नई दिल्ली, 08-05-2020: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कोविड के नवीनतम हालात की समीक्षा के क्रम में आज तमिल नाडु के स्वास्थ्य मंत्री डॉ सी विजय भास्कर जी और राज्य सरकार के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ कोविड को लेकर बैठक करी। उनके साथ स्वास्थ्य राज्यमंत्री श्री अश्विनी कुमार चौबे जी भी उपस्थित थे।



डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि इससे पहले दिल्ली, मध्य प्रदेश, बिहार, महाराष्ट्र,उत्तर प्रदेश,गुजरात, ओड़िसा के स्वास्थ्य मंत्रियों और पश्चिम बंगाल के अधिकारियों के साथ कोविड19 के ताजा हालात की समीक्षा की जा चुकी है।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि कोरोना के खिलाफ़ जारी लड़ाई में केंद्र सरकार सभी राज्यों को हर संभव मदद देने को तैयार है। उन्होंने बताया कि इस बैठक का उद्देश्य राज्यों की परेशानियों व उनकी जरूरतों को समझना है, ताकि उनके समाधान निकाले जा सकें। इस बैठक के बाद हम तेलंगाना और कर्नाटक राज्यों में कोविड19 के नवीनतम हालात की समीक्षा करेंगे।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि देश में कोविड19 के कुल 56,342 मरीज हैं जिनमें से 16,540 मरीज ठीक हो गए हैं लेकिन 1886 लोगों की दुर्भाग्यपूर्ण मौत हो गई है। जबकि भारत में कोविड19 से पीड़ित मरीजों की मृत्युदर 3.3 प्रतिशत है।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि देशभर में कोविड के लिए 821 समर्पित अस्पताल हैं। जिनमें आईसीयू और आइसोलेशन के कुल मिलाकर 1 लाख,50 हजार बेड्स उपलब्ध हैं। इसके अलावा 1,898 कोविड हेल्थ केयर सेंटर हैं,जिनमें 1लाख,19हजार बेड्स उपलब्ध हैं। इसके अतिरिक्त 7 हजार 67 क्वारेंटाइन सेंटर हैं। विशेष बात है कि अभी तक 14 लाख,40 हजार 433 टेस्ट हो चुके हैं। हमारे पास अब टेस्टिंग लैब्स की संख्या बढ़कर 453 तक पहुंच गई है। इनमें 332 सरकारी और 121 निजी क्षेत्र में हैं। देश में कोविड टेस्टिंग की क्षमता बढ़कर 95 हजार प्रतिदिन तक पहुंच गई है।

डॉ हर्ष वर्धन ने बताया कि देश में कोविड के कुल 52,952 में से 15,267 लोग ठीक होकर अपने-अपने घरों को चले गए हैं जबकि दुर्भाग्य से 1,783 लोगों की मृत्यु हो गई है। शेष लोग ठीक होने की प्रक्रिया में हैं। देश में कोरोना से पीड़ित मरीजों की मृत्यु दर 3.3 और इस महामारी से ठीक होने वालों की दर बढ़कर 28.8 प्रतिशत तक पहुंच गई है।

जहां तक तमिल नाडु की बात है राज्य में कोविड19 के 5409 केस हैं। राज्य में टेस्टिंग की सुविधा बढ़ी है। अब राज्य में 52 लैब हो गई हैं। तमिल नाडु में कुल 29,395 बेड्स की सुविधा मौजूद है। इनमें 229 बेड्स आईसीयू में हैं।

राज्य के शिवगंगा और इरोड जिलों में 14-21 दिनों से कोई केस नहीं आया। जबकि कृष्णागिरी जिले में मात्र 8 मामले हैं।