Dr Harsh Vardhan gives away Matri Shree Media Awards


The awards were given to 26 journalists from print, electronics and digital media, besides photo journalists and a cartoonist. Akshay Kumar’s ‘Toilet-Ek Prem Katha’ was adjudged the best film by the award organisers.


New Delhi – Science & Technology Minister Dr Harsh Vardhan has given away the 43rd Annual Matri Shree Media Awards on Sunday (May 13). The awards were given to 26 journalists from print, electronics and digital media, besides photo journalists and a cartoonist. Akshay Kumar’s ‘Toilet-Ek Prem Katha’ was adjudged the best film by the award organisers.

नई दिल्ली केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने रविवार को प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और डिजिटल मीडिया के पत्रकारों के साथ ही फोटो जर्नलिस्ट और कार्टूनिस्ट को 43वां सालाना मातृश्री अवार्ड से नवाजा। इस मौके पर अभिनेता अक्षय कुमार की फिल्म टॉयलेट एक प्रेम कथा को बेस्ट फिल्म घोषित किया गया।  

Addressing the gathering on the occasion, Dr Harsh Vardhan remarked journalists had shown tremendous courage and some even went to jail in the face of pressure.

“Journalists have discharged their responsibilities in adverse situations like Emergency and showed tremendous courage without compromising the power of pen and kept the nation updated and sensitised the people. Many journalists also went to jail, some for a few months, some for the entire period of 19 months of emergency,” said Dr Harsh Vardhan.

कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पत्रकारों ने विषम परिस्थितियों में भी अपना साहस और धैर्य नहीं खोया। उन्होंने आपातकाल का जिक्र करते हुए कहा कि कई पत्रकार जेल भी गए, लेकिन दबाव के आगे घुटने नहीं टेके। उनकी कलम चलती रही और वे लगातार लोगों को जागरूक करते रहे। कई तो कुछ महीने के लिए जेल गए और कुछ तो आपातकाल के पूरे 19 महीने तक जेल में कैद रहे।

The minister said, while uncovering social evils, journalists should also highlight the contribution of unsung heroes, who inspire the society. Referring to his tenure as health minister in the Delhi government during the 90s, Vardhan said the media played a positive role in the campaign to eradicate polio.

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि समाज की बुराइयों को उजागर करते हुए पत्रकारों को समाज को प्रभावित करने वाले मौन अनाम समाजसेवियों के योगदानों को भी प्रकाश में लाना चाहिए। 90 के दशक में दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री के तौर पर अपने कार्यकाल का जिक्र करते हुए डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि उस दौरान पोलियो उन्मूलन के अभियान में मीडिया की बड़ी सकारात्मक भूमिका रही।   

Dr Harsh Vardhan said Prime Minister Narendra Modi's initiatives such as the 'Jan Dhan Yojana' and 'Swachh Bharat' had greatly contributed towards improving people's lives. The government had worked with zeal to take Internet to the rural masses, he said.

डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'जनधन योजना' और 'स्वच्छ भारत अभियान' ने लोगों के जीवन स्तर को सुधारने में अहम भूमिका निभाई है। सरकार सुदूर गांवों को भी इंटरनेट से जोड़ने का तेजी से काम कर रही है।

Dinesh Sharma, one of the organisers of the event, said the award was instituted to honour the "fighting spirit of journalists" during the Emergency period. Each journalist was given a Bharat Mata Shield and a certificate.

Chairperson of Senior Citizens Kesri Club Kiran Chopra presided over the function.

कार्यक्रम के आयोजकों में शामिल दिनेश शर्मा के मुताबिक यह आपातकाल के दौरान पत्रकारों के संघर्ष को सम्मानित करने के उद्देश्य से शुरू हुआ था। इस कार्यक्रम में कार्टूनिस्ट सहित 26 पत्रकारों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता सिटिजन केसरी क्लब की चेयरपर्सन किरण चोपड़ा ने की।


(For more photos/videos go to photo albums/video gallery)