09 अक्टूबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज नई दिल्ली में GEMINI Device का शुभारंभ किया। इस मौके पर उन्होंने कहा कि 2004 की सुनामी त्रासदी के बाद से लेकर अब तक की स्थिति काफी बदल गई है। आज हम दुनिया की अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त हैं और कई दूसरे देशों को भी इस प्रणाली की सुविधा दे रहे हैं। उन्होंने आपदा चेतावनी और समुद्र में जान-माल की तलाश में वैज्ञानिकों के योगदान की सराहना करते हुए उम्मीद जताई की GEMINI Device और Mobile App मछुआरों के लिए बेहद काम का साबित होगा। उन्होंने इसके लिए भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण का भी आभार जताया ।



डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि विज्ञान का लाभ जब तक आम आदमी को नहीं मिलेगा तब तक विज्ञान के रिसर्च का कोई मतलब नहीं है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की भी यही सोच है कि प्रौद्योगिकी का लाभ गरीबों को मिले और पिछले 5 वर्षों में हमारे वैज्ञानिकों ने इस दिशा में अच्छा काम किया है। हमारे वैज्ञानिकों के पूर्वानुमानों का फायदा देश के किसान भी उठा रहे हैं। इसके साथ ही समुद्री दशा पूर्वानुमानों में सटीक पूर्वानुमान उपलब्ध कराने की दिशा में भी हमारे वैज्ञानिकों ने उल्लेखनीय कार्य किए हैं।

उन्होंने वैज्ञानिकों से आह्वान किया कि वे अपने वैज्ञानिक सामाजिक दायित्वों का निर्वहन करते हुए प्रधानमंत्री प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 2022 तक NewIndia के सपने को साकार करने में जुट जाएं। देश की अनसुलझी समस्याओं को सुलझाने में विज्ञान अहम रोल अदा कर सकता है। उन्होंने कहा कि पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय काफी अच्छा का कर रहा है और मैं अपने वैज्ञानिकों से अपील करता हूं कि देश और समाज की बेहतरी के लिए और मेहनत से काम करें ।