The Dentists (Amendment) Bill, 2019 आज लोकसभा से पारित हो गया । केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज लोकसभा में इस बिल को पेश किया और चर्चा के बाद इसे ध्वनिमत से पारित कर दिया गया । इस बिल पर चर्चा के दौरान पक्ष- विपक्ष के करीब 18 सदस्यों ने हिस्सा लिया और अपनी राय रखीं।




लोकसभा में इस बिल पर चर्चा के दौरान केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल नेतृत्व में सामान्य जनों पर कानून का बोझ कम करने के लिए अब तक करीब 1500 गैरज़रूरी कानूनों को खत्म किया जा चुका है, जो अलग-अलग स्तरों पर लोगों के लिए बाधक बन रहे थे और 100 से अधिक नये कानूनों को संसद द्वारा पारित किया जा चुका है। The Dentists (Amendment) Bill, 2019 का मकसद भी डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया में प्रतिनिधित्व की असमानता को दूर करने के साथ काउंसिल के कार्यो को सुचारू बनाना है।



केंद्रीय मंत्री ने कहा कि The Dentists Act 1948 के अंतर्गत मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया में रजिस्टर-A के तहत 2 लाख 70 हजार जबकि रजिस्टर-B में सिर्फ 979 लोग हैं। अगर प्रतिशत के हिसाब से देखें तो रजिस्टर-B के लोगों का प्रतिशत महज 0.4 फीसदी हैं, लेकिन वर्तमान कानून के मुताबिक 33 फीसदी आरक्षण रजिस्टर -B वाले ग्रुप का है। इस बिल के जरिए मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया में व्याप्त असमानता को दूर किया जाएगा।

चर्चा में भाग लेते हुए डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि कुछ सदस्यों की आशंका बिल्कुल निराधार है कि इस बिल में संशोधन से भाई-भतीजावाद को बढ़ावा मिलेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नेतृत्व में सरकार, पूरी पारदर्शिता और ईमानदारी से काम कर रही है। 'सभी हमारे हैं और हम सबके हैं' की नीति में हमलोग विश्वास करते हैं।

उन्होंने कहा कि ओरल हेल्थ सरकार की प्राथमिकता है और इसी को देखते हुए 2014-15 में हमारी सरकार ने नेशनल ओरल हेल्थ प्रोग्राम की शुरूआत की थी। आज देशभर में डेढ़ लाख हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर्स खोले जा रहे हैं और इन केंद्रों के जरिए लोगों को गुणवत्तापूर्ण स्वास्थ्य सेवा की व्यवस्था की जा रही है। बिल पर चर्चा के दौरान उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चाहते हैं कि देश में स्वास्थ्य का एक बड़ा सकारात्मक जन आंदोलन विकसित होना चाहिए और आयुष्मान भारत भी उसी स्वप्न को साकार करने की दिशा में एक प्रयास है।

The Dentists (Amendment) Bill, 2019 को लोकसभा से पारित कराने में सहयोग देने के लिए केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त किया।