चांदनी चौक क्षेत्र में कराए गए विकास कार्यों का विवरण

प्रधानमंत्री की योजनाओं का प्रचार-प्रसार व क्रियान्वयन

प्रधानमंत्री जनधन योजना

चाँदनी चौक संसदीय क्षेत्र में स्थित लाल किले के प्राचीर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनेक योजनाओं के साथ ही जनधन योजना की घोषणा 15 अगस्त 2014 को की थी। मेरे संसदीय क्षेत्र के अधिकतम लोगों तक उन योजनाओं का लाभ पहुंचे, इसके लिए मैं सदैव तत्पर हूँ।

प्रधानमंत्री जनधनयोजना की जानकारी चाँदनी चौक संसदीय क्षेत्र के जन-जन तक पहुंचे, इसके लिए हमने अनेक सामाजिक कार्यक्रर्मों/बैठकों और नुक्कड़ नाटकों का आयोजन किया। सरकार की इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए हमने भारी संख्या में क्षेत्रवासियों का बैंक में खाता खुलवाया। इसमें बहुत से लोग ऐसे थे, जिन्होंने जीवन पहली बार बैंक में खाता खोला था।

सुकन्या समृद्धि खाता

इस योजना को अपने संसदीय क्षेत्र के घर-घर तक पहुँचाने के लिए हमने भाजपा कार्यकर्ताओं, सामाजिक, धार्मिक और गैर-सरकारी संगठनों के माध्यम से विविध कार्यक्रम का आयोजन किया।भारी संख्या में क्षेत्र के जरूरतमंद परिवारों ने इसका लाभ लिया।

प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना

जनसरोकार की इस योजना को जन-जन तक पहुंचाने के लिए अपने संसदीय क्षेत्र में स्थित शक्तिनगर और अन्य स्थानों पर मेलों का आयोजन किया और उद्योग लगाने के इच्छुक लोगों को ऋण लेने के सुगम मार्गों से अवगत कराया।

प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना और सुरक्षा बीमा योजना

इन योजनाओं को अपने संसदीय क्षेत्र चाँदनी चौक के जन-जन तक पहुँचाने के लिए हमने कई स्थानों पर कार्यक्रम का आयोजन किया। अन्य माध्यमों से लोगों तक यह जानकारी प्रसारित करने का प्रयत्न किया। एक मुहिम के तौर पर इस योजना को लेते हुए हमने इसे जनता के बीच पहुंचाया। मेरा आंकलन है कि इस योजना को भारी संख्या में मेरे क्षेत्र के निवासियों ने अपनाया है।

अल्पसंख्यक समुदाय की महिलाओं को रक्षाबंधन के दिन अपने आवास पर आमंत्रित कर सुरक्षा बीमा योजना प्रदान किया, जिसके प्रीमियम का मैंने स्वयं भुगतान कर उन्हें सुरक्षा बीमा योजना के रूप में व्यक्तिगत उपहार दिया। उन सबसे मैंने आग्रह किया कि वे इन बीमा योजनाओं के बारे में अपने परिचितों, पड़ोसियों एवं रिश्तेदारों को भी बताएं।

अटल पेंशन योजना

इस योजना को मैंने अपने संसदीय क्षेत्र में गैर-सरकारी संगठनों के माध्यम से आम लोगों को अवगत कराया है। विशेषकर क्षेत्र के वरिष्ठ नागरिकों को इस पेंशन योजना का लाभ कैसे प्राप्त हो सके, उसके लिए शिविरों का आयोजन किया।

समाज कल्याण विभाग से पेंशन/आर्थिक सहायता दिलाने हेतु फार्मों का अनुमोदन

मैंने अपने कार्यालय से लगभग 6640 (छह हजार छह सौ चालीस) पेंशन/आर्थिक सहायता संबंधी आवेदन-पत्र को संस्तुति प्रदान करके आगे की कार्यवाही हेतु दिल्ली सरकार के समाज कल्याण विभाग को भेजा है। वृद्धावस्था पेंशन के 3130 फार्म, दिव्यांग पेंशन के 443 फार्म, दिल्ली पारिवारिक लाभ योजना के 272 फार्म, विधवा/निराश्रित महिलाओं के लिए आर्थिक सहायता के 2407 फार्म, विधवा की पुत्री/अनाथ कन्या के विवाह हेतु आर्थिक सहायता के 195 फार्म तथा तलाक सहायता के 76 फार्म भेजे हैं। दिव्यांग और विधवा पेंशन के भेजे गए फार्म के फलस्वरूप अधिकांश लोगों की पेंशन प्रारम्भ हो गई है। विधवा की पुत्री/अनाथ कन्या के विवाह हेतु भेजे गए आर्थिक सहायता के फार्मों के आधार पर काफी लोगों को आर्थिक सहायता मिल चुकी है।

सांसद आदर्श ग्राम योजना

इस योजना के अंतर्गत पहले दो वर्षों तक मैंने अपने संसदीय क्षेत्र के ‘धीरपुर गांव’ को गोद लिया। धीरपुर गांव के सर्वांगीण विकास के लिए स्थानीय लोगों के साथ विचार-विमर्श कर एक कार्ययोजना बनाई।

धीरपुर गांव में अनेक नए विकास कार्य संपन्न हुए हैं। प्रमुख विकास कार्यों का विवरण इस प्रकार हैः

  • अम्बेडकर चैपाल का पुनर्विकास।
  • कोरोनेशन पार्क का विकास।
  • एक करोड़ की लागत से एम.सी.डी स्कूल का जीर्णोद्धार।
  • श्मशान घाट, चौपाल, पार्क तथा शिव मंदिर व अन्य सार्वजनिक स्थानों पर बेंच की व्यवस्था कराई गई।
  • नए पंप हाउस का निर्माण।
  • सांसद निधि से 92,52,000 रुपए की लागत से धीरपुर गांव स्थित श्मशान घाट का समुचित विकास कराया गया।
  • दूसरे वर्ष में दिल्ली के एक और गांव ‘घोगा’ को गोद लिया। घोगा गांव में भी न केवल अपने सांसद कोष से बल्कि दिल्ली सरकार के विभिन्न विभागों, दिल्ली नगर निगम और डीडीए आदि के माध्यम से अनेक विकास कार्य संपन्न हुए हैं, जो इस प्रकार हैं-

  • 5 लाख रुपए की लागत से मेन बस स्टैंड, चौपाल, मंदिर, श्मशान घाट सहित गांव के प्रमुख स्थानों पर लोगों के बैठने हेतु 87 बेंच की व्यवस्था कराई गई है।
  • पार्कों के पुनरोद्धार के लिए सांसद निधि से 53,35,000/- रुपए की धन राशि प्रदान की गई।
  • 117,98,800 रूपए की लागत से मुख्य मार्गों पर 7 सेमी. हाईमास्ट पोल एल.ई.डी लाईट का कार्य संपन्न कराया।
  • घोघा गांव में जोहड़ विकसित करने के लिए मेरे निर्देशोपरांत बाढ़ एवं सिंचाई विभाग, दिल्ली सरकार द्वारा कार्यवाई प्रारंभ।

    अब वर्तमान में मैंने नरेला के पास स्थित सिंघोला गांव को गोद लिया है। इस गांव के समुचित विकास हेतु कार्य योजना प्रगति पर है।

    कौशल विकास योजना

    युवाओं के कौशल को निखारने वाली इस योजना के अंतर्गत चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में पांच प्रशिक्षण केंद्रों को खोला गया है। वॉल्ड-क्षेत्र में इस तरह के प्रशिक्षण केंद्र उपयुक्त स्थान न होने के कारण नहीं खुल पा रहे थे। अतः मैंने देश के गृहमंत्री से अनुरोध किया कि वे दिल्ली पुलिस के आयुक्त को निर्देश दें कि ये प्रशिक्षण केन्द्र थानों में खोलें जाएं। गृहमंत्री ने दिल्ली पुलिस आयुक्त को निर्देश दिया तथा पांच पुलिस थानों में यह केंद्र स्थापित हुए हैं। उन पांच पुलिस थानों में से तीन पुलिस थाने मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं। ये थाने-जामा मस्जिद, आनंद पर्वत और पहाड़गंज हैं।

    जामा मस्जिद पुलिस स्टेशन स्थित कौशल विकास केंद्र में FTNS (Field Technician Networking and Storage) तथा RM (Retail Management) कोर्स को कराए जा रहे हैं। आनंद पर्वत में कौशल विकास के अंतर्गत युवतियों को ब्यूटी पार्लर का कोर्स कराया जा रहा है। पहाड़गंज में पैरा मेडिकल (लैब टेक्निीशियन आदि) का कोर्स कराया जा रहा है।

    डिजिटल इंडिया

    डिजिटल इंडिया के अंतर्गत अनेक कार्यक्रमों का आयोजन देश के विभिन्न भागों में करने के साथ-साथ मैंने अपने संसदीय क्षेत्र में व्यापक स्तर पर किया। नकदी रहित अर्थ-व्यवस्था (कैशलेस अर्थ-व्यवस्था) के प्रति आम जनता को जागरूक करने तथा इसके प्रोत्साहन हेतु अपने मंत्रालय के सहकर्मियों, भाजपा-चांदनी चौक जिले के जिला पदाधिकारियों, मंडल एवं बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ बैठक की तथा कैशलेस की जानकारी दी। दिल्ली के विभिन्न व्यापारिक क्षेत्रों जैसे एशिया की सबसे बड़ी फल एवं सब्जी मंडी आजाद पुर, चांदनी चौक, नई सड़क, चावड़ी बाजार, हौज काजी, अजमेरी गेट, शहरीकृत गांव हैदरपुर, शाहीपुर, शालीमार बाग, तोताराम बाजार तथा त्रिनगर का दौरा किया तथा व्यापारियों को व्यापारिक लेन-देन हेतु कैशलेस व्यवस्था को उपयोग में लाने के लिए प्रेरित किया।

    झुग्गी-बस्तियों से लगभग 500 व्यक्तियों को अपने निवास पर आमंत्रित कर उन्हें नुक्क्ड़ नाटक एवं प्रजेन्टेशन के माध्यक से ई-वॉलेट, डेबिट और क्रेडिट कार्ड, नेट बैंकिंग आदि के इस्तेमाल के बारे में जानकारी उपलब्ध कराई तथा नकद रहित लेन-देन के विकल्पों एवं उससे होने वाले लाभ के बारे में भी जानकारी दी गई। सराय पीपल थला एवं महेन्द्रा पार्क- संजय नगर में देना बैंक के सहयोग से दो दिन कैंप लगाकर 240 नए खाते खोले गए।

    डिजिटल इंडिया के तहत मेरे मंत्रालय के कर्मचारियों ने इस ओर कदम बढ़ाया और सभी ने अपने कार्ड बनवाए। अपने संसदीय क्षेत्र में कई बैठकें और पदयात्रा कर आम लोगों को प्रधानमंत्री की इस योजना से अवगत कराया, जिसका विवरण निम्न है:

  • चांदनी चौक के टाउन हॉल में नकदी रहित लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए कार्यशाला एवं नुक्कड़ नाटक का आयोजन किया गया ।
  • चांदनी चौक की गलियों में नोटबंदी के समर्थन में मार्च निकाला और आम लोगों के साथ-साथ व्यापारी वर्ग को नोटबंदी के फायदे बताए। मार्च के दौरान बड़ी तादाद में बीजेपी कार्यकर्ता और क्षेत्रीय लोग मौजूद थे।
  • मिशन इन्द्रधनुष

    मिशन इन्द्रधनुष के अतर्गत क्षेत्र के नौनिहालों एवं बच्चों का टीकाकरण किस प्रकार सुनिश्चित हो तथा उन्हें निरोग रखने में उनकी मदद कैसे की जाए, इस पर जोर देने के लिए भाजपा महिला मोर्चा की संगोष्ठी आयोजित की। सार्वजनिक कार्यक्रमों में भी इस पर जोर दिया गया।

