29 जुलाई, 2019: दिल्ली मेडिकल फोरम के तले आज राजघाट पर बड़ी संख्या में दिल्ली के जाने –माने डॉक्टरों और मेडिकल छात्रों ने इकट्ठा होकर नेशनल मेडिकल कमीशन बिल, 2019 के प्रति अपना समर्थन जताया। इसमें दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन (डीएमए) के पूर्व अध्यक्षों, सचिवों और आईएएमए दिल्ली के पदाधिकारी भी शामिल हुए ।



29 July, 2019: Many eminent Doctors from Delhi Medical Association and medical students joined together for the support of National Medical Commission Bill (2019) at Raj Ghat. Many retired directors, secretaries and office bearers of IAMA were also present for the support of the bill.



सभी ने केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन द्वारा लाए गए नेशनल मेडिकल कमीशन बिल, 2019 (एनएमसी) का स्वागत करते हुए इसे चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में "ऐतिहासिक" और "अभूतपूर्व" बिल करार दिया । डीएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉ. हरीश गुप्ता ने कहा कि इस बिल के पास होने से जहां चिकित्सा क्षेत्र में परिवर्तनकारी सुधार होंगे वही मेडिकल क्षेत्र में फैले भ्रष्टाचार पर भी पाबंदी लगेगी। एसोसिएशन ने बिल के उस प्रावधान का स्वागत किया है, जिसमें अतिम वर्ष की परीक्षा को NEXT के साथ समायोजित करने की बात कही गई है ।

Everybody supported and congratulated the National Medical Commission Bill, 2019 and termed the bill 'historical' and 'unprecedented' in the field of medical treatment. Former Director of DMA, Dr Harish Gupta said the bill will bring reforms in the medical field and will end corruption in medical sector. Association also appreciated the provision for combining final year exam with NEXT.

राजघाट पर बिल के समर्थन में पहुंचे डॉक्टरों और मेडिकल छात्रों ने बिल के उस प्रावधान का भी स्वागत किया जिसमें निजी मेडिकल कॉलेजों और डीम्ड यूनिवर्सिटी की 50 प्रतिशत सीटों पर फीस निर्धारण का अधिकार सरकार के पास होगा। डॉक्टरों ने कहा कि पहले इस तरह का कोई नियंत्रण नहीं होने से निजी मेडिकल कॉलेजों और डीम्ड यूनिवर्सिटी अपनी मनमानी करते थे। डॉक्टरों ने NEXT को भी एक अच्छा कदम करार देते हुए कहा है कि इससे मेडिकल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार आएगा ।

Doctors and medical students present at the Raj Ghat also appreciated the provision of Government having the authority of fixing 50 % fee of private and deemed universities. Doctors said this provision will further stop autocracy of private and deemed universities on fixing fees. Doctors appreciated NEXT and said that it will bring reforms in the quality of medical education.