3 फरवरी,2020: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण,विज्ञान एवं प्रोद्योगिकी तथा पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्ष वर्धन आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के साथ कड़कड़डूमा में आयोजित महासंकल्प रैली में सम्मिलित हुए । इस रैली में भाजपा की दिल्ली इकाई के अध्यक्ष श्री मनोज तिवारी जी के अलावा सांसद गौतम गंभीर पूर्वी दिल्ली और उत्तर पूर्वी दिल्ली लोकसभा क्षेत्र में आने वाली 20 विधानसभाओं के भाजपा उम्मीदवार, पार्टी पदाधिकारी और कार्यकर्ता तथा विशाल संख्या में आमजन मौजूद थे। महासंकल्प रैली स्थल कड़कड़डूमा का सीबीडी ग्राउंड मोदी-मोदी के नारों से गुंजायमान हो रहा था।



डॉ हर्ष वर्धन ने अपने सम्बोधन में कहा कि मैं आपको स्मरण दिलाना चाहता हूँ कि दिल्ली में एक निष्क्रिय सरकार होते हुए भी दिल्ली के विकास की चिन्ता भाजपा की सकारात्मक सोच को दर्शाती है। उन्होंने कहा कि दिल्ली के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी की सरकार ने एक लाख से सवा लाख करोड़ रूपये की लागत की परियोजनाएं शुरू कीं जिनमे से कुछ पूरी होने चुकी हैं और कुछ पर काम अंतिम चरण में है।

उन्होंने कहा कि श्री मोदी जी ऐसे पहले प्रधानमंत्री हैं जिन्होंने ईस्ट दिल्ली को एक हब बनाने का विचार किया और उस पर अमल करते हुए उन्होंने इसी कड़कड़डूमा में एक हब का निर्माण करने के लिए 1400 करोड़ रुपये मंजूर किये हैं । इसके अलावा मथुरा रोड और भैरों मार्ग के नीचे बनने वाली टनल से पचास पचास हज़ार वाहनों का आवागमन रोड से न होकर इन टनल से होगा और सड़क से ट्रैफिक जाम की समस्या खत्म हो जाएगी।

डॉ हर्ष वर्धन ने कहा कि इस तरह की एक लम्बी सूची है और आप लोगों का उल्लास देखकर ये स्पष्ट' संकेत मिल रहा है कि आप लोग दिल्ली में भाजपा की सरकार बनाने जा रहे हैं।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि कुछ लोग राजनीति बदलने आए थे लेकिन अब उनका नकाब अब उतर चुका है। उनका असली रंग, रूप, और मकसद, उजागर हो गया है। आपको याद होगा जब सर्जिकल स्ट्राइक हुई थी, तब इसी दिल्ली में देश की सेना, हमारे वीर जवानों को कठघरे में खड़ा कर दिया गया था।

प्रधानमंत्री जी ने कहा कि दिल्ली हो या देश का कोई दूसरा कोना, बिहार के लोग हर क्षेत्र में सर्वोत्तम करते मिलेंगे लेकिन उनसे भी ऐसी नफरत हो रही है। बिहार और पूर्वांचल के लोगों के लिए केजरीवाल सरकार की दुर्भावना देखकर, दर्द होता है दिल में । उन्होंने कहा कि बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश बाबू कल कह रहे थे कि पटना से आने वाली बसों को दिल्ली में आने की अनुमति देने से ही मना कर दिया गया है। बिहार के लोगों के लिए, पूर्वांचल के लोगों के लिए ये कैसा पूर्वाग्रह है, जो इस तरह के फैसले करवाता है?

श्री मोदी जी ने कहा कि अफसोस है कि दिल्ली के लोगों के साथ स्वास्थ्य जैसे गंभीर विषय में भी राजनीति की गई है। दिल्ली में आयुष्मान भारत योजना को लागू ही नहीं होने दिया जा रहा।

प्रधानमंत्री जी ने कहा कि दिल्ली और देश के अन्य शहरों में प्रदूषण की स्थिति से निपटने के लिए भी केंद्र सरकार गंभीरता से प्रयास कर रही है। उन्होंने बताया कि इस साल के बजट में 4,400 करोड़ रुपए शहरों में प्रदूषण को कम करने के लिए रखे गए हैं।

श्री मोदी जी ने कहा कि उद्योग के विस्तार का और रोजगार के नए अवसर बनाने का सीधा संबंध आधुनिक इंफ्रास्ट्रक्चर से है। प्रधानमंत्री जी ने कहा कि अगले 5 साल में 100 लाख करोड़ रुपए से अधिक का इंफ्रास्ट्रक्चर देश में बनाया जाएगा। इसमें हाईवे, एक्सप्रेसवे, वॉटरवे, मेट्रो रूट, नए एयरपोर्ट जैसी सुविधाएं होंगी।