    दीन दयाल ग्राम ज्योति योजना

    दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना का उद्देश्य पूर्ण हो, इसके लिए मेरे मंत्रालय द्वारा मेरे संसदीय क्षेत्र की सेवा बस्तियों में सोलर लाईटें लगवाई गईं। इसे ज्योति प्रकाश का नाम दिया गया।

    रेलवे स्टेशनों पर विकास कार्य

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली एक ऐतिहासिक नगरी है। देश के कोने-कोने व समूचे विश्व से भारी संख्या में लोग दिल्ली आते हैं तथा यहां से देश के अन्य क्षेत्रों के लिए ट्रेन से प्रस्थान करते हैं। मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत कई रेलवे स्टेशन आते हैं परन्तु उसमें चार प्रमुख रेलवे स्टेशन हैं- नई दिल्ली रेलवे स्टेशन, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन और सब्जी मण्डी रेलवे स्टेशन। ये रेलवे स्टेशन देश की राजधानी दिल्ली के मुख्य रेलवे स्टेशन हैं। इन रेलवे स्टेशनों को अत्याधुनिक एवं सभी सुविधाओं से लैस करने के लिए मैंने रेलवे मंत्रालय के साथ अनेक बैठकें की। फलस्वरूप विकास कार्यों का एक कीर्तिमान स्थापित हुआ। इन विकास कार्यों का विवरण निम्नलिखित हैः

    नई दिल्ली रेलवे स्टेशन

  • रेलवे स्टेशन की पार्किंग एवं उसके समीप के क्षेत्र में आर.एम.सी की रोड और फुटपाथ का निर्माण।
  • 9 करोड़ रुपए की लागत से प्रतीक्षा गृह का जीर्णोद्धार।
  • यात्रियों की बढ़ती संख्या एवं उनकी सुविधा को ध्यान में रखते हुए 1 नए प्रतीक्षा गृह का निर्माण।
  • यात्रियों की सुविधा हेतु 8 करोड़ की लागत से 16 नई स्वचालित सीढ़ियां (एस्केलेटर) स्थापित।
  • नई दिल्ली स्टेशन पर वाई-फाई कनेक्शन।
  • स्टेशन के पूरे परिसर में एल.ई.डी लाइट एवं एल.ई.डी हाई मास्ट लाइट लगाई गई।
  • यात्रियों को स्वच्छ एवं शीतल जल उपलब्ध कराने हेतु 16 नई मशीनें स्थापित की गईं।
  • 6 कैश स्मार्ट कार्ड ऑपरेटेड ए.टी.वी.एम मशीन लगाई गई।
  • बिजली की निर्बाध आपूर्ति हेतु 7 सब-स्टेशनों के नियंत्रण हेतु ट्रांस्फॉर्मर का नियंत्रण कक्ष एवं 11 के.वी के विद्युत गृह की स्थापना।
  • एक्जीक्यूटिव लाउंज में खान-पान, खरीददारी एवं रिलैक्स चेयर की सुविधा उपलब्ध कराई गई।
  • स्टेशन के प्लेटफार्म नं. 1 पर मल्टी कुजीन रेस्टोरेंट शुरू किया गया।
  • प्लेटफॉर्म शेल्टर्स पर 2.05 एम.डब्ल्यू.पी. सोलर प्लांट स्थापित करने का कार्य प्रगति पर।
  • 7 प्लेटफार्मों में सी.जी.एस. तकनीक(सफाई की तकनीक) स्थापित करने का कार्य प्रगति पर।
  • गेट नं. 2 के निकट 2 नए शौचालयों का निर्माण।
  • स्टेशन की सभी ईमारतों का सौंदर्यीकरण।
  • स्टेशन के बाहर ट्रेनों के आगमन एवं प्रस्थान की जानकारी हेतु डिजिटल सूचना पट्ट की व्यवस्था की गई।
  • रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म की छत पर सौर ऊर्जा पैनल लगाया गया।
  • पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन

    पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन पर आवागमन की सुविधा हेतु हेमिल्टन रोड, कश्मीरी गेट की तरफ से रास्ते का निर्माण और इस द्वार के रास्ते पर नियंत्रण, पूछताछ व प्रतीक्षा कक्ष का निर्माण।

  • 6 नई स्वचालित सीढ़ियों का निर्माण कार्य प्रगति पर।
  • 35 लाख रुपए की लागत से 3 सामूहिक शयन कक्ष (Dormitory Room) का जीर्णोद्धार।
  • 1.7 करोड़ रुपए की लागत से प्लेटफॉर्म संख्या 16 का पुनर्निर्माण, आधुनिक तकनीक से इस प्लेटफॉर्म की साफ-सफाई की व्यवस्था करवाई गई।
  • ऑटोमेटिक टिकट वेंडिंग मशीन की व्यवस्था।
  • स्टेशन पर शयनकक्षों का पुनरोद्धार किया गया।
  • दिव्यांगों के निर्बाध आवागमन के लिए मार्ग सहित स्टेशन को उनके अनुकूल बनाया गया।
  • स्टेशन पर 1.45 एम.डब्ल्यू. पी सोलर प्लांट स्थापित करने का कार्य प्रगति पर ।
  • स्टेशन के प्रतीक्षालय के सुधार का कार्य प्रगति पर ।
  • स्टेशन के पार्सल कार्यालय में सी.सी.टी.वी कैमरे लगाने का कार्य प्रगति पर।
  • स्टेशन पर ऊपरगामी पुल की मरम्मत का कार्य संपन्न।
  • स्टेशन के बाहर आर.एम.सी की सड़क और फुटपाथ का निर्माण कराया गया।
  • स्टेशन के बाहर हरित क्षेत्र को विकसित किया गया।
  • स्टेशन के बाहर ट्रेनों के आगमन एवं प्रस्थान की जानकारी हेतु डिजिटल सूचना पट्ट लगवाया गया।
  • स्टेशन की इमारत को रात में रंगीन और भव्य दिखने के लिए रंगीन लाइटों की व्यवस्था कराई।
  • सराय रोहिल्ला रेलवे स्टेशन

  • प्लेटफार्म सर्फेसिंग का कार्य सम्पन्न।
  • नए प्रतीक्षालय क्षेत्र में यात्रियों की सुविधा हेतु स्टील की बेंच लगवाई गई।
  • लघु प्लेटफार्म शैल्टर्स में सुधार।
  • ऊपरगामी पुल का विस्तार।
  • न्यू रोहतक रोड के लिबर्टी की ओर से प्रवेश हेतु नई सड़क का निर्माण।
  • लिफ्ट स्थापित।
  • स्वचालित सीढ़ियों की स्थापना का कार्य प्रगति पर।
  • सब्जी मंडी रेलवे स्टेशन

    मुख्य प्रवेश द्वार की सड़क का निर्माण कराया गया, जिससे स्टेशन परिसर में पार्किंग की भी सुविधा आसान हो गई है।

    रेलवे कॉलोनियों में विकास कार्य

    रेलवे स्टेशनों के साथ-साथ रेलवे कॉलोनियां दिल्ली के विभिन्न भागों में बनाई गई हैं। मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत अनेक रेलवे कॉलोनियां हैं, जिसका निर्माण वर्षों पूर्व हुआ था। इन आवासीय कॉलोनियों में मकानों के पुनर्निर्माण /मरम्मत एवं उसमें अन्य सुविधाओं की आवश्यकता काफी समय से कॉलोनीवासी महसूस कर रहे थे। निरीक्षण के दौरान मैंने पाया कि ये कार्य प्राथमिकता के आधार पर होने चाहिए। अतः इस निमित्त अनेक बैठकों के माध्यम से योजना बनाकर हमने अनेक कार्य कराए हैं, जिसमें से कुछ प्रमुख कार्यों का उल्लेख इस प्रकार हैः

    रेलवे कॉलोनी-40 फ्लैट, सदर बाजार

  • 300 मीटर रोड की मरम्मत का कार्य संपन्न।
  • शौचालय के लिए ट्यूबबेल के पानी की आपूर्ति।
  • पानी की आपूर्ति सामान्य कर दी गई।
  • नए डस्टबिन उपलब्ध कराए गए।
  • ब्लॉक 95, 96, 97 की खराब सीवर लाईन को बदला जा रहा है।
  • टी-51, टी-22 तथा टी-24 ब्लॉक की छतों की मरम्मत का कार्य संपन्न।
  • सभी पोल पर स्ट्रीट लाईट लगायी गई।
  • डी.आर.पी लाईन, रेलवे कॉलोनी

    1. बड़ी सड़कों की मरम्मत का कार्य संपन्न।
    2. सीवर लाईन की मरम्मत के कार्य की योजना बना दी गयी है और वर्ष 2017-18 में इसे पूरा करने का लक्ष्य है।
    3. बी-97 की सीवर लाईन की मरम्मत का कार्य संपन्न ।

    हेमिल्टन रोड, मोरी गेट रेलवे कॉलोनी

    1. 100 वर्ष पुराने क्वार्टरों में से कुछ स्टाफ क्वार्टरों को तोड़कर फिर से नए बनाने के कार्य की योजना बनायी जा रही है।
    2. स्टाफ क्वार्टरों की मरम्मत का कार्य प्रगति पर।
    3. पानी की आपूर्ति की समस्या को दूर कर दिया गया है।
    4. सीवर सिस्टम चालू कर दिया गया है।

    छोटी मोर सराय रेलवे कॉलोनी

    1. सड़कों की मरम्मत से संबंधित कार्य संपन्न ।
    2. ट्यूबबेल का पानी शौचालय के लिए आपूर्ति किया गया।
    3. पानी की आपूर्ति सामान्य कर दी गई।
    4. सभी पोल पर स्ट्रीट लाईट लगाई गई।

    संचार विभाग के सहयोग से संपन्न कार्य

    मेरे क्षेत्र की कुछ कालोनियों के लोगों ने लगातार मुझसे संपर्क किया कि उनके क्षेत्र में डाकघर की कमी है, जिसके कारण उन्हें परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। मैंने उनकी इस समस्या के समाधान हेतु भारत सरकार के संचार विभाग के साथ अपने क्षेत्र में जहाँ-जहाँ डाकघर की कमी है, वहां-वहां डाकघर खोलने का अनुरोध किया। परिणामस्वरूप रानीबाग में एक नया डाकघर खुल गया है। राजधानी एन्कलेव में भी नया डाकघर खुलने वाला है। शेष कालोनियों में डाकघर स्थापित करवाने के लिए मैं प्रयासरत हूँ।

    पर्यटन क्षेत्र का विकास एवं ऐतिहासिक धरोहरों के रख-रखाव के कार्य

    राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ऐसे अनेक ऐतिहासिक स्थल हैं, जहाँ पर हर दिन बड़ी संख्या में देश-विदेश से पर्यटक आते हैं। अनेक दर्शनीय स्थल मेरे संसदीय क्षेत्र चाँदनी चौक में ही स्थित हैं। जैसे-लालकिला, जामा मस्जिद, रोशनारा बाग, कुदेशिया गार्डन आदि। इन ऐतिहासिक धरोहरों के रखरखाव और मरम्मत के लिए पर्यटन एवं पुरातत्व विभाग के साथ मिलकर अनेक योजनाएं बनाई गयी हैं और कई योजनाएं क्रियान्वित हो गई हैं। वहीं रोशनारा बाग, शाहजहानाबाद और जामा मस्जिद आदि की योजनाएँ कुछ समय में क्रियान्वित हो जाएंगी। कुछ ऐतिहासिक स्थानों पर निम्नलिखित विकास कार्य कराए गए हैं :

