Dr Harsh Vardhan greets Muslim brothers during Ramzan month


Science & Technology Minister Dr Harsh Vardhan greeted Muslim brothers on Ramzan. Participating in Iftar Parties held to mark the holy month of Ramzan, at Daryaganj, he greeted Muslim brethren from the walled city and wished them peace and prosperity. The Imam of Jama Masjid Syed Ahmed Bukhari was also present on the occasion.


New Delhi: Science & Technology Minister Dr Harsh Vardhan greeted Muslim brothers on Ramzan. Participating in Iftar Parties held to mark the holy month of Ramzan, at Daryaganj, he greeted Muslim brethren from the walled city and wished them peace and prosperity. The Imam of Jama Masjid Syed Ahmed Bukhari was also present on the occasion.

नई दिल्ली: केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी पर्यावरणवन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने रमजान पर मुस्लिम भाइयों को मुबारकबाद दी। चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र के दरियागंज में आयोजित इफ्तार पार्टी में उन्होंने शिरकत की और शांति एवं समृद्धि की कामना की। इफ्तार पार्टी में जामा मस्जिद के शाही इमाम मौलाना सैयद अहमद बुखारी भी शामिल थे।

During his brief interaction, Dr Harsh Vardhan expressed his gratitude to the organisers, who invited people from diverse faith, diverse philosophies and urged them to work towards peace and prosperity of the nation.

इस इफ्तार पार्टी में केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने तमाम लोगों से बातचीत की। विभिन्न मतों में आस्था रखने वाले लोगों को भी इफ्तार पार्टी में आमंत्रित करने लिए उन्होंने आयोजक मंडल का आभार व्यक्त किया और आग्रह किया कि सभी लोग मिलकर देश की समृद्धि एवं शांति के लिए कार्य करें।

At India Islamic Cultural Centre, a large number of bureaucrats and diplomats attended the Iftar. Amongst the diplomats were US Ambassador to India Kenneth Juster, Pakistan High Commissioner Sohail Mahmood, Malaysian High Commissioner Dato’ Hidayat Abdul Hamid, Indonesian Ambassador Sidharto Reza Suryodipuro besides envoys from Jordan, Morocco, Egypt, Iran, Iraq, Bahrain, Qatar and Sudan.

इसके साथ ही उन्होंने इंडिया इस्लामिक सांस्कृतिक केंद्र में आयोजित इफ्तार पार्टी में भी हिस्सा लिया। इस पार्टी में काफी संख्या में ब्यूरोक्रेट्स और राजनयिक शामिल थे। भारत में अमेरिकी राजदूत केनेथ जस्टरपाकिस्तान उच्चायुक्त सुहेल महमूदमलेशिया के उच्चायुक्त दतो हिदायत अब्दुल हामिदइंडोनेशिया के राजदूत सिद्धार्टो रेजा सूर्योदयपुरो सहित जॉर्डनमोरक्को,  इजिप्ट,  ईरान,  इराक,  बहरीन,  कतर,  सूडान के राजनयिक शामिल थे।

India Islamic Cultural Centre was set up to promote mutual understanding and amity among diverse faith on the cardinal principle of human values. India is home to 2nd largest Muslim population in the world and religious tolerance is the bedrock of our culture.

ज्ञात हो कि इंडिया इस्लामिक सांस्कृतिक केंद्र की स्थापना मानव मूल्यों के मुख्य आधार पर विविध मतों के बीच पारस्परिक समझ और आपसी मेल-जोल को बढ़ावा देने के लिए किया गया था। जनसंख्या की दृष्टिकोण से भारत दुनिया का दूसरा बड़ा मुस्लिम देश है और धार्मिक सहिष्णुता भारतीय संस्कृति का मूल आधार है।