30 अक्टूबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज यहां 14 वां राष्ट्रीय स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल (एनएचपी) 2019 और इसका ई-बुक (डिजिटल संस्करण) जारी किया। स्वास्थ्य प्रोफ़ाइल केंद्रीय स्वास्थ्य खुफिया ब्यूरो (सीबीएचआई) द्वारा तैयार किया गया है जिसमें देश में जनसांख्यिकीय, सामाजिक-आर्थिक स्वास्थ्य स्थिति, स्वास्थ्य बुनियादी ढांचे और मानव संसाधनों के स्वास्थ्य पर व्यापक जानकारी शामिल है। एनएचपी का यह 14 वां संस्करण है।



National Health Profile 2019 जारी करते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि जनसंख्या की जरूरतों और मुद्दों को समझने के लिए डेटा एक महत्वपूर्ण स्रोत है। यह लक्ष्यों, हमारी ताकत और कमजोरियों को समझने में मदद करता है। उन्होंने कहा कि अच्छी गुणवत्ता का डेटा नीति निर्माताओं को साक्ष्य-आधारित नीतियां और विभिन्न योजनाओं के प्रभावी कार्यान्वयन में सहायक बनाता है। डॉ हर्ष वर्धन ने यह भी सुझाव दिया कि इस दस्तावेज का अत्यधिक प्रसार किया जाना चाहिए, ताकि अधिक से अधिक लोग जो स्वास्थ्य हस्तक्षेप या कार्यक्रम विकसित करना चाहते हैं, वे इस डेटा का उपयोग कर सकें और अनूठे समाधान और नीतिगत सुझावों के साथ आ सकें। उन्होंने कहा कि NHP-2019 की ई-बुक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के दृष्टिकोण को साकार करने की दिशा में एक कदम है, क्योंकि डिजिटल दस्तावेज़ हमें सूचना के व्यापक प्रसार का अवसर देते हैं।

उन्होंने कहा कि कहा कि Data का महत्व काफी बढ़ गया है और भारत ने पिछले कुछ वर्षों में इस क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन का हर एक प्रकाशन अपने आप में बेहद उपयोगी है। उन प्रकाशनों में जो कुछ भी छपता है उसके पीछे गहरा अध्ययन होता है। अगर इन प्रकाशनों को पढ़ने वाले लोग उसका दस फीसद भी उपयोग करें तो स्वास्थ्य क्षेत्र में व्यापक बदलाव आ सकता है। प्रोफ़ाइल विभिन्न संचारी और गैर-संचारी रोगों के बारे में जानकारी का एक प्रमुख स्रोत होगा जो किसी भी अन्य प्रमुख कार्यक्रमों के अंतर्गत नहीं आते हैं।