21 नवंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज दिल्ली में 3-दिवसीय ग्लोबल बायो-इंडिया समिट, 2019 के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि भारत के पास जैव प्रौद्योगिकी क्षेत्र में अग्रणी भूमिका निभाने की क्षमता है और हाल के दिनों में इस क्षेत्र में तेजी से विकास हुआ है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2030 तक भारत को विज्ञान और प्रौद्योगिकी में शीर्ष देश बनाने का लक्ष्य रखा है। सरकार ने सैकड़ों जैव प्रौद्योगिकी पार्क और इनक्यूबेटरों की स्थापना करके इस क्षेत्र को प्रोत्साहित किया है, जबकि हजारों स्टार्ट-अप को सरकार द्वारा समर्थन दिया गया है। उन्होंने बताया कि दुनिया भर में वैज्ञानिक प्रकाशनों में 5% की वृद्धि के साथ, भारत ने इस क्षेत्र में 14% की वृद्धि दर्ज की है। उन्होंने कहा कि हमने कई टीके विकसित किए हैं और रोटावायरस वैक्सीन अब राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम का एक हिस्सा है, इसके अलावा हमारी प्रयोगशालाओं ने भी डेंगू और मलेरिया के खिलाफ टीके बनाने का काम किया है जो स्वस्थ्य भारत के सपने को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं । उन्होंने कहा कि इसके अलावा हम नैनो टेक्नोलॉजी में नंबर 3 पर हैं और हमारे सुनामी अर्ली वार्निंग सिस्टम को दुनिया में नंबर 1 का दर्जा दिया गया है।



डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि भारत संयुक्त राष्ट्र प्रायोजित ‘मिशन इनोवेशन’ कार्यक्रम में अग्रणी भूमिका निभाता है और स्मार्ट ग्रिड, ऑफ-ग्रिड एक्सेस टू इलेक्ट्रिसिटी और सस्टेनेबल बायोफ्यूल की चुनौतियों में अग्रणी देश है। उन्होंने कहा कि हम आज एक बदलता भारत हैं, और प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी 2022 तक देश को न्यू इंडिया में परिवर्तित करना चाहते हैं और जिसके बाद हमारा लक्ष्य विश्व गुरु बनने का है।

जैव प्रौद्योगिकी मानव जाति को जैव-प्रौद्योगिकी आधारित अर्थव्यवस्था की ओर बढ़ने में मदद करती है। जैव प्रौद्योगिकी जीवन में परिवर्तन लाने के साथ नए अवसर पैदा करती है और सभी के लिए विकास के रास्ते खोलती है। उन्होंने बायोटेक सेक्टर में युवा इनोवेटर्स और उद्यमियों को देश के विकास के लिए आगे आने के लिए प्रोत्साहित किया। मैंने बायोटेक सेक्टर में युवा इनोवेटर्स और उद्यमियों को देश के विकास के लिए प्रोत्साहित किया। मैंने कहा कि भारत सरकार युवा इनोवेटर्स और उद्यमियों के का समर्थन और सहायता करेगी ताकि इसे एक वास्तविकता में बदला जा सके।