Dr Harsh Vardhan calls for a plastic-free India


Addressing a round table on Plastic Pollution in Mumbai on Thursday (May 31), he cited the example of Pulse Polio Campaign, which skeptics had discouraged. He said, what had started with half a dozen activists finally developed into a national movement, resulting in complete elimination of polio from India.


Mumbai – Environment, Forest & Climate Change Minister Dr Harsh Vardhan has urged people from all walks of life, media, NGOs, Corporates to take forward the campaign to reduce the use of plastic. Addressing a round table on Plastic Pollution in Mumbai on Thursday (May 31), he cited the example of Pulse Polio Campaign, which skeptics had discouraged. He said, what had started with half a dozen activists finally developed into a national movement, resulting in complete elimination of polio from India.

मुंबई। बीटिंग प्लास्टिक पॉल्यूशनको लेकर केंद्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी सह पृथ्वी विज्ञान मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन के नेतृत्व में एक परिचर्चा का आयोजन किया गया। मुंबई में गुरुवार को आयोजित इस चर्चा में यूनाइटेड नेशन पर्यावरण कार्यक्रम के कार्यकारी निदेशक एरिक सोलेम सहित तमाम पर्यावरणविद् शामिल थे। इस मौके पर महाराष्ट्र सरकार, यूनाइटेड नेशन और सीआईआई के प्रतिनिधियों ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

The round table was attended by UN Environment Progamme’s Chief Erik Solheim, representatives of Maharashtra government and CII were present on the occasion. The roundtable was held in the run up to the World Environment Day on June 05. India is the global host for this year’s edition of WED and its theme is “Beat Plastic Pollution.”  

चर्चा को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री डॉ. हर्ष वर्धन ने कहा कि कुछ भी असंभव नहीं है। प्लास्टिक मुक्त समाज बनाने के लिए हम सभी को आगे आना होगा। प्लास्टिक मुक्त भारत बनाने के लिए हम सभी के पास क्षमता है। उन्होंने आह्वान किया कि पर्यावरण बचाने की मुहिम में व्यक्ति, समाज, संस्थाएं, मीडिया, एनजीओ, कारपोरेट जगत सभी आगे आएं। उन्होंने कहा कि मिशन मोड में यदि एक साथ मिलकर काम किया जाए तो प्लास्टिक मुक्त भारत के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सकता है।

Every year, the world produces around 300 million tons of plastic and, about 10 million tonnes of that plastic winds up in our oceans. Plastic debris in the sea kills an estimated 100,000 marine mammals annually, and millions of birds and fishes. According to UN Joint Group of Experts on the Scientific Aspects of Marine Pollution, land-based sources account for up to 80 per cent of the world’s marine pollution, 60 to 90 per cent of the waste being plastic debris.

केंद्रीय मंत्री ने अपने पोलियो उन्मूलन अभियान को याद करते हुए कहा कि आज से 25 साल पहले 1993 की बात है, तब मैं दिल्ली का स्वास्थ्य मंत्री बना था और उस समय मुझे पता चला कि पोलियो ग्रस्त मरीजों की एक बड़ी आबादी भारत में है। पोलियो अभियान के सूत्रपात का जिक्र करते हुए उन्होंने बताया कि इस अभियान की शुरुआत के समय महज पांच लोग थे, लेकिन धीरे-धीरे पूरा देश इससे जुड़ गया और आखिरकार देश पोलियो मुक्त बन गया।