3 दिसंबर 2019, नई दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज देश के प्रथम राष्ट्रपति देशरत्न डॉ राजेंद्र प्रसाद जी की जयंती के अवसर पर पार्लियामेंट एनेक्सी के समीप स्थित उनकी प्रतिमा पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी।



डॉ राजेंद्र प्रसाद जी की जयंती पर 'राजेंद्र चिंतन समिति' द्वारा आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि लगातार 12 साल तक देश के राष्ट्रपति रहे राजेंद्र बाबू ने देश के संविधान निर्माण में अहम योगदान दिया। उन्होंने कहा कि डॉ राजेन्द्र बाबू का जीवन सत्य, सात्विकता और समर्पण से भरा हुआ था और आज़ादी के आंदोलन से जुड़े उनके अनेक प्रकरण हम सबके लिए प्रेरणादायक हैं और हमें डॉ राजेंद्र बाबू से जुड़े उन प्रेरक प्रकरणों का अध्ययन करना चाहिए क्योकि उनके जैसे अनगिनत महान स्वतंत्रता सेनानियों की वजह से ही लंबे संघर्ष के बाद हमें आजादी मिली है, विदेशी आक्रांताओं के हजारों दुष्प्रयासों के बावजूद भारत की अक्षुणता को कोई समाप्त नहीं कर पाया। ऐसे नेताओं के बारे में हमें जरूर पढ़ना चाहिए।

कार्यक्रम का आयोजन 'राजेंद्र चिंतन समिति' के श्री रामकृष्ण शर्मा जी के द्वारा किया गया था जिसमें अनेक गणमान्य लोगों ने हिस्सा लिया था|