23 दिसंबर 2019: केन्द्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने सोमवार को प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के देश के नागरिकों को उत्तम स्वास्थ्य सेवा उपलब्ध कराने के संकल्प के तहत केंद्र की तरफ से पंजाब को एक बड़ी सौगात सौंपी। उन्होंने पंजाब में बठिंडा के नवनिर्मित एम्स की ओपीडी सेवा का शुभारंभ किया। इस अवसर पर कैबिनेट मंत्री हरसिमरत कौर बादल, पंजाब के चिकित्सा शिक्षा मंत्री ओम प्रकाश सोनी, शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर सिंह बादल और भारतीय जनता पार्टी के सांसद श्वेत मलिक की गरिमामयी उपस्थिति रही।



इस अवसर पर अपने संबोधन में डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बठिंडा में एम्स की शुरूआत होने से पंजाब के लोगों को अत्याधुनिक चिकित्सा सुविधाएं मुहैया हो पाएंगी और PGI चंडीगढ़ पर मरीजों का भार कम होगा। उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि जून, 2020 तक यह संस्थान पूरी तरह से काम करने लगेगा। 750 बेड की क्षमता वाले इस अस्पताल में Emergency/Trauma Center व ICU Specialty और Super Specialty बेड शामिल होंगे। इसके अलावा Administration Block, Ayush Block, Auditorium, Night Shelter, Hostel और आवासीय सुविधाएं भी होंगी।

उन्होंने कहा कि पहली बार किसी एम्स का उद्घाटन गुरु ग्रन्थ साहिब के पाठ से शुरू हुआ है और जो भी काम गुरुओं के आशीर्वाद से शुरू होता है वो जरूर सफल होता है। उन्होंने कहा कि एम्स की संख्या को बढ़ाकर अन्य राज्यों में इसकी स्थापना का पूरा श्रेय पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी जी व तत्कालीन स्वास्थ्य मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी को जाता है। अटल जी के ही नेतृत्व में देश के 5 एम्स की स्थापना के लिए जगह का चुनाव हुआ था। डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि जो भी काम गरीबों की शिक्षा, उनकी मदद या उत्थान के लिए हो उसको पूरा सपोर्ट और जज्बे के साथ लागू करना प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की प्राथमिकता होती है। मोदी सरकार के इस दूसरे कार्यकाल में अब तक 75 नए मेडिकल कॉलेज को मंजूरी मिल चुकी है और इसमें से 49 मेडिकल कॉलेजों के लिए राज्य सरकारों को पैसा भी स्वीकृत कर दिया गया है।

177 एकड़ में बने बठिंडा एम्स में 750 बेड बनने हैं जिसमें दस स्पेशलिस्ट और 11 सुपर स्पेशलिस्ट डिपार्टमेंट के साथ 16 अल्ट्रा मार्डन आपरेशन थियेटर होंगे। प्रधानमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत बने बठिंडा के एम्स के निर्माण में करीब 925 करोड़ रुपये खर्च आएगा।