    कश्मीरी गेट

    1. रक्षा प्राचीर एवं कश्मीरी दरवाजा की साफ-सफाई और मरम्मत का कार्य संपन्न। रोशनारा बाग
    2. पर्यटन मंत्री भारत सरकार के साथ मैंने बैठक की। तदोपरांत पर्यटन मंत्रालय द्वारा रोशनारा बाग के विकास के लिए रूपये 12 करोड़ की स्वीकृति दी गयी।
    3. पर्याप्त प्रकाश की व्यवस्था हेतु रोशनारा बाग के गेट के पास दो सेमी हाईमास्ट लाईट और पोल लगाए हैं।
    4. रोशनारा बाग के जीर्णोद्धार का कार्य प्रगति पर है।
    5. बगीचे के बीच में स्थित मकबरे की मरम्मत का कार्य प्रगति पर है।

    इसके मध्य में बिना छत का कब्र सहित कक्ष है जो छत्ता-वाले दालान से घिरा हुआ है और कोनों पर दो मंजिले गुम्बदयुक्त कक्ष है। प्रारंभ में यह मकबरा गहरी अलंकृत नालियों से घिरा हुआ था, जिनके दोनों ओर फब्वारे थे। उनका इस्तेमाल बंद हो गया और वे चबूतरों से ढक दिए गए परन्तु बाद में इन्हें निकाला गया। हाल के वर्षों में यहाँ जापानी शैली के बगीचे लगाए गए हैं। इसके भी पुनर्विकास की योजना है।

    सराय पीपलथला में पुरातत्व पार्क का जीर्णोद्धार

    1. पुरातत्व पार्क में चारों तरफ टाइल्स के फुटपाथ और बैठने के लिए बेंच उपलब्ध कराये गए।
    2. स्टील के डस्टबीन की व्यवस्था की गयी।
    3. पार्क में स्थित दो दरवाजों और उसके छतों की मरम्मत करायी गयी।

    यातायात व्यवस्था में सुधार कार्य

    ट्रैफिक और प्रदूषण से जूझ रही दिल्ली की सड़कों पर यातायात कैसे सुचारू किया जाए ताकि दिल्लीवासियों का आवागमन सुगम हो, साथ ही वाहनों से निकलने वाले धुएं से बढ़ते प्रदूषण पर कैसे रोक लगे, इस विषय पर सड़क परिवहन मंत्रालय के केंद्रीय मंत्री श्री नितिन गडकरी के साथ कई बैठक कार्ययोजनाएं बनायी गयीं। मेरे संसदीय क्षेत्र में पूर्वी-पश्चिमी कॉरिडोर और हैदरपुर वॉटर-वर्क्स से लेकर प्रेमबाड़ी पुल तक सड़क के निर्माण आदि की योजना को भी अमलीजामा पहनाने के कार्य पर गहन विचार हुआ। इस पर त्वरित कार्यवाही हेतु परामर्शदाता नियुक्त किए गए हैं।

    हरियाणा, उत्तर प्रदेश और पंजाब का ट्रैफिक कैसे दिल्ली के बाहर से निकले, उसके लिए भी योजनाएँ बनाई गई हैं। इसके साथ ही एक और तीसरा रिंग रोड बनाने का निर्णय भी इस योजना में शामिल है। इसके लिए केंद्र सरकार ने 34,100 करोड़ रुपये आबंटित किये हैं, जिसमें से 6,000 करोड़ रुपये एनएच24 पर विकास कार्यों में इस्तेमाल किया जाएगा।

    शहरी विकास विभाग के सहयोग से संपन्न कार्य

    भारत सरकार के शहरी विकास मंत्रालय के सहयोग से चाँदनी चौक संसदीय क्षेत्र में सदर बाजार आदि में स्थित मकानें, जिनकी सौ वर्ष की लीज समाप्त हो चुकी थी, उसे फ्री होल्ड कराने का कार्य विशेष प्रयासों से शुरू किया गया है।

    स्वच्छता अभियान

    ‘स्वच्छता ही सेवा’ कार्यक्रम के तहत चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में स्वच्छता के अनेक कार्यक्रम आयोजित किये गये। स्वच्छता गोष्ठी आयोजित कर कार्यकर्ताओं को स्वच्छता की शपथ दिलाई और लोगों को जागरूक किया गया।

    शौचालयों का निर्माण

    ‘स्वच्छता ही सेवा’ के उद्देश्य की पूर्ति की दिशा में अपने संसदीय क्षेत्र में नगर निगम और अन्य विभागों के सहयोग से और अपने सांसद कोष से मैंने अनेकों आधुनिक टॉयलेट बनाने के कार्य प्रारंभ किए हैं, जिनमें काफी संख्या में बन चुके हैं। निम्नलिखित स्थानों पर महिलाओं और पुरूषों के लिए निर्मित/ निर्माणाधीन आधुनिक टॉयलेट/बायो-टॉयलेट ब्लॉंक्स के विवरण निम्नलिखित हैंः

    1. नबी करीम पहाड़गंज (42 सीटर)।
    2. जन सुविधा परिसर, संगम पार्क।
    3. लाल बाग (38 सीटर)।
    4. पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन के बाहर।
    5. मजनू का टीला।
    6. ए-5 ब्लॉक मार्केट, पश्चिम विहार।
    7. कृष्ण लाल शर्मा पार्क, नार्थ पश्चिम विहार ।
    8. आर.यू.एस.यू ब्लॉक पीतमपुरा में सार्वजनिक शौचालय जनता को समर्पित ।
    9. रामपुरा, मदर डेयरी के निकट नवनिर्मित आधुनिक सुलभ शौचालय का उद्घाटन किया गया।
    10. हमदर्द चौक, अंगूरी खत्ता, आसफ अली रोड।
    11. यमुना बाजार, प्राचीन हनुमान मंदिर (मरघट वाले) के पास।
    12. राम नगर, अशोक बस्ती।
    13. दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा विभिन्न स्लम बस्तियों में 135 स्थानों पर शौचालय बनाने के लिए दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड को स्थान उपलब्ध करवाया गया।

    स्कूल भवन का निर्माण

    षिक्षा के प्रति लोगों को जागरूक करने की दिशा मैं सदैव तत्पर हूँ। मेरा मानना है कि बेहतर शिक्षा के लिए अनेक आवश्यकताओं में पहली प्रमुख आवश्यकता है विद्यालय भवन। सांसद बनने के तुरन्त बाद मैंने इस पर बल देना प्रारम्भ कर दिया। अपने संसदीय क्षेत्र में सभी सुविधाओं से संपन्न अनेकों स्कूल भवन मैंने समाज को समर्पित किये हैं। इन स्कूलों का विवरण इस प्रकार हैः

  • प्राइमरी स्कूल, गुजरांवाला टाउन।
  • प्राइमरी स्कूल, मॉडल टाउन-2
  • एम.सी प्राइमरी स्कूल, ललिता ब्लॉक, शास्त्री नगर।
  • कदम शरीफ स्कूल, झंडेवालान।
  • प्रतिभा विद्यालय, ए-5 पश्चिम विहार।
  • एम.सी प्राइमरी स्कूल, अशोक विहार फेज-3
  • प्राइमरी स्कूल, सी.पी ब्लॉक पीतमपुरा।
  • न्यू बिल्डिंग प्राइमरी स्कूल, भंडोला उद्यान पंचवटी, आजादपुर।
  • एम.सी प्राइमरी स्कूल, मुल्तान नगर, पश्चिम विहार।
  • सी एवं डी ब्लॉक, शालीमार बाग स्कूल (निर्माणाधीन)।
  • हैदरपुर में लड़कियों के एम.सी प्राईमरी स्कूल की आधारशिला रखी गयी ।
  • सूरज कुंज, केशवपुरम में ब्लॉक सी-7 में, नव निर्मित एम.सी. प्राइमरी नगर निगम स्कूल का उद्घाटन किया गया ।
  • प्रेम नगर, सदर पहाड़गंज जोन में नगर निगम प्राथमिक विद्यालय की नई बिल्डिंग का उद्घाटन किया गया ।
  • अमरपुरी, सदर पहाड़गंज जोन में नगर निगम प्राथमिक विद्यालय की नई बिल्डिंग का उद्घाटन किया गया ।
  • ए-4 पश्चिम विहार में नगर निगम प्राथमिक विद्यालय का उद्घाटन किया गया।
  • पुस्तकालय एवं मनोरंजन केंद्र

    पुस्तक पढ़ने में रूचि रखने वाले लोगों के लिए पुस्तकालय के निर्माण पर मैंने जोर दिया है। इस क्रम में अशोक विहार में ‘दिल्ली पब्लिक लाईब्रेरी’ के नये भवन का निर्माण कार्य संपन्न हो गया है और आंतरिक सुविधाओं की स्थापना के कार्य जारी हैं। साथ ही पीतमपुरा के सी-यू ब्लॉक में वरिष्ठ नागरिकों के लिए मनोरंजन केंद्र और आम जनता के लिए पुस्तकालय आदि की भी व्यवस्था की है।

    समुदाय भवन का निर्माण

    बढ़ती आबादी के कारण पहले से स्थापित समारोह स्थलों पर दबाव स्वाभाविक है। अतः छोटे-बड़े समारोहों के आयोजन के लिए क्षेत्र के लोगों को बहुत कठिनाइयों का सामना करना पड़ता था। अतः इस हेतु समुदाय भवनों की आवष्यकता व्यापक तौर पर महसूस की जा रही थी और समाज की उस आवश्यकता को पूरा करने के लिए हमने अथक प्रयत्न किया है। मेरे संसदीय क्षेत्र में अनेक समुदायों भवन का निर्माण हुआ है, जिनका विवरण निम्नलिखित है-

  • मजनू का टीला।
  • एमसीडी कालोनी, आजादपुर।
  • ईदगाह।
  • सहीपुर, शालीमार बाग।
  • वर्धमान वाटिका, त्रि-नगर।
  • सी-ब्लॉक, शकूरपुर (आनन्दवास)।
  • शकूरपुर गांव (निर्माणाधीन)।
  • रामगढ़, जहांगीर पुरी।
  • सी.डी ब्लॉंक, शालीमार बाग (निर्माणाधीन)।
  • कैप्टन सतीश मार्ग, ऋषि नगर।
  • बी-जी 6, पश्चिम विहार।
  • कुतुब रोड सदर पहाड़गंज जोन में नवनिर्मित सामुदायिक भवन का उद्घाटन संपन्न।
  • ए-5 पश्चिम विहार।
  • नये पार्क का निर्माण

    बिड़ला मिल हरित क्षेत्र में पार्क बनाने के लिए 18 एकड़ भूमि तैयार की गयी है। पार्क में फुटपाथ और अन्य निर्माण कार्य प्रगति पर है।

    पार्कों में ओपन जिम

    पार्कों में ओपन जिम लगाने के पीछे हमारी एक विशेष सोच यह है कि लोग अपने घर के आसपास बिना पैसा खर्च किये, पार्क में भ्रमण के साथ-साथ जिम का लाभ उठा सकें और अपने शरीर को स्वस्थ रख सकें। मैं यह भी समझता हूँ कि हर व्यक्ति प्राइवेट जिम के खर्च को वहन नहीं कर सकता है लेकिन यह सुविधा उसे उपलब्ध हो, ऐसी आकांक्षा उसे जरूर होती है।

    हर व्यक्ति को ओपन जिमका लाभ मिले, इसके लिए हर वार्ड के पार्कों में ओपन जिम लगाने की योजना मैंने शुरू की है। यद्यपि एक पार्क में ओपन जिम लगाने का काफी खर्च आता है, इसके बावजूद करीब ढाई दर्जन पार्कों में अभी तक हमने ओपन जिम लगा दिए हैं और एक दर्जन से अधिक पार्कों में ओपन जिम लगाने की योजना है। इसके लिए हमने धनराशि मुहैया करा दी है और डीडीए से भी अनुरोध किया है कि मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत विभिन्न डीडीए पार्कों में ओपन जिम यथाशीघ्र लगाए। स्थानीय निवासियों की मांग पर हमने विशेषकर महिलाओं के लिए अलग से ओपन जिम कई पार्कों में लगाए हैं। निम्नलिखित पार्कों में ओपन जिम लगाए गए हैंः

