केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी व पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ हर्षवर्धन आज आज दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में प्रवासी उड़िया विकास समीति द्वारा आयोजित 6वां उड़िया प्रवासी मिलन समारोह में शामिल हुए।




लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इससे पहले भी कई बार मुझे आपके कार्यक्रमों में आने का मौका मिला। ओडिशा हमारे देश का एक प्रमुख प्रांत है और पूर्व में इसने समय समय पर कई तकलीफें भी सही हैं। 1999 में तो राज्य को काफी बड़े तूफान से दो-चार होना पड़ा था लेकिन 1999 और आज के समय में इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं के अनुमान लगाने में काफी अंतर आ गया है।



उन्होंने कहा कि मेरा पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय इस तरह की प्राकृतिक आपदाओं का समय से काफी पहले अनुमान लगाने में कामयाब हुआ है, जिससे जान-माल के नुकसान को कम करने में सफलता मिली है।

इस अवसर पर डॉ हर्षवर्धन ने कहा कि आज यहां ओडिशा के कई महानुभावों को सम्मानित किया जा रहा है, जिन्होंने देश, समाज और मानव कल्याण के लिए नि:स्वार्थ भाव से काम किए हैं। मैं उनको शुभकामनाएं देता हूं। उन्होंने कहा कि हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी ने देश में एक नई प्रथा शुरू की है। पहले देश के प्रतिष्ठित सम्मान पद्मश्री, पद्मभूषण व पद्मविभूषण जैसे पुरस्कार अधिकतर उन व्यक्तियों को मिलते थे जिनकी पहुंच होती थी या जिनके बड़े लोगों के साथ संबंध होते थे लेकिन प्रधानमंत्री मोदी जी ने ऐसे लोगों को खोजकर ये प्रतिष्ठित पुरस्कार दिए जिनकी कोई पहचान नहीं थी लेकिन जिन्होंने समाज और देश हित में अपनी जिंदगी खपा दी। मैंने कहा कि हमारी सरकार ने पिछले कुछ वर्षों में जिन लोगों को देश के बडे पुरस्कार दिए हैं उनकी कहानियां और उनके द्वारा किए गए कार्यो को पढ़कर हमें प्रेरणा मिलती है।

कार्यक्रम में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि कल जनसंघ के संस्थापक डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी की जन्म जयंती से भारतीय जनता पार्टी ने देशभर में सदस्यता अभियान की शुरूआत की है। मैं आपलोगों से अपील करता हूं कि बीजेपी की सदस्यता लेकर दुनिया की सबसे बड़े परिवार के सदस्य बनें।