बॉयोमेडिकल रिसर्च में डीबीटी- वेकलम ट्रस्ट साझेदारी के 10 साल पूरे


बॉयोमेडिकल रिसर्च में केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय और वेलकम ट्रस्ट के बीच के बीच साझेदारी के 10 साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के साथ मैं भी शामिल हुआ।



नई दिल्ली (नवंबर 12, 2018) : बॉयोमेडिकल रिसर्च में केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय और वेलकम ट्रस्ट के बीच के बीच साझेदारी के 10 साल पूरे होने पर आयोजित कार्यक्रम में महामहिम राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद के साथ मैं भी शामिल हुआ।

लोगों को संबोधित करते हुए राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा कि इस साझेदारी की शुरुआत 2008 में हुई थी और पिछले 10 सालों में बॉयो मेडिकल क्षेत्र में भारत के 34 शहरों के 93 संस्थाओं के 320 Researchers को फेलोशिप दिए गए हैं। खुशी की बात यह है कि डीबीटी- वेकलम ट्रस्ट साझेदारी देश के युवा Researchers पर फोकस करती है।

इस मौके पर केंद्रीय विज्ञान और प्रोद्यौगिकि मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि 10 साल पहले वेलकम ट्रस्ट ने प्रत्येक वर्ष 8 मिलियन पाउंड भारत में निवेश करने का वायदा किया था और यह साझेदारी आज 160 मिलिनय पाउंड की हो गई है। इस फंड का इस्तेमाल भारत में बॉयोमेडिकल क्षेत्र में काम कर रहे Researchers के लिए किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने रणनीतिक रूप से Scientific Collaboration को विकसित किया है और आज अनुसंधान के क्षेत्र में भारत वैश्विक स्तर पर एक महत्वपूर्ण खिलाड़ी बन चुका है।मेडिकल क्षेत्र से जुड़ा होने के नाते मैं समझता हूं कि एक चिकित्सक को वैज्ञानिक अनुसंधान में सक्षम होने की तत्काल आवश्यकता है।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि स्वास्थ्य मद में बढ़ता बोझ देश के लिए बड़ी चुनौती है। भारत में ह्रदय रोग और डायबिटीज रोगियों की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। भारत में डायबिटीज रोगियों की संख्या 1990 में 26 मिलियन से बढ़कर 2016 में 65 मिलियन हो गई है। 1990 और 2016 के बीच में भारत में कैंसर पीड़ितों की संख्या 28 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है लेकिन खुशी की बात है कि Biomedical Research में विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय और वेलकम ट्रस्ट के बीच साझेदारी मजबूत हुई है और इस क्षेत्र में तेजी के काम हो रहे हैं।

इस मौके पर भारत सरकार के प्रमुख वैज्ञानिक सलाहकार प्रोफेसर के विजयराघवन, बॉयोटेकनोलॉजी विभाग की सचिव रेणु स्वरूप और वेकलम ट्रस्ट के डायरेक्टर डॉ जेरेमी फरार समेत कई गणमान्य लोग मौजूद थे।