  • इंदिरा नगर, महिला पार्क।
  • संजय इनक्लेव, आदर्श नगर।
  • रामपुरा एस.डी.एम कार्यालय के पीछे।
  • कोहाट एन्क्लेव पार्क, पीतमपुरा।
  • कच्ची वाला, हैदरपुर गांव।
  • बेरीवाला पार्क, अशोक विहार, फेज-2।
  • ए एवं बी ब्लॉक पार्क, लोक विहार।
  • त्रि-नगर, रोज गार्डन पार्क।
  • साहिब सिंह वर्मा पार्क, केशवपुरम।
  • ई-67 के पीछे, अशोक विहार, फेज-1।
  • ए-61 के पीछे, अशोक विहार, फेज-1।
  • डी-ब्लॉक, कमला नगर पार्क।
  • संदेश विहार, पीतमपुरा।
  • इस्माइल खां पार्क, जी.टी रोड।
  • डिस्ट्रिक्ट पार्क, शास्त्री नगर (56 बीघा पार्क)।
  • बंदरवाला पार्क, गुलाबी बाग।
  • सैनिक विहार, पीतमपुरा।
  • पश्चिम विहार डिस्ट्रिक्ट पार्क।
  • शीशमहल पार्क,शालीमार बाग।
  • डिस्ट्रिक्ट पार्क,बृज विहार,पीतमपुरा।
  • मोटावाला पार्क, शालीमार बाग।
  • ए-ई ब्लॉक, शालीमार बाग।
  • बी.के 2 ब्लॉक, शालीमार बाग।
  • संजय वन, पीतमपुरा।
  • अशोक पार्क।
  • शक्ति विहार, आनंद विहार पार्क, पीतमपुरा।
  • चंदीवाला बाग, अशोक विहार।
  • डी- 90, अशोक विहार, फेज-1।
  • बी.जी-6 पार्क, पश्चिम विहार।
  • राजीव गांधी पार्क (ए-4 एवं ए-6 ब्लॉक के बीच में), पश्चिम विहार।
  • डी.डी.ए पार्क, पश्चिम विहार (बी-3 ब्लॉक के पीछे)।
  • हथौड़ा राम पार्क केशवपुरम।
  • क्रिसेन्ट स्कूल के सामने फाउंटेन पार्क, पीतमपुरा।
  • टीचर पार्क, निमड़ी कॉलोनी।
  • वृक्षारोपण

    पर्यावरण संरक्षणकी दिशा में अपने संसदीय क्षेत्र चाँदनी चौक में वृहद स्तर पर अनेकों वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किए हैं। मेरी यह इच्छा एवं प्रयास है कि मेरा संसदीय क्षेत्र हरा-भरा और प्रदूषण मुक्त हो। वृक्षारोपण कार्यक्रमों का विवरण इस प्रकार हैं:

  • मॉडल टाऊन विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सी.सी कॉलोनी रामलीला पार्क में वृक्षारोपण किया गया।
  • शकूर बस्ती विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत डिस्ट्रिक्ट पार्क पश्चिम विहार में वृक्षारोपण किया गया।
  • वजीरपुर विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत अशोका गार्डन, अशोक विहार में वृक्षारोपण किया गया।
  • चांदनी चौक विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत कुदेशिया गार्डन में वृक्षारोपण किया गया।
  • वजीरपुर विधानसभा के अंतर्गत चौधरी लेखराम पार्क में वृक्षारोपण किया गया।
  • सदर बाजार विधानसभा के अंतर्गत रोशनाराबाग के पार्क में वृक्षारोपण किया गया।
  • शालीमार बाग विधानसभा के अंतर्गत डिस्ट्रिक्ट पार्क, पीतमपुरा में वृक्षारोपण किया गया।
  • सदर बाजार विधानसभा के अंतर्गत किशनगंज रेलवे कॉलोनी के पार्क में वृक्षारोपण किया गया।
  • निगम बोध घाट पर ग्रीन वेस्ट रिप्रोसेसर तकनीक स्थापित

    अपने संसदीय क्षेत्र में अनूठा प्रयास हमने पर्यावरण को लेकर किया है। अपने सांसद कोष से दिल्ली के निगम बोध घाट परिसर में फ्लावर वेस्ट को रिप्रोसेस करके कम्पोस्ट में बदलने के लिए ग्रीन वेस्ट रिप्रोसेसर मशीन लगाई गई। इस उपकरण के उपयोग से घाट और आस-पड़ोस के धार्मिक स्थलों पर इस्तेमाल की हुई फूल आदि को रिप्रोसेस कर हवन सामग्री में परिवर्तित किया जाता है, जबकि फूल और पत्तियों से खाद बनाने की प्रक्रिया तो कई जगहों पर प्रारंभ हई है लेकिन यह नई तकनीक अपने आप में अनूठी मिसाल है।

    निःशुल्क चिकित्सा शिविर

    एक चिकित्सक होने के नाते मैं जानता हूँ कि समाज में बहुत से लोग हैं जो आँख और कान की साधारण जांच, नजर का चश्मा व सुनने की मशीन के खर्च को वहन नहीं कर पाते हैं तथा अनभिज्ञतावश नजर व कान की परेशानियों को भी नजरंदाज करते हैं। परिणाम यह होता है कि एक समय के उपरांत छोटी परेशानी बड़ी परेशानी में बदल जाती है। मेरे संसदीय क्षेत्र में ऐसी अनेक कालोनियां हैं जहाँ अधिकांशतः ऐसे लोग रहते हैं जिनकी आर्थिक स्थिति अत्यंत कमजोर है। ऐसे लोगों को ध्यान में रखते हुए मैंने अपने क्षेत्र में अनेक निःशुल्क चिकित्सा शिविरों का आयोजन किया है और आगे भी जारी है। इन शिविरों में आँख, कान की जाँच, मोतियाबिन्द के ऑपरेशन, श्रवणयंत्र का वितरण निःशुल्क किया जाता है। इस निःशुल्क चिकित्सा शिविर के माध्यम से 19419 लोगों को ओपीडी, 17164 लोगों को निःशुल्क दवा वितरण किया, 11040 लोगों को निःशुल्क चश्मा वितरण किया, 777 लोगों को निःशुल्क सुनने की मशीन वितरित की गई और 601 लोगों को मोतियाबिन्द के चयन किया गया है। अभी तक हमने निम्न 26 स्थानों पर निःशुल्क चिकित्सा शिविर का आयोजन किया हैः

  • गौरी शंकर मंदिर, मेन रोड, धीरपुर
  • साहेब सिंह वर्मा सामुदायिक भवन, शाहीपुर गांव
  • चूड़ीवालान बाजार, सीताराम बाजार
  • सेवा भारती, लालबाग, आजादपुर
  • सनातन धर्म मंदिर, अशोक विहार
  • सिख संगत भवन,राम नगर
  • सामुदायिक भवन, जी-ब्लॉक, जे.जे कॉलोनी, शकूरपुर
  • हाता कितारा, बाड़ा हिंदू राव
  • सेवा बस्ती, मीरा बाग, पश्चिम विहार
  • प्राइमरी स्कूपल, जामा मस्जिद
  • बड़ी चैपाल, सराय पीपलथला, आदर्श नगर
  • सामुदायिक भवन, तुर्कमान गेट
  • बाड़ा हिंदूराव पॉलीक्लिनिक
  • बारात घर, दोजाना हाऊस
  • एल ब्लॉक समुदाय भवन, जे.जे कॉलोनी वजीरपुर
  • निगम समुदाय भवन, बारात घर, मजनू का टीला
  • एम.सी.डी स्कूल, कूचा मोहतर खां, मोरी गेट,
  • सुराना धर्मशाला, बस्ती हरपुल सिंह, सदर बाजार
  • स्पोर्ट्स कॉम्पलैक्स, आर.पी.एफ,दया बस्ती.
  • जवाहर नगर समुदाय भवन,मलका गंज
  • जैन धर्मशाला, पहाड़ी धीरज
  • 3715, भोलूमल की धर्मशाला, चर्खे वाला चौक, चावड़ी बाजार
  • वर्द्धमान वाटिका, सामुदायिक भवन, तालाब रोड, त्रिनगर
  • शिव मंदिर, आदर्श नगर एक्सटेंशन, दिल्ली-110033
  • सेवा बस्ती, नेहरू कैंप, हैदरपुर, नई दिल्ली
  • गुरुद्वारा सिंह सभा, डी.डी.ए फलैट, ए-ब्लॉक, जहांगीर पुरी
  • प्रताप नगर
  • सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के सहयोग से संपन्न कार्य

    भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय के सहयोग से दिव्यांगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए अनेक योजनाएँ भारत के यशस्वी प्रधानमंत्री ने प्रारंभ की है। उन योजनाओं को समाज के अंतिम व्यक्ति तक पहुँचाने के लिए अपने संसदीय क्षेत्र में इस कार्य को आगे बढ़ाया है। शिविरों का आयोजन भारत सरकार के सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्रालय की ‘एडिप’ योजना के अंतर्गत किया गया। इन शिविरों में 1978 दिव्यांगों को 2.78 करोड़ रुपये के उपयोगी उपकरण जैसे ट्राई साइकिल, व्हील चेयर, बैसाखी, कान की मशीन, फोल्डिंग छड़ी, ब्रेलकिट, एम.एस.आई.ई.डी. किट आदि उपकरणों का वितरण किया गया तथा मेरे सांसद निधि से 7 शिविरों के लिए 129 दिव्यांगों को मोटोराज्ड ट्राईसाइकिलों के लिए 16.48 लाख रुपये दिए गए हैं। सात शिविरों का आयोजन निम्नलिखित स्थानों पर किया हैः

  • समुदाय भवन, शकूरपुर
  • मजनू का टीला
  • गुलाबी बाग
  • समुदाय भवन, शकूरपुर
  • अग्रवाल भवन ट्रस्ट, शक्ति नगर
  • सनातन धर्म मंदिर, अशोक विहार
  • अशोक विहार, रामलीला मैदान
  • एक और शिविर वरिष्ठ नागरिकों के लिए भी लगाया गया, जिसमें डेंचर, नजर के चश्में, सुनने की मशीन, स्टिक आदि वितरित किया गया। अभी अन्य जरूरत की चीजों का वितरण होना शेष है।

    सड़कों/पार्कों/भवनों का नामकरण

    देश में ऐसी महान विभूतियां पैदा हुई हैं, जिनका जीवन और कार्य समाज को प्रेरित करते हैं। उनका जीवन वर्तमान तथा आने वाली पीढ़ियों को एक नई दिशा दे सकता है। ऐसे महान लोगों के नाम पर कुछ सड़कों/पार्कों एवं भवनों का नामकरण किया गया है। विवरण इस प्रकार हैः

  • राम नगर वार्ड के पार्क का नामकरण ब्रह्मलीन गुरु महंत हंसराज किया गया।
  • ईदगाह के क्रीड़ा स्थल का नामकरण महर्षि वाल्मीकि किया गया।
  • बाड़ा हिन्दू राव की पॉली क्लिनिक का नामकरण लाला दुलीचंद गुप्ता किया गया।
  • एस.पी.एम मार्ग पर स्थित तुलसीदास चौक पर गोस्वामी तुलसीदास जी की प्रतिमा का अनावरण किया गया।
  • बी-4 ब्लॉक, पश्चिम विहार, डी.डी.ए मार्केट के पीछे, मेन पार्क का नाम श्री के.सी बाठला के नाम पर रखा गया।
  • आजाद मार्केट स्थित लाइब्रेरी रोड का नाम श्री राम लाल असड़ी के नाम पर रखा गया।
  • सदर पहाड़गंज जोन की तेल मिल गली का नाम सिख संगत मार्ग रखा गया।
  • निगम बोध घाट के अंदर महाराजा अग्रसेन की नवीन प्रतिमा स्थापित की गयी।
  • अशोक विहार फेज-I में पार्क का नामकरण प्रसिद्ध समाज सेवक श्याम सुंदर गुप्ता (आर्य) के नाम पर हुआ।
  • सामाजिक/धार्मिक उत्सव और त्यौहार

