्ट रूप से गंदे न हों, तब भी अपने हाथों को हैंड-वॉश या साबुन और पानी से साफ़ करें। प्रयोग के तुरंत बाद टिशू पेपर को किसी बंद डिब्बे में फेंक दें। अस्वस्थ महसूस होने पर डॉक्टर से मिलें यदि आपको खांसी और बुखार हो तो किसी के संपर्क में न आएं। सार्वजनिक स्थानों पर न थूकें।