23 नवंबर 2019: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण, विज्ञान और प्रौद्योगिकी और पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन आज दिल्ली के अशोक विहार में मांगेराम गर्ग की जयंती पर आयोजित एक रक्तदान शिविर में शामिल हुए। कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज हम लोग महान योगी, तपस्वी कार्यकर्ता की जयंती पर उनको स्मरण कर रहे हैं और उनका यह दिन रक्तदान शिविर के रूप में मना रहे हैं। मैं गर्ग परिवार को बधाई देता हूँ जिन्होंने एक चैरिटेबल ट्रस्ट बनाकर गर्ग जी की पवित्र स्मृति को जीवित रखने का प्रयास किया है ।



डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि 25 साल पहले जब हमने देहदान समिति बनाई थी तो श्री नानाजी देशमुख की उपस्थिति में, मैंने अपनी पत्नी के साथ देहदान का संकल्प लिया था। इसके बाद मांगेराम गर्ग जी ने भी देहदान का संकल्प लिया था जिसकी सुगंध की अनुभूति आज मुझे यहां पर हो रही है। उन्होंने कहा कि देहदान की गई एक-एक बॉडी पर 8 मेडिकल स्टूडेंट एक साल तक काम करते हैं, तो एक प्रकार से हमारा देहदान 8 डॉक्टरों के बनने में योगदान करता है। उन्होंने कार्यक्रम में मौजूद लोगों से कहा कि वो भी मानवता के हित में देहदान का संकल्प लें।

पुरानी बातों को याद करते हुए केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि मांगेराम गर्ग जी ने सेवा व धर्म के लिए बहुत काम किए । उनके जीवन में समाज के लिए काम करना, मानव कल्याण के लिए समर्पित होना, धर्म के मूल्यों को समाज के लिए पुनर्स्थापित करना व उनकी रक्षा करने जैसे कई प्रकार के संकल्प थे । उन्होंने कहा कि अगर हम उनके जीवन का ठीक से विश्लेषण करेंगे तो सामने आएगा की गर्ग जी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के एक सच्चे स्वयंसेवक के तौर पर समाज जीवन के हर क्षेत्र में अपने कार्यों से अमिट छाप छोड़ी । डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि 2025 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के 100 वर्ष पूरे हो रहे हैं और हमें श्री मांगेराम गर्ग जी के जीवन से प्रेरणा लेकर संघ द्वारा स्थापित लक्ष्यों को पूरा करने का प्रयास करना चाहिए। उन्होंने कहा कि मांगेराम गर्ग जी की पवित्र स्मृति को नमन् । अगर इस कार्यक्रम से हम उनके जीवन से सीख लेकर आगे बढ़ें तो मैं समझता हूँ कि ये कार्यक्रम की बड़ी सफलता होगी।