    हमारा देश त्यौहारों का देश है। ऐसा माना जाता है कि वर्ष के 365 दिनों में हमारे देश में 366 त्यौहार मनाए जाते हैं। ये उत्सव व त्यौहार एक तरफ जहाँ हमें अपनी संस्कृति और परंपराओं से जोड़े रखते हैं, वहीं जीवन एक नई ऊर्जा देते हैं। दशहरा, दीपावली, दुर्गा पूजा, रामलीला, गुरुपर्व जैसे अनेक त्यौहार हैं जो कई दिनों तक चलते है। वहीं ईद, क्रिसमस जैसे पर्व अपार खुशियों और उल्लास से भरे होते हैं। क्षेत्र का सांसद होने नाते ऐसे कार्यक्रमों में मैं अपने क्षेत्रवासियों के मध्य रहता हूँ। इस खुशी में सहभागी बनने का प्रयास करता हूँ। ऐसे अनेक कार्यक्रमों में मेरी सहभागिता रही है, जिसका उल्लेख इस प्रकार हैः

  • होली के त्यौहार पर अपने निवास स्थान पर होली मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया।
  • प्रेमवाड़ी पुल पर छठ पूजा कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ।
  • चांदनी चौक स्थित शीशगंज गुरूद्वारे में आयोजित प्रकाश पर्व में शामिल हुआ।
  • गुरू गोविंद सिंह महाराज जी के 350वें प्रकाश वर्ष पर आयोजित कार्यक्रम में सम्मिलित हुआ।
  • रमजान के अवसर पर जामा मस्जिद के आस-पास के क्षेत्र का दौरा किया तथा रमजान की मुबारकबाद दी।
  • डीडीए के माध्यम से प्रारम्भ/सम्पन्न कार्य

    चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत बहुत-सी कॉलोनियों में अनेक विकास कार्य दिल्ली विकास प्राधिकरण के माध्यम से मैंने विशेष प्रयास कर करवाये हैं। काफी समय से लंबित पड़े कार्यों को शीघ्र शुरू करवाने/पूरा करवाने के लिए डीडीए अधिकारियों के साथ सघन दौरा/बैठकें कीं। आवश्यकता होने पर शहरी विकास मंत्रालय एवं दिल्ली के उप-राज्यपाल का भी सहयोग लिया। अनेक पार्कों व ईमारतों का रख-रखाव डीडीए के पास है। साथ ही अनेक कार्य डीडीए द्वारा किया जा रहा है। प्रारंभ/संपन्न हुए विकास कार्यों का विवरण निम्नलिखित है-

    1. रानी बाग, कैप्टन सतीश मार्ग में समुदाय भवन का कार्य संपन्न।
    2. शालीमार बाग के सी तथा डी ब्लॉक में समुदाय भवन के निर्माण का कार्य प्रगति पर।
    3. हैदरपुर के अम्बेडकर नगर में नाले को जोड़ने के लिए निविदा का कार्य प्रगति पर।
    4. मैक्स अस्पताल, शालीमार बाग में अस्थायी खेल का मैदान तैयार किया गया।
    5. शालीमार बाग के सहीपुर में वाटर बाडी का इस्टीमेट तैयार।

