13 नवंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद द्वारा विकसित खाद्य प्रसंस्करण में प्रौद्योगिकियों की एक प्रदर्शनी का उद्घाटन किया।



इस दौरान पत्रकारों से बात करते हुए डॉ हर्ष वर्धन ने उद्योगों से खाद्य प्रसंस्करण क्षेत्र के लिए विकसित सीएसआईआर प्रौद्योगिकियों को अपनाने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि इन प्रौद्योगिकियों और नवाचारों के माध्यम से विकसित उत्पाद लोगों के लिए कम लागत पर उपलब्ध हैं। खाद्य प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी से जुड़ी प्रदर्शनी का उद्घाटन करने के बाद डॉ हर्ष वर्धन ने मीडिया से कहा कि CSIR द्वारा तैयार उत्पाद बाजार में उपलब्ध उत्पादों के मुकाबले न सिर्फ सस्ते हैं, बल्कि स्वादिष्ट व स्वास्थ्य के अनुकूल भी हैं। इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री ने खाद्य प्रसंस्करण उद्योग से जुड़े लोगों से अपील की, कि वे इस प्रदर्शनी को जरुर देखें ताकि CSIR IND के वैज्ञानिकों ने जो तकनीक विकसित की है उसे जन-जन तक पहुंचाया जा सके। प्लास्टिक के विकल्प को लेकर देश में काफी काम हो रहा है। देहरादून में तो संस्थान ने प्लास्टिक कचरे से डीजल बनाने का भी काम शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा कि मानना है कि विज्ञान से माध्यस से सब कुछ संभव है ।