20 July, 2019: Dr Harsh Vardhan (Union Minister for Health & Family Welfare) inaugurated the 13th AAPI-Global Healthcare Summit in Hyderabad on 21 July, 2019. Dr Suresh Reddy, President of ‘American Association of Physicians of Indian Origin (AAPI)’ and other AAPI members organized a medical conference wherein more than 100 world renowned experts and speakers were present. Discussions on the most recent advances in the field of medical technology and ways to provide opportunities to all medical professional in India were held in the Summit. Dr Harsh Vardhan also stressed on the need for AAPI doctors to acquire new skills, learn new techniques and exchange best practices for improving the health services in India. Telangana state’s Health Minister Eatela Rajender was also present at the event.



20 जुलाई, 2019: केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, पृथ्वी विज्ञान और स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ हर्ष वर्धन ने रविवार को हैदराबाद में 13वें ग्लोबल हेल्थकेयर समिट कार्यक्रम का उद्घाटन किया। एएपीआई(यूएसए) के अध्यक्ष डॉ सुरेश रेड्डी और एएपीआई के सदस्यों ने इस चिकित्सा सम्मेलन का आयोजन किया जहां 100 से अधिक विश्व प्रसिद्ध विशेषज्ञ और वक्ता मौजूद थे। 13 वें ग्लोबल हेल्थकेयर समिट के उद्घाटन के मौके पर तेलंगाना के स्वास्थ्य मंत्री ईटेला राजेंदर भी मौजूद थे। सम्मेलन में भारत में सभी चिकित्सा पेशेवर के लिए अविश्वसनीय अवसर प्रदान करने के लिए नवीनतम व अग्रिम तरीके की स्वास्थ्य सेवा, इस दौरान शिखर सम्मेलन में चर्चा का प्रमुख विषय था। देश में स्वास्थ्य सेवाओं में सुधार के लिए सर्वोत्तम प्रथाओं का आदान-प्रदान करने, नए कौशल हासिल करने और नई तकनीकों को सीखने के लिए पहल की गई।



Dr Harsh Vardhan emphasised on the Modi government’s firm resolve to eliminate Tuberculosis from India by 2025. He urged AAPI members to contribute to PM Narendra Modi Ji’s vision of gifting a ‘New India’ in 2022 to people in the country by adopting all Health and Wellness Centres in India. He assured the AAPI team of highest level of collaboration and strong support in helping it in substantially improving the 'health services' offered in the country. He also assured the AAPI doctors of making a single-window approach, which would help them in devoting their time & other resources in solving the complex challenges that the Indian health sector faces.

इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन ने भारत में विभिन्न विकास कार्यक्रमों पर चर्चा करते हुए कहा कि हम 2025 तक देश से तपेदिक को खत्म करना चाहते थे। डॉ हर्षवर्धन ने स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य करने पर जोर देते हुए AAPI के सदस्यों से प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के 2022 तक भारत को न्यू इंडिया बनाने के सपने को साकार करने के लिए सभी स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों को अपनाकर उनमें सहयोग करने की अपील की। उन्होंने देश में प्रस्तावित स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में मदद करने के लिए AAPI टीम को उच्चतम स्तर के सहयोग और समर्थन का आश्वासन दिया। स्वास्थ्य मंत्री ने डॉक्टरों के लिए एकल खिड़की दृष्टिकोण बनाने की बात कही जो भारत को अपना समय देना चाहते हैं।

AAPI is working with the top leading Trauma and Brain Injury experts in the India Advisory Council with more than 40 National and International experts, representing the Government and NGOs, both private and public.

AAPI भारत के शीर्ष ट्रामा और ब्रेन इंजरी विशेषज्ञों के साथ काम कर रहा है, जिसमें 40 से अधिक राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय विशेषज्ञ हैं, जो सरकारी और गैर सरकारी संगठनों का प्रतिनिधित्व करते हैं।