    निम्नलिखित पार्कों की मरम्मत/विकास का कार्य प्रगति पर

    1. शीश महल पार्क, सीडी ब्लॉक, शालीमार बाग।
    2. करनाल वाला बाग, शालीमार बाग।
    3. साधुवाला बाग, शालीमार बाग।
    4. डिस्ट्रिक्ट पार्क, पीतमपुरा (लोकवाला पार्क)।
    5. अशोक गार्डन, फेस-4, अशोक विहार।
    6. डिस्ट्रिक्ट पार्क, सैनिक विहार पीतमपुरा।
    7. दरबार खान नर्सरी, शास्त्री नगर।
    8. संदेश विहार, पीतमपुरा के पार्क का विकास ।
    9. खाली पड़े स्थानों पर चारदीवारी करने का कार्य प्रगति पर तथा कम्पाउण्ड जैन कालोनी।
    10. सहदेव सिंह डिस्ट्रिक्ट पार्क, न्यू मुल्तान नगर की चारदीवारी तथा टीक के वृक्षों के क्रमांकन का कार्य प्रगति पर ।
    11. अम्बेडकर नगर, हैदरपुर में नाले को सही तरीके से जोड़ने का कार्य संपन्न।
    12. संगम पार्क में खाली पड़ी जमीन पर अस्पताल बनाने हेतु इस जमीन को स्वास्थ्य विभाग को दिलवाने के प्रस्ताव को पास करवाने के लिए प्रयत्नशील।
    13. पंजाब से आए लोगों को डिस्ट्रिक्ट सेन्टर, पीरागढ़ी में पुनस्र्थापित करने हेतु प्रस्ताव।
    14. रसायन मार्केट, कटरा पेरान, खारी बावली, तिलक बाजार के होलंबी कला में स्थानान्तरण का प्रस्ताव।
    15. अषोक विहार स्थित ध्यानचंद स्टेडियम में सामाजिक समारोहों के आयोजन हेतु डीडीए से अनुमति दिलायी गयी।
    16. डीडीए खेल परिसर, कल्याण विहार में गार्ड नियुक्त करने हेतु इस परिसर को उद्यान विभाग से लेने का निर्णय पास कराया।
    17. अशोक विहार-1 जे ब्लाक स्थित सामुदायिक भवन और मुर्गा मार्किट के मध्य नई दीवार बनाने के निर्देश दिए गए।
    18. मुल्तान नगर कॉलोनी के पीछे रेलवे लाइन के निकट टूटी दीवार के पुनर्निर्माण का कार्य प्रगति पर।
    19. ए-5 पश्चिम विहार, सब्जी मार्किट के 122 दुकानदारों के लिए पहले से आबंटित थड़े/दुकानों को एकमुश्त राशि की बजाय किश्तों में भुगतान करने के लिए नीति की समीक्षा करने का निर्देश प्रधान आयुक्त (एलडी) को दिया गया।
    20. वार्ड-58, ए-ब्लॉक, पश्चिम विहार में डीडीए की खाली पड़ी 1024 वर्ग मीटर भूमि, ए-ब्लाक साइट डिस्पेंसरी हेतु आबंटित की गई है । डिस्पेंसरी का निर्माण राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र दिल्ली सरकार (जीएनसीटीडी) द्वारा किया जाना है।
    21. सराय पीपल थला, आदर्श नगर में 20 बीघा खाली पड़ी भूमि को डीडीए की नीति के अनुसार पार्क अथवा ई.डब्ल्यू.एस. आवासों के लिए उपयोग करने हेतु चारदीवारी करके इस भूमि को संरक्षित किया गया ।
    22. हैदरपुर गांव के साथ स्थित भूखण्ड सामुदायिक भवन निर्माण के लिए पहले से ही निर्धारित है । इस सामुदायिक भवन के निर्माण के लिए डी.डी.ए के प्रतिनिधियों के साथ संयुक्त निरीक्षण करके रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया।
    23. कालोनीवासियों की पेय जल आपूर्ति को नियमित करने के लिए रानी बाग, पीतम पुरा के निकट डीडीए कॉलोनी फ्रेंड्स एन्क्लेव में पानी की स्थाई आपूर्ति का कार्य संपन्न।
    24. नर्सरी स्कूल और इंस्टिट्यूशनल भूमि हेतु निर्धारित खाली प्लॉटों के रख-रखाव एवं उपयोग पॉलिसी पर विचार करने के लिए प्राधिकरण को भेजा जाएगा क्योंकि खाली पड़े प्लॉटों का उपयोग करना नीतिगत विषय है ।
    25. संगम पार्क में अस्पताल के निर्माण हेतु पहले से ही भूमि आबंटित की जा चुकी है परंतु लगभग 250 झुग्गियां और गैस गोदाम इस भूमि पर मौजूद हैं । इस कारण अस्पताल का निर्माण संभव नहीं हो पा रहा है। अतः गैस गोदाम को हटाने हेतु निर्देश दिए गए ।
    26. 1976 में कौमी ऊर्दू माध्यम के स्कूल को तोड़कर, रामकुमार भवन में हस्तांतरित करने का प्रस्ताव था, इसका वर्तमान में रैन बसेरे के रूप में उपयोग किया जा रहा है, जिस पर कि वैकल्पिक भवन का निर्माण किया जाना था, का समाधान करने के लिए प्रधान आयुक्त (एलएम) के साथ संयुक्त बैठक करने का निर्णय किया गया ।
    27. जनता को बेहतर बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने की दिषा में हर्ष विहार, पीतमपुरा, इंजीनियरिंग एन्क्लेव, महाराणा प्रताप एन्क्लेव, कोहाट एन्क्लेव में खाली पड़ी डीडीए की भूमि का उपयोग कॉलेज, अस्पताल, मनोरंजन क्लब, सामुदायिक भवन आदि के निर्माण हेतु भूमि की पहचान करने और शीघ्रातिशीघ्र आबंटन हेतु आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश प्रधान आयुक्त (एलडी) को दिया गया ताकि उक्त भवनों के निर्माण की प्रक्रिया षीघ्र प्रारंभ हो सके।
    28. वाल्ड सिटी, वाल्ड सिटी एक्सटेंशन और करोल बाग क्षेत्र में यातायात कम करने के लिए मदनपुर खादर एनएच-2, गाजीपुर एनएच-24, द्वारका एवम् टिकरीकलां एनएच-8 और नजफगढ़ क्षेत्र में इंटीग्रेटिड फ्लाइट कॉम्प्लेक्सेज का विकास करने के लिए दिल्ली के बाहरी क्षेत्रों में खुदरा बाजारों को स्थानान्तरित करने हेतु यह निर्णय लिया गया। इसके लिए पर्याप्त भूमि जीटी करनाल रोड के निकट आईएफसी नरेला में उपलब्ध है तथा प्रधान आयुक्त (एलडी) को इस मामले में आगे की कार्यवाही हेतु निर्देश दिया गया। इससे व्यापारियों को भी सुविधा होगी तथा लोगों को ट्रैफिक जाम से मुक्ति मिलेगी।
    29. शास्त्री नगर, गुलाबी बाग, लेक जी-17, पीतमपुरा, बी ब्लॉक, पश्चिम पुरी, अशोक गार्डन, एम.डी.पार्क केशवपुरम्, मुल्तान नगर के डिस्ट्रिक्ट पार्कों के सुधार का कार्य, फुटपाथ की मरम्मत का कार्य, हाई मास्ट लाइट्स, शौचालयों, ट्यूबवेल, झूले एवं बम्बू शैल्टरों की व्यवस्था/पुनरोद्धार/रख-रखाव के कार्य कराये गये।
    30. राम सिंह वाला पार्क, चरखी वाला पार्क और शास्त्री नगर स्थित ए-ब्लॉक हनुमान वाटिका (डीडीएपार्क) में बेंच, टायलेट्स, लाइट्स, डस्टबिन, चाइल्ड इक्पिमेन्ट्स की सुविधाएं उपलब्ध करायी गयीं।
    31. प्रत्येक पार्क में (एसओपी) विवरण को डिसप्ले (प्रदर्शित) करने का उपकरण लगाने का निर्देश दिया गया।
    32. कमला नगर डीडीए पार्कों का विकास/उचित रख-रखाव एवं स्वच्छता, चैकी नंबर 2, सिंघौरा कलां, श्रीनगर, संजय नगर, गुलाबी बाग, अम्बर सिनेमा के सामने घण्टा घर में बेंच, टायलेट्स, लाइट्स, डस्टबिन, चाइल्ड इक्पिमेन्ट्स आदि की सुविधाएं उपलब्ध करायी गयीं।
    33. शालीमार बाग स्थित लगभग 100 एकड़ के क्षेत्रफल वाले शीश महल पार्क का मैंने निरीक्षण किया। निरीक्षण के उपरांत मुझे अनेक सुविधाओं का अभाव दिखाई दिया। अतः पार्क के रख-रखाव, बेंच, टायलेट्स, लाइट्स, डस्टबिन, चाइल्ड इक्पिमेन्ट्स की सुविधाएं तत्काल प्रभाव से उपलब्ध करायी गयीं।
    34. इस पार्क में फुटपाथ और दीवार की मरम्मत हेतु निविदाएं आमंत्रित की गई हैं तथा पार्क में 135 लाइटों को अतिशीघ्र सही करने का एवं नई हाई मास्ट लाइट उपलब्ध करवाने के निर्देश दिए गए ताकि यहाँ भ्रमण करने आने वाले लोगों को किसी प्रकार की असुविधा न हो।
    35. महिला/बुद्ध योग पार्क, डीडीए गुजरावाला टाउन-III के सामने का योग शेड, वॉकिंग ट्रैक एवं पुनरोद्धार के लिए सीई (एनजैड) को योग शेड एवं वॉकिंग ट्रैक सहित पार्क को डिजाइन करने एवं अपर आयुक्त (एलएस) को बुद्ध योग पार्क का टीएसएस प्रदान करने के निर्देश दिए।
    36. बन्नू बिरादरी कोऑपरेटिव ग्रुप हाउसिंग सोसाइटी के लीज होल्ड फ्लैट्स को फ्री होल्ड करने की नीति के अनुसार अलग-अलग मामलों और प्रक्रियाओं का प्रत्यक्ष सत्यापन किए जाने के निर्देश दिए ।
    37. डीडीए पार्क लोक विहार ए एंड बी ब्लॉक (यूरिनल ब्लॉक) कोहाट वार्ड अथवा फुटपाथ मरम्मत का कार्य प्रगति पर।
    38. सुरक्षा एन्क्लेव, पीतमपुरा और आनन्द विहार, पीतमपुरा में शॉपिंग केन्द्रों के निर्माण के कार्य को गति तथा प्रधान आयुक्त, (एलएम) को आनन्द विहार एलएससी साइट से अतिक्रमण को हटाने का निर्देश दिया।
    39. कार पार्किंग और समारोह स्थल की समस्या के निवारण हेतु बीजी-6, पश्चिम विहार में भूमिगत कार पार्किंग सहित सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य संपन्न कराया।
    40. नेताजी सुभाष प्लेस में मल्टी-लेवल पार्किंग का निर्माण।
    41. पार्किग की समस्या के निवारण की दिशा में मैंने डीडीए को निर्देशित किया था तथा इस दिशा में प्रधान आयुक्त (एलडी) द्वारा फ्री होल्ड आधार पर निविदा के माध्यम से दो पार्किंग भूखण्डों का आबंटन किया गया।
    42. झंडेवालान मंदिर के मुख्य द्वार के सामने पांच गैस गोदाम को दूसरी जगह स्थानांतरित करने की योजना वर्षों से लंबित पड़ी थी। इस कार्य को मैंने गति प्रदान करवायी। दिल्ली विकास प्राधिकरण द्वारा उक्त पांच गैस गोदामों को उनके पास उपलब्ध जगह के क्षेत्रफल के अनुसार नई जगह उपलब्ध कराने का प्रावधान करवाया ताकि उक्त गैस गोदामों को स्थानांतरित करने का कार्य शीघ्र पूरा हो सके ।
    43. स्थानीय लोगों ने ए-6 ब्लॉक, पश्चिम विहार में मदर डेयरी बूथ खोलने का अनुरोध किया है। इसके लिए भूमि की उपलब्धता की स्थिति का सर्वेक्षण करने के लिए मैंने निर्देश दिया ताकि शीघ्र इस कार्य को अंतिम रूप दिया जा सके।
    44. एयू ब्लॉक, पीतमपुरा में सामुदायिक भवन के निर्माण संबंधी मामले के शीघ्र निपटान हेतु चीफ आर्किटेक्ट को निर्देश दिए गए ।
    45. चिल्ड्रेन पार्क सहित हरित क्षेत्र में एचयू ब्लॉक, पीतम पुरा में डीडीए मुक्त भूमि के लिए ले आउट प्लान में परिवर्तन करने के संबंध में आयुक्त (योजना)/चीफ आर्किटेक्ट को निर्देश दिए गए ।
    46. क्षेत्रवासियों को कार्यक्रम आयोजित करने हेतु मैंने एडी ब्लॉक, शालीमार बाग में सामुदायिक भवन का निर्माण करवाने के संबंध में चीफ आर्किटेक्ट और चीफ इंजीनियर (नॉर्थ जोन) को संयुक्त निरीक्षण करने का निर्देश दिया।
    47. रामस्वरूप ठाकुरदास वाला डिस्ट्रिक्ट पार्क और मोटे वाला डिस्ट्रिक्ट पार्क, शालीमार बाग से संबंधित विभिन्न मुद्दों का समाधान मैंने करवाया तथा इन पार्कों में अतिरिक्त शैल्टर्स के निर्माण हेतु सी.ई (नार्थ जोन) को निर्देश दिया।
    48. डिस्ट्रिक्ट पार्क उत्तरी पीतमपुरा एसयू ब्लॉक से प्रारम्भ होकर क्यूयू ब्लॉक आउटर रिंग रोड एवं वाटर टैंक एमयू ब्लॉक के पीछे तक के विकास संबंधी मामले का समाधान करवाया।
    49. सी एवं डी ब्लॉक, शालीमार बाग में सामुदायिक भवन के निर्माण कार्य को अतिशीघ्र संपन्न करने के निर्देश सीई (नॉर्थ जोन) को दिए गए ।
    50. डी यू ब्लॉक, पीतमपुरा में स्थित डीडीए भूमि को पार्किंग प्लॉट में बदलने हेतु कार्य को अतिशीघ्र करने का निर्देश सीई (नॉर्थ जोन) को दिया गया।
    51. पीतमपुरा के वॉर्ड नं. 53 में सामुदायिक भवन के निर्माण हेतु भूमि आबंटन के संबंध में पीसी (एलडी) और आयुक्त (योजना) को संयुक्त रूप से जांच करने और ले-आउट प्लान में परिवर्तन संबंधी प्रस्ताव प्रस्तुत करने का निर्देश मैंने दिया ताकि सामुदायिक भवन का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू हो सके।
    52. शालीमार बाग में खाली पड़े प्लॉट में वरिष्ठ नागरिकों, महिलाओं, युवाओं और छोटे बच्चों के लिए मनोरंजन केन्द्र के निर्माण हेतु अतिशीघ्र संभावना तलाशने के लिए चीफ आर्किटेक्ट को निर्देश दिया गया।
    53. रघुनाथ मंदिर, बीएच ब्लॉक, पूर्वी शालीमार बाग वार्ड सं. 55 के पीछे के डीडीए पार्क का पुनर्विकास करने हेतु सीई (नॉर्थ जोन) को निर्देश दिए गए ।
    54. बी एच ब्लॉक, पूर्वी शालीमार बाग, वार्ड सं. 55 में मकान सं.318 के निकट खाली जमीन पर फुटपाथ का निर्माण और स्विंग तथा हाई मास्ट लाइट लगाने संबंधी कार्य को अतिशीघ्र पूरा करने के निर्देश सीई (नॉर्थ जोन) को दिए गए।
    55. क्षेत्रवासियों की जरूरतों को देखते हुए एसडी स्कूल एवं अभिनव स्कूल, पीतमपुरा के बीच में एयू ब्लॉक की जमीन पर सामुदायिक भवन का प्रावधान करने हेतु आयुक्त (योजना) को निर्देश दिए गए ।
    56. गुरू गोविंद सिंह कॉलेज और भीतरी रिंग रोड को जोड़ने वाली सड़क पर अवैध अतिक्रमण को हटाने के संबंध में तथा इस सड़क को चालू करने के लिए सीई (नॉर्थ जोन) को निर्देश दिए गए ।
    57. कालोनीवासियों की माँग पर पश्चिम विहार में राधा कृष्ण मंदिर के पास ए-2 ब्लॉक में भूमिगत पार्किंग वाले शैक्षणिक केंद्र व ऑडीटोरियम के संबंध में अनुमोदित योजनाओं पर अतिशीघ्र कार्य करने के लिए आयुक्त (पीएलजी), चीफ आर्किटेक्ट को निर्देश दिए गए ।
    58. पश्चिम विहार में सामुदायिक भवन के निर्माण और वृद्धाश्रम हेतु भूमि के आबंटन के संबंध में आयुक्त (पीएलजी) के प्रतिनिधि के साथ डिवाइन हैप्पी स्कूल व ए2बी ब्लॉक, एकता अपार्टमेंट्स के पास भूमि की जांच करने के निर्देश दिए गए। भूमि की उपलब्धता के उपरांत निर्माण शीघ्रातिशीघ्र कराने का प्रयास किया जाएगा।
    59. सहदेव पार्क, मुल्तान नगर, पश्चिम विहार में योग केंद्र हेतु अतिरिक्त शेल्टरों के निर्माणार्थ सीई (द्वारका) को निर्देशित किया गया।
    60. ए2बी, एमआईजी फ्लैट्स, एकता अपार्टमेंट्स, पश्चिम विहार में मौजूदा चारदीवारी को आयरन ग्रिल की कांटेदार तार युक्त 7 फुट तक ऊंचा करने के संबंध में सीई (द्वारका) को जांच करके मामले को विस्तृत तथ्यों के साथ वीसी, डीडीए को प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए।
    61. युवाओं की माँग पर उनके क्रिकेट खेलने हेतु लाला वाला बाग, पीतमपुरा में क्रिकेट पिच एवं मैदान को विकसित किया गया ।
    62. स्टेट बैंक नगर, पश्चिम विहार में निम्नलिखित विकास कार्य
    63. गेट नं. 1 से डीडीए सेंट्रल पार्क तक बाउंड्री वॉल का निर्माण।
    64. ऊँचे खम्भे वाली लाइट (एलईडी) की स्थापना, बच्चों के खेलने के उपकरण, डीडीए सेंट्रल पार्क में आउट डोर जिम।
    65. कॉलोनी के दोनों दरवाजों पर ऊॅंचे खम्भे वाली लाइटें (एलईडी) लगायी गयीं। कॉलोनी में अंधेरे वाले स्थानों पर स्ट्रीट लाइटें लगायी गयीं।
    66. कॉलोनी की सड़कों की मरम्मत।
    67. दुर्गन्ध से मुक्ति हेतु कॉलोनी के नालों को अच्छी तरह ढकवाया गया।
    68. व्हाइट हाउस वाली कॉलोनी से जुड़ी मुख्यसड़क की सर्विस लेन पर हुए अतिक्रमण को हटाया गया।
    69. जीएच-3 हाउसिंग पॉकेट और मीरा बाग झुग्गी के समीप बैक लेन के साथ-साथ डेयरी फार्म के आस-पास से अतिक्रमण हटाया गया।
    70. आजादपुर के पास नई सब्जी मंडी में स्थित परिवहन केंद्र में डीडीए की पुरानी बिल्डिंग को ध्वस्त करने और परिवहन केंद्र का पुनर्विकास के संबंध में सीई (नार्थ जोन) में निर्देश दिया गया।
    71. आदर्श नगर डीडीए पार्क में सामुदायिक केंद्र के निर्माण के संबंध में सीई (नार्थ जोन) तथा कमिश्नर (पीएलजी) को इस क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ संयुक्त निरीक्षण करने और सामुदायिक भवन के निर्माण की संभावना को देखने तथा सक्षम अधिकारी को रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया।
    72. योगराज कॉलोनी, धीरपुर में सामुदायिक भवन के निर्माण के संबंध में कमिश्नर (पीएलजी) तथा चीफ आर्क को संबंधित भूमि की स्थिति निर्धारित करने के लिए क्षेत्र के प्रतिनिधियों के साथ इस क्षेत्र का संयुक्त निरीक्षण करने और सक्षम प्राधिकारी को रिपोर्ट प्रस्तु्त करें ।
    73. छात्रों एवं वरिष्ठ नागरिकों के लिए लेन सुविधा उपलब्ध कराने के लिए डीडीए मार्केट (प्रगति मार्केट), अशोक विहार फेज-2 के उत्तरी छोर पर निर्मित दीवार को हटाने के संबंध में सीई (नार्थ जोन) तथा चीफ (आर्क) को स्थल का संयुक्त निरीक्षण कर 6 मीटर भूमि हेतु दीवार को हटाने के निर्देश दिए गए ।
    74. अशोक पार्क में 72 एकड़ भूमि खाली पड़ी है । इसमें स्विमिंग पूल, बैडमिंटन कोर्ट, टेबल टेनिस कोर्ट, बालीबॉल कोर्ट, झूले, एक्सरसाइज हट, ओपन जिम, पुस्तकालय, स्केटिंग, फुटबाल, हॉकी, गोल्फ, रेन शेल्टर्स, सभागार, वरिष्ठ नागरिकों हेतु मनोरंजन केंद्र को तैयार करने की योजना के संबंध में सीई (नार्थ जोन) तथा डीआईआर (एलएस) को मॉडल पार्क के रूप में अतिशीघ्र विकसित करने का निर्देश दिया गया।
    75. केशव पुरम के महर्षि दयानंद पार्क को मॉडल पार्क के रूप में विकसित करने के लिए निदेशक (उद्यान कृषि) को निर्देश दिया गया ।
    76. ग्रिल की मरम्मत और ग्रीन बेल्ट पार्क, अशोक विहार के सौंदर्यीकरण के कार्य को पूर्ण करने के लिए सीई (नॉर्थ जोन) और निदेशक (कृषि उद्यान) नॉर्थ विंग को निर्देश दिए गए ।
    77. बंदर वाला डीडीए पार्क, गुलाबी बाग में टिन शेड का कंस्ट्रक्शन के संबंध में निदेशक (एलएस) को निरीक्षण करने और इस पार्क में टिन शेड के निर्माण कराने के लिए निर्देश दिया गया।
    78. इन्द्रप्रस्थ गैस स्टेशन, मॉडल टाउन के समीप महेंद्रू एंक्लेव में पार्किंग सहित सामुदायिक भवन के निर्माण के संबंध में सीई (नॉर्थ जोन) को संभावनाओं का पता लगाने हेतु निरीक्षण करने का निर्देश दिया गया ।
    79. कल्याण विहार से गुड़ मंडी के बीच गुरुद्वारे के पास बाउंड्री वॉल को ऊंचा करने के संबंध में सीई (नॉर्थ जोन) को निर्देश दिया गया।
    80. क्षेत्रवासियों के स्वास्थ्य हित में उनकी जरूरतों को देखते हुए डीडीए पार्कों में अतिरिक्त ओपन जिम का प्रावधान करने के लिए सीई (नॉर्थ जोन) को निर्देश दिया गया।
    81. चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र के डीडीए पार्कों में अतिरिक्त टॉयलेट ब्लॉक के प्रावधान एवं बन चुके टॉयलेट्स को जनता के लिए खोले जाने के संबंध में सीई (नॉर्थ जोन) को सूची तुरन्त तैयार करने का निर्देश दिए गया है।
    82. प्रॉपर्टीज को फ्री होल्ड प्रॉपर्टी में परिवर्तित करने की प्रक्रिया के सरलीकरण के संबंध में पीसी (एलडी) को शीघ्र उचित कार्यवाही करने का निर्देश दिया गया।

