Unprecedented work has taken place in environment, climate change: Dr Harsh Vardhan


पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में अभूतपूर्व काम हुए : डॉ हर्ष वर्धन



केंद्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री, पृथ्वी विज्ञान और पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज नई दिल्ली में India Spearheading Climate Solution नामक Coffee Table Book का विमोचन किया। इस किताब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में हो रहे कार्यों से संबंधित विस्तृत जानकारी समाहित की गई है।



नई दिल्ली ( 12 फरवरी, 2019): केंद्रीय विज्ञान व प्रौद्योगिकी मंत्री, पृथ्वी विज्ञान और पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने आज नई दिल्ली में India Spearheading Climate Solution नामक Coffee Table Book का विमोचन किया। इस किताब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पर्यावरण, वन और जलवायु परिवर्तन मंत्रालय द्वारा जलवायु परिवर्तन के क्षेत्र में हो रहे कार्यों से संबंधित विस्तृत जानकारी समाहित की गई है।

New Delhi, 12 February, 2019: Union Minister for Science and Technology, Earth Sciences, Forest, Environment and Climate Change, Dr Harsh Vardhan today launched a coffee table book on India Spearheading Climate Solution, here. This book contains works done under the leadership of Prime Minister Narendra Modi on environment, forest, climate change.

इस मौके पर केंद्रीय मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि वित्तीय समावेशन, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया मिशन से लेकर सॉयल हेल्थ कार्ड और स्टार्ट अप इंडिया समेत तमाम क्षेत्रों में पिछले साढ़े 4 साल में अभूतपूर्व काम हुए हैं। उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने के लिए ई-मोबिलिटी, ग्रीन ट्रांसपोर्टेशन, रिन्यूबल एनर्जी, वेस्ट मैंनेजमेंट, वनीकरण जैसे विभिन्न क्षेत्रों में कई नई नीतियां और पहल की गई है। अक्षय ऊर्जा के बढ़ते उपयोग का प्रभाव अब भारत में दिखाई दे रहा है। हम एक कार्य योजना के माध्यम से पेरिस समझौते के लक्ष्यों की दिशा में काम कर रहे हैं। 2022 तक 175 गीगावाट क्लीन एनर्जी में से हमलोग 70-75 फीसदी लक्ष्य को प्राप्त कर चुके हैं।

On this occasion, Union Minister Dr. Harsh Vardhan said that unprecedented work has been done in the last more than years in all the areas including Financial Inclusion, Skill India, Digital India Mission, Soil Health Card, and Start-Up India. He said in order to reduce the impact of climate change, several new policies and initiatives have been undertaken in different areas like e-mobility, green transport, renewable energy, waste management, afforestation. Effect of the growing use of renewable energy is now visible in India. We are working towards the goals of the Paris Convention through an action plan. By 2022, we will achieve 70-75% of the target of 175-gigawatt clean energy.

उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन आज दुनिया के सामने सबसे बड़ी चुनौती है। इस क्षेत्र में भारत के योगदान और भूमिका को आज पूरे विश्व में सराहा जा रहा है। भारत सकारात्मक तरीके से इस दिशा में तेजी से काम कर रहा है। COP-24 के लेकर तमाम अंतर्राष्ट्रीय मंचों पर भारत ने खुद और विकासशील देशों की बातों को मजबूती से रखने का काम किया है।

He said climate change is the biggest challenge facing the world today.India's contribution and role in this field is being appreciated all over the world. India is positively working fast in this direction.From the COP-24 to several other international forums, India has worked hard to keep things in right perspective on environmental issues.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि हम सभी जानते हैं कि जलवायु परिवर्तन एक वैश्विक समस्या बन गई है। दुनिया भर में जलवायु में निरंतर परिवर्तन हमारे पर्यावरण और समाज के लिए खतरा बन रहा है लेकिन मैं मानता हूं कि हर समस्या का समाधान है बस इसे खोजने की जरूरत है।

The Union Minister said that we all know that climate change has become a global problem. Constant change in the climate across the world is posing a threat to our society, but I believe that there is a solution to every problem.