28 दिसंबर 2019: भारतीय जनता पार्टी के नेता और केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस कर आम आदमी पार्टी की 5 साल की सरकार के खिलाफ जनता का आरोपपत्र जारी किया। प्रेस कॉन्फ्रेंस में दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्याम जाजू व सभी सांसद और विधायक मौजूद रहे। डॉ हर्ष वर्धन की अगुवाई में इस आरोपपत्र को तैयार किया गया है जिसे बीजेपी की दिल्ली इकाई ने आज कनॉट प्लेस के सेंट्रल पार्क में जारी किया। आरोपपत्र के जरिए दिल्ली में बिजली, पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य, प्रदूषण से लेकर नागरिक संशोधन कानून (CAA) के मुद्दे पर राजधानी में विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा के लिए आम आदमी पार्टी की सरकार पर जमकर निशाना साधा गया।



मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर निशाना साधते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पिछले 5 साल में केजरीवाल ने दिल्ली वालों को जितना निराश किया है उतना आज तक किसी ने नहीं किया। केजरीवाल की फोटोंं से सजी दिल्ली के करोड़ों लोग सोच रहे हैं कि दिल्ली की शक्ल बदलने के लिए केजरीवाल ने किया क्या है। डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि केजरीवाल सरकार के पिछले 5 सालों और पिछले 5 महीने के हाव-भाव से हर कोई सोचेगा कि दिल्ली के लोगों को 5 साल का मुख्यमंत्री चाहिए या 5 महीने का मुख्यमंत्री। उन्होंने कहा कि सस्ती लोकप्रियता के लिए वायदों के ढेर लगा कर दूसरे के कामों पर अपना ठप्पा लगाने में माहिर मुख्यमंत्री ने आम जनता के लिए पिछले 5 सालों में कुछ नहीं किया और चुनाव करीब आते ही उन्होंने सपनों के ढेर लगाने शुरू कर दिए। लोगों को गुमराह करने के लिए जनता का करोड़ों रुपया विज्ञापनों में बहाने वाले केजरीवाल के पास दिल्ली की जनता के इस सवाल का जवाब नहीं है कि दिल्ली का चेहरा बदलने के लिए आखिर उन्होंने क्या कदम उठाए।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि पिछले पांच वर्षों तक झूठे वायदों की पोटली लेकर दिल्ली में सियासी फेरी लगाने वाले केजरीवाल ने आज दिल्ली को एक ऐसे महानगर में बदल दिया है जिसमें भीड़, ट्रैफिक, धूल, धुएं के साथ लोगों में निराशा की यह धारणा बढ़ती जा रही है कि ऐसे शहर में क्या रहना, जहां ना तो साफ पानी है और ना ही साफ हवा। उन्होंने कहा कि बीते दिनों जिस तरह सुनियोजित तरीके से दिल्ली के कुछ इलाकों में दंगा फैलाने की कोशिश हुई, उससे भी साफ हो गया कि खुद को आम आदमी और दिल्ली का हितैषी बताने वाले केजरीवाल को न तो आम आदमी से प्यार है और न ही दिल्ली से। आखिर कोई अपनी दिल्ली को भला कैसे आग के हवाले कर सकता है ?

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की सरकार ने दिल्ली में वायदा किया था कि 500 नए सरकारी स्कूल बनाएंगे, एक भी नया स्कूल नहीं बना। जिन पुराने स्कूलों में कुछ कमरे बनवाए गए उनमें भी 2000 करोड़ रू का घोटाला कर डाला। मुख्यमंत्री को जवाब देना चाहिए कि 2014 से अब तक 2.50 लाख बच्चों का एडमिशन कम क्यों हुआ है? केजरीवाल जी ने कहा था कि दिल्ली की कच्ची कॉलोनियों को पक्का किया जाएगा। 5 साल में केजरीवाल ने कुछ नहीं किया, लेकिन मोदी जी की सरकार ने केवल 100 दिन में संसद में बिल बनाकर इसे पास किया और कच्ची कॉलोनी के लोगों को मालिकाना हक दिया। दिल्ली सरकार ने वायदा किया था कि एक भी सीवर का पानी यमुना में नहीं गिरने देंगे। इसको तो ये लोग कर नहीं पाए उल्टे केन्द्र द्वारा दिल्ली सरकार को यमुना की सफाई के लिए 3500 करोड़ रुपए का फंड दिया वो भी धरा का धरा रह गया। डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि केजरीवाल ने 70 वायदे किये थे और उनको पूरा करने में वो पूरी तरह से असफल रहे। 2020 के विधानसभा चुनाव में दिल्ली, केजरीवाल की सरकार से मुक्त हो जायेगी। अब थोड़ा समय बचा है। अवसरवाद, भाई-भतीजावाद, अन्याय और अनाचार, अत्याचार का अंत होने वाला है।