    शहरीकृत गाँवों में विकास कार्य

    भारत के दूरदर्शी प्रधानमंत्री की एक महत्वाकाँक्षी योजना जो ग्रामीण विकास के लिए है। उसके अंतर्गत मेरे संसदीय क्षेत्र में मेरे द्वारा पहल की गई है। मेरे संसदीय क्षेत्र में 17 शहरीकृत गांव हैं, जिनमें मूलभूत सुविधाओं की सूची बनाकर उनमें कार्य करना प्रारंभ कर दिया है। इसमें सबसे बड़ा उदाहरण धीरपुर गांव का है। धीरपुर गांव के समुचित विकास पर मैंने ध्यान दिया है। अनेक कार्य संपन्न हो गये हैं तथा कुछ चल रहे हैं। अन्य गांवों में भी चैपालों के निर्माण, गली व नाली निर्माण जैसी मूलभूत सुविधाएँ उपलब्ध करायी जा रही हैं।

    शाहजहांनाबाद पुनर्विकास परियोजना

    पुरानी दिल्ली के पुनर्विकास की योजना के लिए शाहजहाँनाबाद पुनर्विकास योजना प्रारंभ की गई थी। इस क्षेत्र का सांसद बनने के उपरांत मैंने फतेहपुरी मस्जिद से लेकर लालकिले तक एक तरफ बिजली के तार की डक्टिंग के कार्य को संपन्न करा दिया था, परन्तु दिल्ली प्रदेश में एक दूसरी पार्टी की चुनी हुई सरकार आ गई, जिसका इस कार्य में कोई सहयोग न मिलने के कारण, इस प्रोजेक्ट के आगे का कार्य लंबित पड़ा है। पुनः मैंने उपराज्यपाल से आग्रह किया है। लालकिले से लेकर फतेहपुरी तक मेरी योजना ट्राम चलाने की थी ताकि ट्रैफिक कम किया जा सके और यहां आवागमन करने वाले लोगों सुविधा मिल सके।

    जहाँ झुग्गी, वहीं पक्का मकान

    हमारे क्षेत्र के झुग्गी बस्ती में रहने वाले लोगों का जीवन स्तर बेहतर हो तथा साफ-सुथरे घर में रहने का अवसर मिले, इस दिशा में मैंने प्रयास किया है। अतः ‘जहाँ झुग्गी, वहीं पक्का मकान’ योजना के अंतर्गत जेलरवाला बाग, अशोक विहार में 1675 मल्टीस्टोरी मकान बनने प्रारंभ हो गए हैं। इन मकानों में साथ के क्षेत्र में बसी सेवाबस्ती के लोगों को स्थानान्तरित किया जाएगा। इन मल्टीस्टोरी मकानों में इन्हें पक्का मकान मिलेगा, जिसका क्षेत्रफल 39.40 मीटर होगा। इस प्रांगण में आगनबाड़ी, हेल्थसेंटर, शिशुवाटिका, कम्युनिटी हॉल, फेयरप्राइस शॉप और धार्मिक भवनों का प्रावधान किया गया है।

    पुलिस कॉलोनियों में विकास कार्य

    मेरे संसदीय क्षेत्र में स्थित अनेकों पुलिस कॉलोनियाँ हैं, जिनमें मरम्मत और अन्य सुविधाओं का घोर अभाव है। इन कालोनियों का निरीक्षण करने पर मैंने पाया कि इनके तरफ कोई ध्यान नहीं दिया गया है। सांसद बनने के उपरांत पुलिस अधिकारियों के साथ और वहां की रेजिडेन्ट वेलफेयर एसोसिएशन के पदाधिकारियों के साथ मैंने अनेक बैठकें कीं और इन कॉलोनियों की मरम्मत/रख-रखाव हेतु धनराशि आबंटित करवाने के लिए मैंने विशेष प्रयास किया। परिणामस्वरूप कुछ धनराशि उपलब्ध भी हुई है।

    रानी झांसी फ्लाईओवर

    सदर बाजार वॉल्ड सीटी का पूरा इलाका घनी आबादी वाला है। इसमें फिल्मिस्तान से लेकर तीस हजारी तक एक फ्लाईओवर के निर्माण की योजना वर्षों पूर्व बनी थी। इस फ्लाइओवर को आजाद मार्केट का ग्रेट सेप्रेटिव भी कहा जाता है। मेरे सांसद बनने से कई वर्ष पूर्व इसका कार्य प्रारम्भ हो गया था परन्तु पुरानी बसावट व सघन आबादी होने के नाते यहाँ बिजली, पानी की लाईने, धार्मिक स्थानों को स्थानांतरिक करना, रेलवे कॉलोनी के मकानों को हटाना, अन्य भवनों को वहाँ से शिफ्ट करना, दुकानों को शिफ्ट करना, रेलवे लाईनों के ऊपर से लाईन डालना आदि अनेकों कार्यों को संपन्न करना अत्यंत कठिन एवं समय लेने वाला था। निरीक्षण करने पर मैंने पाया कि इस फ्लाइओवर का कार्य बिल्कुल ठप्प था।

    सांसद बनने के बाद इस कार्य को शीघ्र पूरा करवाने के लिए मैंने अधिकारियों के साथ अनेकों बैठकें की। विभिन्न मंत्रालयों के साथ समन्वय बैठाकर इस कार्य को पुनः प्रारंभ कराया। उतरी नगर निगम के आर्थिक स्थिति ठीक न होने के कारण इस कार्य ने फिर दम तोड़ना प्रारंभ कर दिया। मैंने केंद्र सरकार के शहरी विकास मंत्रालय के साथ बैठक कर इस प्रोजेक्ट के लिए धनराशि आबंटन करने का अनुरोध किया। मेरे अनुरोध पर शहरी विकास मंत्रालय ने 85 करोड़ रुपये इसके लिए स्वीकृत किया और इसमें 7.98 करोड़ पहली किस्त नवम्बर माह के तीसरे सप्ताह में जारी कर दी। यह फ्लाईओवर सेन्ट्रल दिल्ली से नार्थ दिल्ली और पश्चिमी दिल्ली को जोड़ता है। जहाँ से लगभग तीन से चार लाख वाहन प्रतिदिन गुजरते हैं। इस फ्लाईओवर के पूर्ण हो जाने पर लोगों को बहुत बड़ा लाभ मिलेगा। आगामी छह से आठ महीने में यह कार्य पूरा हो जाएगा।

    पीरागढ़ी में पावरग्रिड की स्थापना

    चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र में जहाँ एक ओर चाँदनी चौक जैसा पुराना शहर है, वहीं दूसरी ओर पश्चिम विहार और पीतमपुरा जैसी अनेक कॉलिनियाँ हैं जिसे डीडीए ने विकसित की थी। इन कालोनियों में बिजली की व्यवस्था में सुधार की आवश्यकता थी। बिजली की आपूर्ति सुचारू नहीं रहती थी, अतः लोग काफी परेशान थे। भिन्न-भिन्न कालोनियों के निवासियों ने व्यक्तिगत तौर पर मुझसे मिलकर अपनी इस परेशानी से अवगत कराया। अतः इस इस दिशा में मैंने अथक प्रयास किया तथा पीरागढ़ी में 220 केवी पावर ग्रिड का निर्माण करवाकर जनता को समर्पित किया।

    प्रधानमंत्री राहत कोष

    दिल्ली जैसे शहर मे एक तरफ संपन्न लोगों की संख्या अधिक है तो दूसरी तरफ झुग्गी बस्तियों और अविकसित अनधिकृत कॉलोनियों की भी बहुत बड़ी संख्या है, जहाँ आर्थिक रूप से कमजोर/दैनिक मजदूरी पर जीवन-यापन करने वाले लोगों की बड़ी आबादी रहती है। किसी गंभीर बीमारी के होने पर समुचित इलाज करा पाना ऐसे लोगों के लिए कठिन हो जाता है। ऐसे जरूरमंद लोगों की चिकित्सा हेतु प्रधानमंत्री राहत कोश से 157 परिवारों को आर्थिक मदद दिलवायी है। प्रधानमंत्री राहत कोष से अब तक 3,28,43,008 करोड़ रुपये उपलब्ध करायी जा चुकी है।

    जीएसटी की दरों में राहत दिलाने का कार्य

    जीएसटी लागू होने के उपरांत अनेक व्यापारियों ने केन्द्र सरकार द्वारा लगायी गयी दरों को लेकर अपनी परेशानियों से मुझे अवगत कराया। मैंने अपने क्षेत्र के विविध व्यापारियों व व्यापारिक संगठनों के साथ कई बैठकें कीं। उनकी समस्या का समाधान कैसे संभव हो सकता है, इसके लिए मैंने उनके विचार/सुझाव मांगे। मैंने उन सुझावों को प्रधानमंत्री व वित्त मंत्री तक पहुंचाया और व्यापारियों की परेशानियों से उन्हें अवगत कराया। मैं प्रधानमंत्री और वित्तमंत्री का आभारी हूँ कि उन्होंने व्यापारियों की परेशानियों को व्यवहारिक तौर पर समझते हुए तत्काल प्रभाव से उस पर कार्यवाही की। मेरे द्वारा दिये गयेे सुझावों में 90 प्रतिशत से अधिक सुझावों को स्वीकार किया और जीएसटी की दरों को कम किया। इस कदम से व्यापारी वर्ग संतुष्ट है।

    ‘सहयोग’ के माध्यम से समस्याओं का निराकरण

    ‘सहयोग’ के रूप भारतीय जनता पार्टी ने एक व्यवस्था शुरू की है कि प्रतिमाह केन्द्र सरकार के मंत्री भाजपा मुख्यालय, 11, अशोक रोड, नई दिल्ली में बैठते हैं तथा उनसे जुड़े मंत्रालय से संबंधित समस्या/विषय को लेकर देशभर के भाजपा कार्यकर्ता एवं आम जनता आते हैं। इसमें कोई भी व्यक्ति आ सकता है। क्षेत्रीय सांसद होने नाते एक तरफ जहाँ मैं अपने संसदीय क्षेत्र के सर्वांगीण विकास के लिए तत्पर हूँ, वहीँ दूसरी तरफ केन्द्रीय मंत्री के रूप में दिल्ली व देश के भिन्न-भिन्न क्षेत्रों से आने वाले लोगों के केंद्र सरकार से जुड़े हुए कार्यों व समस्याओं के समाधान के लिए मैं निरंतर प्रयास कर रहा हूँ। सहयोग के माध्यम से मेरा प्रयास रहा है कि हर महीने इस सहयोग कार्यक्रम में शामिल होकर देश के विभिन्न क्षेत्रों से आए लोगों की समस्या का निवारण कर सकूँ। जनता से सीधा संवाद

    जनता जब अपने प्रतिनिधि को चुनती है तो उसकी अपेक्षा होती है कि जनप्रतिनिधि से उसका सीधा संवाद व संपर्क होता रहे। मैं 1993 में पहली बार दिल्ली विधान सभा में विजयी होकर गया तब से लेकर संसद सदस्य बनने तक की अवधि में मैं प्रतिदिन सुबह (सोमवार से लेकर शनिवार तक) जनता के लिए उपलब्ध रहता हूँ। मैं सीधे जनता से संवाद करता हूँ, उनकी बातें, सुझाव व समस्याएं सुनता हूँ। यह जनता दरबार 1993 से निर्बाध रूप से चल रहा है। यदि मैं सुबह किसी आवश्यक बैठक में चला गया अथवा दिल्ली से बाहर हूँ तो इस परिस्थिति में मैं उपलब्ध नहीं रहता हूँ लेकिन मेरी अनुपस्थिति में भी लोगों की यथोचित सहायता के लिए मेरा कार्यालय खुला रहता है। सुबह के समय कोई भी व्यक्ति मुझसे बिना पूर्व समय लिए बिना किसी कठिनाई के मिल सकता है। मेरे प्रतिनिधि सप्ताह में दो दिन चांदनी चौक संसदीय क्षेत्र के दोनों जिले केशवपुरम और चाँदनी चौक के कार्यालय में बैठकर जनता से सीधा संवाद करते हैं और समस्या के निवारण हेतु हर संभव प्रयास किया जाता है। मेरी अनुपस्थिति में लिखित रूप में जो भी शिकायत मेरे कार्यालय में पहुंचती है, उसको मैं अपने संज्ञान में लेता हूँ।

    सर्वांगीण विकास के अन्य कार्य

    मेरे संसदीय क्षेत्र के अंतर्गत अनेकों छोटी-बड़ी परियोजनाएं निरंतर चल रही है। क्षेत्र का सर्वांगीण विकास कैसे हो, इस दिषा में अनेक योजनाओं पर मैंने कार्य करना प्रारंभ किया है। वॉल्ड सिटी से लेकर औद्योगिक क्षेत्र, रिहायशी क्षेत्र एवं झुग्गी बस्तियों आदि तक सब के लिए कार्य/योजना प्रारम्भ है। कार्यों का विवरण निम्नलिखित है-

    1. चॉंदनी चौक के सभी डिस्ट्रिक्ट पार्कों का दौरा कर उसके समुचित विकास/सौन्दर्यीकरण का निर्देश दिया गया।
    2. वजीरपुर औद्योगिक क्षेत्र में 38.43 करोड़ रूपये की लागत से बुनियादी सुविधाओं का कार्य संपन्न।
    3. शास्त्री नगर में 405.60 लाख की लागत से सड़क, नाले तथा फुट-पाथ का कार्य प्रगति पर।
    4. मॉडल टाऊन में पार्किंग सुविधा जनता को समर्पित की गई।
    5. बंजारा चैपाल, हैदरपुर का पुनरोद्धार कार्य रूपये 118 लाख की अनुमानित लागत से प्रारंभ किया गया।
    6. अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर आदर्श शिक्षा संस्थान सांस्कृतिक समिति एवं श्री मांगे राम मार्ग, चैरिटेबल सोसाइटी द्वारा आयोजित योग शिक्षक सम्मान कार्यक्रम में ‘योग शिक्षक’ सम्मानित।
    7. ईदगाह क्षेत्र में पार्किंग की अत्यधिक समस्या थी। अतः क्षेत्रवासियों की सुविधा को देखते हुए ईदगाह में मल्टी लेवल पार्किंग हेतु परियोजना को स्वीकृति प्रदान कराई गई है।
    8. शारीरिक शिक्षा केंद्र, सत्यवती नगर जनता को समर्पित।
    9. प्रेमबाड़ी पुल से आजादपुर तक एलीवेटेड रोड जनता को समर्पित।
    10. आयुक्त, दिल्ली नगर निगम, उपायुक्त, दिल्ली पुलिस, दिल्ली जल बोर्ड एवं बी.एस.ई.एस. के उच्च अधिकारियों के साथ जामा मस्जिद एवं उसके आस-पास के क्षेत्रों का दौरा किया।
    11. शक्ति नगर पर मोबाईल डिस्पेंसरी का उद्घाटन किया।
    12. उत्तरी दिल्ली नगर निगम के उच्च अधिकारियों के साथ आजाद मार्केट फ्लाईओवर, आर.यू.बी किशनगंज, रेलवे की भूमि स्थानांतरण एवं सदर (ईदगाह) की पार्किंग के संबंध में अपने मंत्रालय में बैठक की गयी।
    13. बी-3 ब्लॉक बैक लाईन, पश्चिम विहार में लगभग रूपये 55.00 लाख की लागत से सड़कों का निर्माण कार्य करवाया।
    14. नेताजी सुभाष चन्द्र बोस सामुदायिक भवन, सिंगलपुर शालीमार में लिफ्ट का उद्घाटन किया गया।
    15. सी.सी कॉलोनी में रामलीला पार्क के पुनर्निर्माण का कार्य संपन्न।
    16. ए.पी ब्लॉक, पीतमपुरा में स्वास्थ्य देखभाल केंद्र का उद्घाटन किया गया।
    17. रामपुरा में नवनिर्मित अधोगामी पुल (RUB) का उद्घाटन किया गया।

    भाजपा के कार्यक्रम

    संकल्प कार्यक्रम

    भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द मोदी द्वारा प्रारम्भ की गयी जनहित की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं। हमने संकल्प से सिद्धि कार्यक्रम का आयोजन अपने क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर किया है, जिसका उल्लेख इस प्रकार है:

    1. जिला केशवपुरम के अंतर्गत हेरीटेज बैंकेट हॉल, लॉरेंस रोड में केंद्र सरकार की 3 वर्षों की उपलब्धियों की जानकारी जनता तक पहुंचाने हेतु तीन साल बेमिसाल का आयोजन किया गया।
    2. जिला चांदनी चौक के अंतर्गत ग्रीन लॉंज बैंकेट हॉल, शक्ति नगर में केंद्र सरकार की 3 वर्षों की उपलब्धियों की जानकारी जनता तक पहुंचाने हेतु तीन साल बेमिसाल का आयोजन किया गया।
    3. जिला केशवपुरम के अतंर्गत बी-2, बैंकेट हॉल, ब्रिटानिया चौक में संकल्प कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
    4. जिला चांदनी चौक के अतंर्गत हंसराज कॉलेज में संकल्प कार्यक्रम का आयोजन किया गया।
    5. चांदनी चौक जिले की कार्यकारिणी बैठक का आयोजन किया गया।
    6. केशवपुरम जिले की कार्यकारिणी बैठक का आयोजन किया गया।

    तिरंगा यात्रा

    भारत के गौरवशाली अतीत से प्रेरणा लेने और समृद्ध व अखण्ड भारत के लिए जन-जन में राष्ट्रभावना जागृत करने की दिशा में तिरंगा यात्रा को देशव्यापी आंदोलन के रूप में शुरू किया गया है। यह आंदोलन एक भारत, श्रेष्ठ भारत के संकल्प से अभिभूत है। देश के युवाओं को एकजुट होकर एक ऐसे भारत का निर्माण करना है, जिसका स्वप्न हमारे स्वतंत्रता सेनानियों ने देश की आजादी के समय पर देखा था। वर्ष 2022 तक इस राष्ट्र को ‘नया भारत’ बनाने का सपना हमारे प्रधानमंत्री ने देखा है। इसे पूरा करने के अभियान में जन-जन को अपना योगदान देना है। इस दिशा में तिरंगा यात्रा प्रेरणा की स्त्रोत है। स्वतंत्रता दिवस के 70वीं वर्षगाँठ पर तिरंगा यात्रा का आयोजन हमने अपने संसदीय क्षेत्र में विभिन्न स्थानों पर किया।

    चाँदनी चौक संसदीय क्षेत्र के मॉडल टॉउन विधानसभा, सदर बाजार विधानसभा, त्रिनगर विधानसभा, शकूरबस्ती विधानसभा, शालीमारबाग विधानसभा, बल्लीमारान विधानसभा, मटिया महल विधानसभा, चाँदनी चौक विधानसभा, केशवपुरम जिला एवं चाँदनी चौक जिला में तिरंगा यात्रा का आयोजन किया गया। सरदार बल्लभभाई पटेल के जन्मदिन के अवसर पर केशवपुरम जिला और चाँदनी चौक जिला में तिरंगा यात्रा का आयोजन किया गया।